Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजदूरदर्शन तमिल ने प्रधानमंत्री के भाषण का किया ब्लैकआउट, सहायक निर्देशक निलंबित

दूरदर्शन तमिल ने प्रधानमंत्री के भाषण का किया ब्लैकआउट, सहायक निर्देशक निलंबित

पीएमओ ने पूछा था कि दूरदर्शन पोडिगई टीवी पर प्रधानमंत्री के भाषण का सजीव प्रसारण (live telecast) न किए जाने का क्या कारण था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के IIT-मद्रास में दिए गए भाषण को न प्रसारित करने के कारण डीडी (दूरदर्शन) के तमिल संस्करण की सहायक निर्देशक को निलंबित कर दिया गया है। मोदी तमिलनाडु की राजधानी चेन्नै में दीक्षांत समारोह के दौरान छात्रों को संबोधित कर रहे थे। दूरदर्शन पोडिगई टीवी की सहायक निर्देशक आर वासुमति पर कर्त्तव्य की उपेक्षा (dereliction of duty) का आरोप है।

पीएमओ ने जावड़ेकर को किया था तलब  

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार प्रधानमंत्री कार्यालय ने केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से इसका जवाब माँगा था। जावड़ेकर के मंत्रालय के ही अंतर्गत दूरदर्शन आता है। पीएमओ ने पूछा था कि दूरदर्शन पोडिगई टीवी पर प्रधानमंत्री के भाषण का सजीव प्रसारण (live telecast) न किए जाने का क्या कारण था।

30 सितंबर की घटना

घटना 30 सितंबर (सोमवार) की है, जब प्रधानमंत्री के भाषण के समय दूरदर्शन पोडिगई टीवी पर एक तमिल गाना और नाटिका प्रसारित हो रहे थे। उस समय मोदी IIT-मद्रास के 56वें दीक्षांत समारोह और इस दौरान हुई सिंगापुर-भारत हैकिंग प्रतियोगिता (Hackathon) के पुरस्कार वितरण समारोह में भागीदारी करने पहुँचे हुए थे

उल्लेखनीय है कि सरकारी चैनल होने के चलते दूरदर्शन की यह ज़िम्मेदारी थी कि प्रधानमंत्री के भाषण को अपने दर्शकों तक वरीयता पर पहुँचाना। हालाँकि एक सीमा तक दूरदर्शन को परिचालन की स्वायत्ता है, लेकिन यह अंततः लोक सेवक प्रसारक (public service broadcaster) है, जिसकी संस्थापक सरकार ही है। अतः मोदी का भाषण दिखाना दूरदर्शन के लिए बाध्यकारी था, न कि निजी चैनलों की तरह ऐच्छिक।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘वेब सीरीज में काम के बहाने बुलाया, 3 बौनों ने कपड़े उतार किया यौन शोषण’: गहना वशिष्ठ ने दायर की अग्रिम जमानत याचिका

'ग्रीन पार्क बंगलो' में शूट हो रही इस फिल्म की डायरेक्टर-प्रोड्यूसर गहना वशिष्ठ थीं। महिला ने बताया कि शूटिंग के दौरान तीन बौनों ने उनके कपड़े हटा दिए और उनका यौन शोषण किया।

सूअरों की बलि से प्रदूषण, मानसिक शांति भंग… प्रतिबंध लगे: कट्टू नायक्कर समुदाय के हिंदू रीति-रिवाजों के खिलाफ मुस्लिम

कट्टू नायक्कर समुदाय मदुरै वीरन स्वामी की पूजा में सूअरों की बलि देता है, वो कुल देवता हैं। मुस्लिमों ने हिंदुओं की बलि परंपरा का विरोध...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,163FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe