Tuesday, September 28, 2021
Homeदेश-समाजजिस सहेली तबस्सुम खातून के साथ खेली, उसी ने करवाया रेप: 10वीं की छात्रा...

जिस सहेली तबस्सुम खातून के साथ खेली, उसी ने करवाया रेप: 10वीं की छात्रा से बलात्कार में मो अरशद और अरशद अली की तलाश

खुद पीड़िता ने बताया - "सहेली तबस्सुम खातून बुलाने के लिए आई थी। पहले तबस्सुम घर में आई और फिर दोनों लड़कों को लेकर आ गई। वो उठा कर बाँसबाड़ी ले गए, जहाँ पर दुष्कर्म किया।"

बिहार में महिलाओं के साथ अपराध थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। आए दिन कोई ना कोई महिला छेड़खानी और रेप की शिकार हो रही है। इसी क्रम में एक बार फिर से मानवता को शर्मसार करने वाली खबर पूर्वी चंपारण के मोतिहारी जिले से सामने आ रही है। यहाँ 10वीं की छात्रा को अपराधियों ने अगवा कर लिया और इसके बाद उसके साथ रेप की घटना को अंजाम दिया। यह घटना जिले के चकिया थाना क्षेत्र की है।

इस घटना के बारे में बताया जा रहा है कि मंगलवार (अगस्त 17, 2021) की रात को ही अपराधियों ने छात्रा को अगवा कर लिया था। इसके बाद अपराधी जबरन पीड़िता को बाँसवारी ले गया और फिर उसके साथ रेप की घटना को अंजाम दिया। मामले में पीड़िता की माँ ने शेखी चकिया गाँव के मोहम्मद अरशद और तबस्सुम खातून के अलावा कोटवा थाना क्षेत्र के छोटका खजुरिया गाँव के अरशद अली को आरोपित बताते हुए उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है।

पीड़िता की माँ ने बताया कि उनकी 15 वर्षीय लड़की अपने घर में सोई थी। रात के करीब 11 बजे दो लड़के उसे उठाकर बाँसवारी में ले गए, जहाँ मुँह बाँध कर बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म किया गया। जब पीड़िता की माँ और उनके पति अपने लड़की को खोजते हुए बाँसवारी की तरफ गए तो आरोपित भाग निकले। उन्होंने बताया कि आरोपित के इस कुकृत्य में पीड़िता की सहेली तबस्सुम खातून ने साथ दिया। उसी ने पीड़िता को दोनों आरोपितों के हवाले किया।

खुद पीड़िता ने भी इस बात की पुष्टि की। यह पूछे जाने पर कि वह रात को वहाँ कैसे पहुँची, पीड़िता ने बताया कि उसकी सहेली तबस्सुम खातून उसे बुलाने के लिए आई थी। पहले तबस्सुम उसके घर में आई और फिर दोनों लड़कों को लेकर आ गई। वो उसे उठा कर बाँसबाड़ी ले गए, जहाँ पर उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आरोपितों द्वारा कई बार उन्हें धमकी भी दी गई थी कि लड़की को उठा कर ले जाएँगे।

पीड़िता की माँ द्वारा दिए गए आवेदन के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसके बाद छात्रा का मेडिकल जाँच व न्यायालय में 164 का बयान दर्ज करा लिया गया है। फिलहाल, पुलिस अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छानबीन में जुट गई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,827FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe