Tuesday, January 18, 2022
Homeदेश-समाजदिल्ली में एसीपी को तेज रफ्तार वाहन ने कुचला, रात में ट्रैफिक की कर...

दिल्ली में एसीपी को तेज रफ्तार वाहन ने कुचला, रात में ट्रैफिक की कर रहे थे निगरानी

घटना रात के लगभग 8:30 बजे के हुई। सहायक आयुक्त संकेत कौशिक दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के रजकौरी स्थित फ़्लाइओवर के नज़दीक यातायात व्यवस्था सँभाल रहे थे। 58 साल के संकेत कौशिक मूल रूप से अजमेर, राजस्थान के रहने वाले थे।

दिल्ली में शनिवार (25 जुलाई 2020) की रात एसीपी (ट्रैफिक) संकेत कौशिक को एक तेज़ रफ़्तार गाड़ी ने टक्कर मार दी। घटना तब हुई जब वे यातायात व्यवस्था की निगरानी कर रहे थे।  उन्‍हें एम्‍स ले जाया गया जहाँ डॉक्टरों ने उन्‍हें मृत घोषित कर दिया। 

घटना रात के लगभग 8:30 बजे के हुई। सहायक आयुक्त संकेत कौशिक दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के रजकौरी स्थित फ़्लाइओवर के नज़दीक यातायात व्यवस्था सँभाल रहे थे। 58 साल के संकेत कौशिक मूल रूप से अजमेर, राजस्थान के रहने वाले थे। दिल्ली की यातायात पुलिस में कार्यरत थे।  

उस इलाके में जलभराव होने की वजह से यातायात व्यवस्था बिगड़ गई थी। इसकी जानकारी मिलने पर संकेत कौशिक और उनकी टीम हालात सामान्य करने के लिए आगे बढ़े। वह जैसे ही रजकौरी फ़्लाइओवर के नज़दीक पहुँचे तभी एक तेज़ रफ़्तार वाहन (टाटा 407) उन्हें टक्कर मार कर गुरुग्राम की तरफ निकल गया। 

ख़बरों के मुताबिक़ इसके पीछे मेवात के अपराधियों की भूमिका हो सकती है। फिलहाल पुलिस इस पहलू से मामले की जाँच कर रही है।   

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अमानतुल्लाह खान यहाँ नमाज पढ़ सकते हैं तो हिंदू हनुमान चालीसा क्यों नहीं?’: इंद्रप्रस्थ किले पर गरमाया विवाद, अंदर मस्जिद बनाने के भी आरोप

अमानतुल्लाह खान की एक वीडियो के विरोध में आज फिरोज शाह कोटला किले के बाहर हिंदूवादी लोगों ने इकट्ठा होकर हनुमान चालीसा का पाठ किया।

जब 5 मिनट तक फ्लाइंग किस देते रहे थे भगवंत मान, बार-बार गिर रहे थे: AAP ने बनाया चेहरा तो बोले लोग – ‘उड़ते...

ट्विटर पर यूजर्स उन्हें 'पेगवंत मान' कहकर संबोधित कर रहे हैं और केजरीवाल के फैसले को गलत ठहरा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,996FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe