Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजचुनावों से पहले बंगाल में एक के बाद एक कई धमाके, लकड़ी मिल के...

चुनावों से पहले बंगाल में एक के बाद एक कई धमाके, लकड़ी मिल के पीछे छुपाकर रखे गए थे बम: कॉन्ग्रेस ने TMC विधायक रबीउल आलम को बताया जिम्मेदार

रेजीनगर ब्लॉक से कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष मिंटू सिंह ने बम धामके को TMC के स्थानीय विधायक रबीउल आलम चौधरी और उसके सहयोगियों की करतूत बताया है। मिंटू सिंह का आरोप है कि बमों को रबीउल आलम की लकड़ी मिल के पीछे छिपाकर रखा गया था। कॉन्ग्रेस नेता ने इन बम धमाकों की उच्चस्तरीय जाँच कराने और आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है।

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में मंगलवार (16 अप्रैल 2024) को एक के बाद एक कई धमाके हुए। जाँच में पता चला कि ये बम विस्फोट हैं। घटना के बाद इलाके में दहशत फैल गई है। बम एक जगह छिपाकर रखे गए थे, जो गर्मी की वजह से फट गए। कॉन्ग्रेस ने इस विस्फोट के पीछे तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) के विधायक रबीउल आलम को जिम्मेदार बताया है। वहीं, TMC ने इसे कॉन्ग्रेस की करतूत करार दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना मुर्शिदाबाद के रेजीनगर इलाके की है। मंगलवार (16 अप्रैल 2024) की दोपहर में नाजीरपुर पश्चिमी में पड़ने वाले पारा इलाके में अचानक जोरदार धमाका हुआ। पहले तो लोगों ने समझा कि किसी बिजली के ट्रांसफर में ब्लास्ट हुआ है। कुछ देर के अंदर एक के बाद एक करके कई धमाके होने लगे, तब जाकर लोगों को पता चला कि ये बम धमाके हैं।

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँची। पुलिस पाया कि एक लकड़ी के गोदाम के पास कई बम छिपाकर रखे गए थे। विस्फोट कम क्षमता वाले बमों के थे। तेज गर्मी की वजह से ये बम खुद ही फट गए। मौके पर बम निरोधक दस्ता भी पहुँचा है। पुलिस ने इलाके को सील करके तलाशी अभियान चलाया है। कहा जा रहा है कि शायद अब कोई जीवित बम नहीं बचा हो।

इस मामले में केस दर्ज करके जाँच शुरू कर दी गई है। इन धमाकों में अभी तक कोई हताहत नहीं हुआ है। पुलिस ने यह भी बताया कि चुनाव के मद्देनजर पूरे जिले में तलाशी अभियान चलाया गया है। माना जा रहा है कि चुनाव को देखते हुए ये बम छिपाकर रखे गए थे। इन धमाकों के बाद राजनैतिक आरोपों-प्रत्यारोपों का दौर शुरू हो गया है। कॉन्ग्रेस और TMC इसे एक-दूसरे की करतूत बता रहे हैं।

रेजीनगर ब्लॉक से कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष मिंटू सिंह ने बम धामके को TMC के स्थानीय विधायक रबीउल आलम चौधरी और उसके सहयोगियों की करतूत बताया है। मिंटू सिंह का आरोप है कि बमों को रबीउल आलम की लकड़ी मिल के पीछे छिपाकर रखा गया था। कॉन्ग्रेस नेता ने इन बम धमाकों की उच्चस्तरीय जाँच कराने और आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है।

वहीं, तृणमूल कॉन्ग्रेस ने कॉन्ग्रेस के आरोपों से इनकार किया है। TMC नेताओं का आरोप है कि लोकसभा चुनाव से पहले कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता ही बम बना रहे थे। तृणमूल कॉन्ग्रेस के नेता नियामत शेख ने कहा कि कॉन्ग्रेस समर्थित गुंडे इलाके में आतंक फ़ैलाने और कानून व्यवस्था को प्रभावित करने के लिए बारूद जमा कर रहे हैं। मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तार नहीं हुई है।

इसी तरह की एक अन्य घटना में मुर्शिदाबाद के सागरपारा पुलिस स्टेशन के चक्रामप्रसाद इलाके में सॉकेट बम से भरा एक बैग बरामद किया गया है। बम मिलने की सूचना के आधार पर पुलिस ने सोमवार (15 अप्रैल 2024) को इलाके की तलाशी ली और एक खाली मैदान से ताजा सॉकेट बम से भरा बैग बरामद किया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -