Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजबिहार के भागलपुर में बवाल: लॉकडाउन में मस्जिद पहुँचे नमाजी, पुलिस ने समझाया तो...

बिहार के भागलपुर में बवाल: लॉकडाउन में मस्जिद पहुँचे नमाजी, पुलिस ने समझाया तो बरसाए पत्थर

घटना भागलपुर के तातारपुर थाना इलाके के इर्तिजा हुसैन लेन बाग मस्जिद की है। पथराव के बाद मौके पर भगदड़ मच गई। पुलिस वाहन क्षतिग्रस्त होने की भी सूचना है।

कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए बिहार में लॉकडाउन है। इसके बावजूद भागलपुर की एक मस्जिद में जुमे पर बड़ी संख्या में लोग नमाज पढ़ने के लिए जुट गए। पुलिस ने समझाने की कोशिश की तो पथराव किया गया।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार घटना भागलपुर के तातारपुर थाना इलाके के इर्तिजा हुसैन लेन बाग मस्जिद की है। पथराव के बाद मौके पर भगदड़ मच गई। पुलिस वाहन क्षतिग्रस्त होने की भी सूचना है।

दरअसल, कोरोना वायरस के कारण बिहार में लॉकडाउन किया गया है। इसी बीच तातारपुर थाने की पुलिस को सूचना मिली कि इर्तिजा हुसैन लेन बाग मस्जिद में लॉकडाउन के बावजूद बड़ी भीड़ जुमे की सामूहिक नमाज पढ़ने के लिए एकत्रित हुई है।

जब पुलिस दल मौके पर पहुँचा तो उन्होंने सूचना को सही पाया और नमाज पढ़ने की तैयारी कर रहे लोगों को शांतिपूर्वक तरीके से लॉकडाउन के दिशा-निर्देशों का पालन करने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का ध्यान रखने की सलाह दी। लेकिन पुलिस की सलाह वहाँ मौजूद भीड़ को पसंद नहीं आई। देखते ही देखते वहाँ उपद्रवियों ने विरोध में पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी।

इस घटना कि जानकारी मिलते ही सिटी एसपी सुशांत कुमार सरोज, सिटी डीएसपी राजवंश सिंह सहित थाने के पुलिस अधिकारीयों ने घटनास्थल पर पहुँचकर उपद्रव का जायजा लेते हुए ऐसी घटनाओं को बर्दाश्त ना करने की बात कही और आरोपितों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कानून के साथ खिलवाड़ करने वाले लोगों की पहचान कर उन पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि कल ही बिहार राज्य शिया वक्फ बोर्ड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने अपील की थी कि केंद्र सरकार ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए 01 से 31 अगस्त तक ‘अनलॉक-3’ के तहत निर्देश जारी किया है। इसके अंतर्गत किसी भी तरह की धार्मिक आयोजन पर पाबंदी लगाई गई है। बोर्ड ने अपील की थी कि केंद्र सरकार द्वारा जारी निर्देश का अनुपालन राज्य में रहेगा।

जिला शिया वक्फ कमेटी के सचिव जीजाह हुसैन ने भी लोगों से कहा था कि जिस तरह से उन लोगों ने शबे बरात, रमजान और ईद में इबादत और नमाज घर पर अदा की, उसी तरह 01 अगस्त को होने वाली बकरीद पर भी नमाज अपने-अपने घरों में अदा करें।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe