Tuesday, January 18, 2022
Homeदेश-समाजउत्तराखंड की 60 वर्षीय महिला ने दान की उम्रभर की जमा पूँजी, PM-CARES फंड...

उत्तराखंड की 60 वर्षीय महिला ने दान की उम्रभर की जमा पूँजी, PM-CARES फंड में दिए ₹10 लाख

चमोली जिले के गौचर की निवासी देवकी भंडारी ने 10 लाख रुपए प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा करवाकर समाज के सामने कोरोना वायरस की माहमारी के बीच एक बड़ी मिसाल पेश की है।

कोरोना वायरस के कारण पैदा आपदा से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से PM-CARES में योगदान की अपील की थी। देश का लगभग हर वर्ग अपनी क्षमता के अनुसार इसमें योगदान दे रहा है। कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इस दौरान एक उदाहरण बनकर सामने आए हैं। ऐसा ही एक नाम उत्तराखंड की देवकी भंडारी का है।

60 साल की देवकी भंडारी ने अपने जीवनभर की कमाई को PM-CARES फंड में दे दी है। देवकी बताती हैं कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश के प्रति सेवाभाव से प्रभावित होकर उन्होंने यह निर्णय लिया है।

उत्तराखंड के चमोली जिले के गौचर की निवासी देवकी भंडारी ने 10 लाख रुपए प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा करवाकर समाज के सामने कोरोना वायरस की माहमारी के बीच एक बड़ी मिसाल पेश की है।

उन्होंने बताया कि उनके बैंक में एफडी और पेंशन की रकम से कुल 10 लाख रुपए जमा हुए थे। कोरोना संकट को देखते हुए उन्होंने जीवन भर की कमाई इस महामारी से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री केयर फंड में दान दे दी है।

देवकी भंडारी के पिता स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे। यह पहला अवसर नहीं है जब साठ वर्षीय देवकी भंडारी ने समाज सेवा में हिस्सा लिया हो। उल्लेखनीय है कि देवकी भंडारी की अपनी कोई संतान नहीं है लेकिन उन्होंने एक गरीब मेधावी छात्र को पढ़ाने में भी मदद की। इस बच्चे का खर्च देवकी देवी खुद वहन करती हैं।

केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने अपने ट्विटर एकाउंट से यह जानकारी साझा करते हुए लिखा है, “उत्तराखंड केचमोली जिले में स्थित गौचर से हमारी मातृ शक्ति आदरणीया देवकी भंडारी जी ने PM नरेन्द्र मोदी जी के आह्वान पर अपने जीवन की सम्पूर्ण संचित जमा पूँजी- 10 लाख रुपए की धन राशि #PMCaresFunds में #coronavirus से लड़ने के लिए देश सेवा में समर्पित की है।”

SBI में 10 लाख रुपए PM-CARES फंड में डालने के बाद देवकी भंडारी जी का सन्देश इस लिंक पर सुन सकते हैं;

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हूती आतंकी हमले में 2 भारतीयों की मौत का बदला: कमांडर सहित मारे गए कई, सऊदी अरब ने किया हवाई हमला

सऊदी अरब और उनके गठबंधन की सेना ने यमन पर हमला कर दिया है। हवाई हमले में यमन के हूती विद्रोहियों का कमांडर अब्दुल्ला कासिम अल जुनैद मारा गया।

‘भारत में 60000 स्टार्ट-अप्स, 50 लाख सॉफ्टवेयर डेवेलपर्स’: ‘वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम’ में PM मोदी ने की ‘Pro Planet People’ की वकालत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार (17 जनवरी, 2022) को 'World Economic Forum (WEF)' के 'दावोस एजेंडा' शिखर सम्मेलन को सम्बोधित किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,917FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe