Monday, August 15, 2022
Homeदेश-समाजबरेली में BJP नेता पर तलवार से हमला, सावन में मीट शॉप बंद करवाने...

बरेली में BJP नेता पर तलवार से हमला, सावन में मीट शॉप बंद करवाने की प्रशासनिक कार्रवाई से भड़के लोगों ने दिया अंजाम

भाजपा नेता पर हमले का CCTV फुटेज सामने आया है। इसमें आप देख सकते हैं कि सड़क किनारे कुछ लोगों से बात कर रहे भाटिया पर अचानक ही करीब आधे दर्जन लोगों की भीड़ हमला कर देती है। कुछ के हाथों में हथियार भी दिखाई दे रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के बरेली में मीट शॉप बंद करवाने की कार्रवाई से नाराज कुछ लोगों ने भाजपा नेता अंकित भाटिया पर हमला कर दिया। जख्मी नेता का इलाज चल रहा है। घटना के विरोध में हिन्दू संगठनों द्वारा मस्ज्दि के आगे धरने की भी सूचना है। पुलिस ने FIR दर्ज करते हुए 4 आरोपितों को हिरासत में लिया है। घटना 14 जुलाई 2022 (गुरुवार) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना प्रेम नगर थाना क्षेत्र के रामजानकी रोड की है। यहाँ पर प्रशासन के आदेश पर सावन के पहले दिन नगर निगम की टीम माँस की दुकानें बंद करवाने पहुँची थी। इस दौरान वहाँ मौजूद भाजपा नेता अंकित भाटिया पर प्रशासन की मुखबिरी का आरोप लगा कर उन पर तलवारों से हमला कर दिया गया। भाजपा नेता को अस्पताल ले जाया गया और मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया।

भाजपा नेता पर हमले का CCTV फुटेज सामने आया है। इसमें आप देख सकते हैं कि सड़क किनारे कुछ लोगों से बात कर रहे भाटिया पर अचानक ही करीब आधे दर्जन लोगों की भीड़ हमला कर देती है। कुछ के हाथों में हथियार भी दिखाई दे रहे हैं। उनसे बचने के लिए भाजपा नेता अंकित भाटिया भागते हैं तो उनका पीछा किया जाता है। इससे बाजार में अफरातफरी मच जाती है।

इस घटना के वायरल हो रहे एक अन्य वीडियो में अंकित भाटिया के कपड़े फ़टे दिखाई दे रहे हैं। कपड़ों पर खून के धब्बे भी हैं। आसपास हिन्दू संगठन के लोग और पुलिसकर्मी भी खड़े हैं। सामने की तरफ HDFC बैंक है। इस स्थान पर अल-हंब और अल-नवाब नाम की चिकन की दुकानें हैं।

एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक घटना की शुरुआत शाम 4 बजेहुई। बिरयानी बेचने वाले अल नवाज होटल द्वारा पक्के नाले पर अवैध अतिक्रमण किया गया था। उसी को हटाने के दौरान ये नोकझोंक हुई। हालाँकि नगर निगम की टीम ने इस अतिक्रमण को हटा दिया। इसी से नाराज हो कर नवाज और उसके साथियों ने अंकित भाटिया के साथ हिन्दू युवा वाहिनी के पदाधिकारी नरेंद्र राणा और कमल राणा पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। इस घटना के चलते दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए और बाद में पथराव भी हुआ।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

विकसित भारत के लिए पंच प्रण: लाल किले की प्राचीर से PM मोदी ने दिया मंत्र, बोले – हम वो, जो कंकड़-कंकड़ में देखते...

पीएम मोदी ने बताया कि साल 2014 में वह ऐसे पहले प्रधानमंत्री बने थे जिन्होंने आजाद भारत में जन्म लेकर लाल किले की प्राचीर से झंडे को फहराया।

स्वतंत्रता के हुए 75 साल, फिर भी बाँटी जा रही मुफ्त की रेवड़ी: स्वावलंबन और स्वदेशी से ही आएगी आर्थिक आत्मनिर्भरता

जब हम यह मानते हैं कि सत्य की ही जय होती है तब ईमानदार सत्यवादी देशभक्त नेताओं और उनके समर्थकों को ईडी आदि से भयभीत नहीं होना चाहिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,900FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe