Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजदुबई से लौटकर था क़्वारन्टाइन, गर्लफ्रेंड को मिलने के लिए भागा, कहा- घरवाले नहीं...

दुबई से लौटकर था क़्वारन्टाइन, गर्लफ्रेंड को मिलने के लिए भागा, कहा- घरवाले नहीं मान रहे थे

पूछताछ के दौरान उसने पुलिस को बताया कि लड़की (गर्लफ्रेंड) के माता-पिता उनके रिश्‍ते के लिए तैयार नहीं है और वो उसकी शादी जबरदस्ती किसी अन्य युवक से करा रहे थे, जिस कारण उसे अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए क़्वारंटाइन से भागना पड़ा। युवक के खिलाफ क्‍वारंटाइन के नियमों की अवहेलना करने को लेकर केस दर्ज किया गया है।

ऐसे समय में, जब सरकार देशभर में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए लोगों के बाहर न निकलने की अपील कर रही है, कुछ लोग बेहद मूर्खतापूर्ण हरकतें करते हुए देखे जा रहे हैं और अपने साथ-साथ पुलिस और स्वास्थ्यकर्मियों की जान को भी खतरे में डाल रहे है। खासतौर पर विदेशों से लौट रहे लोग अन्य लोगों के लिए खतरा बन चुके हैं। ऐसा ही एक किस्सा मदुरै में देखने को मिला है, जहाँ क़्वारंटाइन किया हुआ एक युवक सिर्फ अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए भाग निकला।

22 साल के इस युवक को कोरोना वायरस होने की आशंका के कारण मदुरै जिले में क्‍वारंटाइन किया गया था, लेकिन वह वहाँ से फरार होकर अपनी गर्लफ्रेंड के घर जा पहुँचा। यह युवक हाल ही में दुबई से लौटा था, जिसके बाद उसे यहाँ पर संक्रमण से सुरक्षा के कारण पृथक रखा गया था। क्‍वारंटाइन सेंटर से उसके फरार होने की खबर मिलते ही पुलिस और तमाम स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों की चिंताएँ बढ़ गई हैं, जो इस संक्रामक रोग के प्रसार को रोकने और रोगियों के इलाज में दिन-रात एक किए हुए हैं।

पुलिस ने इस शख्‍स को शिवगंगा जिले में उसकी गर्लफ्रेंड के घर में पाया, जिसके बाद उसे वहाँ से वापस पृथक केंद्र लाया। युवक से मिलने के बाद अब लड़की को भी आइसोलेशन में (अलग) रखा गया है। यह युवक दुबई से 21 मार्च को मदुरै पहुँचा था।

युवक से पूछताछ के दौरान उसने पुलिस को बताया कि लड़की (गर्लफ्रेंड) के माता-पिता उनके रिश्‍ते के लिए तैयार नहीं है और वो उसकी शादी जबरदस्ती किसी अन्य युवक से करा रहे थे, जिस कारण उसे अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए क़्वारंटाइन से भागना पड़ा। युवक के खिलाफ क्‍वारंटाइन के नियमों की अवहेलना करने को लेकर केस दर्ज किया गया है। दरअसल, सरकार इस संक्रमण को रोकने के लिए हर कठोर कदम उठाने के लिए तैयार है और निरंतर लोगों से अपील कर रही है कि वह कुछ दिनों के लिए अपने दैनिक कार्यक्रमों को छोड़कर अपने घर पर रहें क्योंकि कोरोना वायरस के कम्युनिटी संक्रमण का सबसे ज्यादा ख़तरा मानव-से-मानव में होने वाला संक्रमण है।

देश में कोरोना से पीड़ित लोगों की संख्या 700 के पार पहुँच गई है। इस बीच इससे निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया है, उसका आज तीसरा दिन है। लॉकडाउन के चलते आम जनमानस को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है और हजारों मजदूर अपने घरों के लिए पैदल ही निकल रहे हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बाप कम्युनिस्ट हो, सत्ता में वामपंथी हों तो प्यार न करें, प्यार हो जाए तो माँ न बने: अपने ही बच्चे के लिए भटक...

अजीत और अनुपमा को एक-दूसरे से प्यार हुआ और एक बच्चे का जन्म हुआ। कम्युनिस्ट पिता को ये रिश्ता और बच्चा दोनों नागवार थे। बच्चा इस जोड़े से छीन लिया गया...

नाम में खान इसलिए शाहरुख का बेटा निशाना: रिया चक्रवर्ती के लिए ‘महिला कार्ड’ खेलने वाली मीडिया का अब ‘मुस्लिम’ प्रलाप

'मिड डे' ने लिखा है कि शाहरुख़ खान ने भाजपा नेताओं के साथ सेल्फी नहीं डाली और जन्मदिन की शुभकामनाएँ नहीं दी, इसीलिए उनके बेटे के खिलाफ कार्रवाई हुई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,963FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe