Wednesday, February 8, 2023
Homeदेश-समाज'हमने एक को गोद दिया': वो फोन कॉल जिससे पकड़ा गया मुल्ला, अंकित शर्मा...

‘हमने एक को गोद दिया’: वो फोन कॉल जिससे पकड़ा गया मुल्ला, अंकित शर्मा के मर्डर में मूसा की तलाश

मुल्ला मूल रूप से अलीगढ़ का रहने वाला है। 2005 से वह दिल्ली के सुंदर नगरी इलाके में रह रहा है। वह प्याज की रेहड़ी लगाने का काम करता है। पुलिस ने उपद्रवियों से सैकड़ों फोन भी बरामद किए हैं। इनकी फोरेंसिक जॉंच के बाद कई और राज सामने आ सकते हैं।

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंदू विरोधी दंगों के दौरान आईबी के अंकित शर्मा की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई थी। इस मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुरुवार (मार्च 12, 2020) को सलमान उर्फ मुल्ला उर्फ़ नन्हे को गिरफ्तार किया था। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक उसने पूछताछ में शर्मा की हत्या से जुड़े सारे राज उगल दिए हैं। इसके मुताबिक दंगाई अंकित शर्मा को ताहिर हुसैन के घर खींचकर ले गए। जान से मारने से पहले उनके मुँह पर काला कपड़ा डाला। निर्वस्त्र कर उनके हिंदू होने की पहचान की। फिर चाकुओं से गोद उनका शव नाले में फेंक दिया गया।

न्यूज 18 की रिपोर्ट के अनुसार मुल्ला एक फोन कॉल से गिरफ्त में आया। असल में पुलिस ने चॉंदबाग में दंगों के दौरान एक अपराधी मूसा के फोन को सर्विलांस पे रखा था। उसी बातचीत में मुल्ला का नाम सामने आया था। इसके बाद जब मुल्ला का फोन सर्विलांस पर लिया गया तो वह किसी से बात करते हुए सुनाई पड़ा- हमने एक को गोद दिया। मूसा की भी तलाश की जा रही है। अंकित की हत्या में उसके शामिल होने का भी संदेह है।

मुल्ला मूल रूप से अलीगढ़ का रहने वाला है। 2005 से वह दिल्ली के सुंदर नगरी इलाके में रह रहा है। वह प्याज की रेहड़ी लगाने का काम करता है। शनिवार को उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। पुलिस ने उपद्रवियों से सैकड़ों फोन भी बरामद किए हैं। इनकी फोरेंसिक जॉंच के बाद कई और राज सामने आ सकते हैं।

बता दें कि अंकित शर्मा की नृशंस हत्या का अंदाजा हम उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट से लगा सकते हैं। जिसके मुताबिक अंकित शर्मा के शरीर का एक भी हिस्सा ऐसा नहीं था जिसमें चाकू के गहरे घाव न हों। डॉक्टर ने इस रिपोर्ट में लिखा था कि 400 से ज़्यादा बार अंकित को चाकुओं से गोदा गया।

इससे मामले में आप का निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन भी आरोपित है। अंकित शर्मा के पिता रविन्द्र शर्मा ने दिल्ली के दयालपुर थाने में एफआईआर दर्ज कराते हुए ताहिर हुसैन के अलावे कई अन्य लोगों को भी आरोपित बनाया था। अंकित का शव 26 फरवरी को चॉंदबाग के नाले से मिला था। ताहिर हुसैन का भाई शाह आलम भी हिरासत में है। अंकित की हत्या के वक्त वह भी मौके पर मौजूद बताया जा रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आफताब ने श्रद्धा की हड्डियों को पीस कर बनाया पाउडर, जला डाला चेहरा, डस्टबिन में डाल दी थी आँतें, ₹2000 की ब्रीफकेस में पैक...

आफताब ने पुलिस को यह भी बताया है कि उसने जिस दिन श्रद्धा की हत्या की थी। उसी दिन श्रद्धा के अकांउट से अपने अकाउंट में 54000 रुपए भेजे थे।

‘मैं रामचरितमानस को नहीं मानती, तुलसीदास कोई संत नहीं’: सपा MLA को तुलसीदास के ग्रन्थ से दिक्कत, कहा – हिम्मत है तो मेरी ताड़ना...

सपा विधायक पल्लवी पटेल ने कहा है कि वह रामचरितमानस को नहीं मानती हैं और इसमें शूद्र शब्द हटाने के लिए आंदोलन करेंगी। उनके लिए तुलसीदास संत नहीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
244,326FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe