Thursday, June 20, 2024
Homeदेश-समाजआँखों में मिर्ची झोंकी, 35 बार चाकू से वार कर मार डाला: बिहार में...

आँखों में मिर्ची झोंकी, 35 बार चाकू से वार कर मार डाला: बिहार में दिन-दहाड़े सड़क पर हत्या, बिहार में 1 साल में साढ़े 3 लाख आपराधिक घटनाएँ

पुलिस ने बताया है कि घटना का सीसीटीवी फुटेज मिल गया है। इसमें दिखा है कि मृतक राहुल पर चाकू से कई वार किए गए। पुलिस का कहना है कि वह आरोपित की पहचान करने का प्रयास कर रहे हैं।

बिहार की नीतीश सरकार के राज में कानून-व्यवस्था एकदम से चरमरा गई है। अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि वह दिनदहाड़े बीच सड़क पर लोगों की हत्या कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला बिहार के नवादा से सामने आया है जहाँ एक युवक की चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी गई।

जानकारी के अनुसार, नवादा शहर के केएलएस कॉलेज के पास में 21 वर्षीय राहुल कुमार को चाकुओं से 35 बार गोद कर बीच सड़क में मार दिया गया। इस दौरान जनता यह क़त्ल होते देखती रही। इस घटना का वीडियो भी सामने आया है।

राहुल की हत्या करने से पहले उसकी आँखों में मिर्च झोंकी गई और फिर उसे मार दिया गया। बताया गया है कि राहुल के जानने वाले एक युवक ने उसे फ़ोन करके बुलाया था। इसके पश्चात राहुल यहाँ KLS कॉलेज के पास पहुँचा था। राहुल के हत्यारे अब भी पुलिस की गिरफ्तार से बाहर हैं।

उसके यहाँ पहुँचते ही उसकी आँखों में मिर्च झोंक दी गई। मिर्च के कारण परेशान राहुल पर ताबड़तोड़ चाकू से वार किए गए जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। राहुल की बहन प्रीति ने मीडिया को बताया है कि वह फ़ोन आने के 15 मिनट के बाद घर से निकला था। राहुल की माँ सावित्री देवी नवादा पुलिस में सिपाही है।

नवादा पुलिस के SDPO ने अजय प्रसाद ने इस मामले में बताया है, “आज दिनांक 8 दिसम्बर, 2023 को नगर थाना नवादा में सूचना मिली कि एक 20 वर्षीय युवक राहुल कुमार पुत्र वासुदेव साव की हत्या एक 30-35 वर्षीय युवक द्वारा चाकू मार हत्या कर दी गई है। पुलिस घटनास्थल पर पहुँच कर हमलावरों की पहचान स्थापित करने का प्रयास कर रही है।”

पुलिस ने बताया है कि घटना का सीसीटीवी फुटेज मिल गया है। इसमें दिखा है कि मृतक राहुल पर चाकू से कई वार किए गए। पुलिस का कहना है कि वह आरोपित की पहचान करने का प्रयास कर रहे हैं। पुलिस ने शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया है।

बिहार के नवादा में यह एक सप्ताह के भीतर हुई दूसरी जघन्य हत्या है। इससे पहले 4 दिसम्बर को भी एक महिला और उसकी 6 वर्षीय बच्ची की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया था जो कि मृतका का परिजन ही निकला था।

बिहार की नीतीश सरकार कानून व्यवस्था के मामले विफल रही है। हाल ही में आई राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) की रिपोर्ट बताती है कि वर्ष 2021 के मुकाबले वर्ष 2022 में बिहार में 23% अधिक आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं। वर्ष 2022 में अपराध के 3.47 लाख मामले दर्ज हुए हैं जो कि 2021 के दौरान 2.82 लाख थे। वहीं वर्ष 2021 के दौरान प्रदेश में हत्या के 2799 मामले सामने आए थे जो कि वर्ष 2022 में बढ़कर 2930 हो चुके हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अर्पित त्रिपाठी
अर्पित त्रिपाठीhttps://hindi.opindia.com/
अवध से बाहर निकला यात्री...

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

पत्रकार अजीत भारती को ‘नोटिस’ देने के लिए चोरों की तरह आई कर्नाटक पुलिस, UP पुलिस ले गई अपने साथ: बेंगलुरु में FIR दर्ज...

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार ने पत्रकार अजीत भारती के घर पुलिस भेजी है। पुलिस ने अजीत भारती को एक नोटिस दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -