Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाज16 जनवरी से देश में होगी वैक्सीन लगने की शुरुआत: स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स...

16 जनवरी से देश में होगी वैक्सीन लगने की शुरुआत: स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को पहले दिया जाएगा टीका

पहले चरण में वैक्सीन की डोज स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों को दी जाएगी। ऐसे करीब 3 करोड़ कर्मचारियों का अनुमान लगाया गया है जिन्हें वैक्सीन की डोज दी जाएगी। इसके बाद 50 साल से ऊपर के लोगों और 50 से कम उम्र की ऐसी आबादी को टीका दिया जाएगा जो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं....

देश में कोविड-19 वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ और ‘कोवैक्सीन’ (Covishield and covaxin) को इमरजेंसी अप्रूवल मिलने के बाद अब भारत सरकार ने टीकाकरण अभियान को लेकर बड़ा ऐलान किया है। केंद्र सरकार ने शनिवार (जनवरी 09,2021) को घोषणा की है कि 16 जनवरी, 2021 से वैक्सीन का टीकारण अभियान शुरू हो जाएगा। 

पहले चरण में वैक्सीन की डोज स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों को दी जाएगी। ऐसे करीब 3 करोड़ कर्मचारियों का अनुमान लगाया गया है जिन्हें वैक्सीन की डोज दी जाएगी। इसके बाद 50 साल से ऊपर के लोगों और 50 से कम उम्र की ऐसी आबादी को टीका दिया जाएगा जो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं। देश भर में ऐसे 27 करोड़ लोगों के होने का अनुमान है।

बता दें कि देश भर में टीकाकरण अभियान को लेकर ये बड़ा ऐलान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ उच्च स्तरीय बैठक में लिया गया। आज पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना वैक्सीन को लेकर राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की। बैठक में पीएम मोदी ने टीकाकरण की तैयारियों की समीक्षा की। इस मीटिंग में राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के कैबिनेट सेक्रटरी, हेल्थ सेक्रटरी, प्रिंसिपल सेक्रटरी और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

11 जनवरी को मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम की बैठक

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11 जनवरी को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा करने वाले हैं, लेकिन उससे पहले ही वैक्सिनेशन की तारीख का एलान कर दिया गया है। इसके अलावा सत्तारूढ़ बीजेपी लोगों के बीच वैक्सीन से जुड़ी आशंकाओं को दूर करने के लिए बड़े पैमाने पर अभियान की तैयारी कर रही है।

गौरतलब है कि देश में भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका की कोविशील्ड वैक्सीन को 3 जनवरी को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है। कोविशील्ड का उत्पादन सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कर रही है।

कोविड वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के लिए कौन-कौन से दस्तावेज जरूरी

लोगों को कोरोना वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड, वोडर आईडी कार्ड, डाइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, केंद्र/राज्य सरकार द्वारा जारी सर्विस आइडेंटिटी कार्ड (फोटो के साथ), पासपोर्ट, आरजीआई द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, फोटो के साथ पेंशन डॉक्यूमेंट, पोस्ट ऑफिस/बैंक द्वारा जारी पासबुक फोटो के साथ और श्रम मंत्रालय की योजना वाले हेल्थ इंश्योरेंस स्मार्ट कार्ड जरूरी होंगे। इनमें से आपके पास अगर एक भी दस्तावेज हैं तो कोरोना टीकाकरण के आप रजिस्ट्रेशन करा पाएँगे। इसके साथ ही एक टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1075 भी जारी किया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माजिद फ्रीमैन पर आतंक का आरोप: ‘कश्मीर टाइप हिंदू कुत्तों का सफाया’ वाले पोस्ट और लेस्टर में भड़की हिंसा, इस्लामी आतंकी संगठन हमास का...

ब्रिटेन के लेस्टर में हिन्दुओं के विरुद्ध हिंसा भड़काने वाले माजिद फ्रीमैन पर सुरक्षा एजेंसियों ने आतंक को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -