Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजसुशांत का पूर्व स्टाफ व ड्रग पेडलर ऋषिकेश लापता: अहम कड़ी की तलाश में...

सुशांत का पूर्व स्टाफ व ड्रग पेडलर ऋषिकेश लापता: अहम कड़ी की तलाश में NCB का सर्च ऑपरेशन

पवार ने पहले अदालत में गिरफ्तारी की आशंका जताते हुए अग्रिम जमानत माँगी थी। हालाँकि, गुरुवार को विशेष एनडीपीएस अदालत के न्यायाधीश वी. विदवान ने उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी। एनसीबी की टीम उनके घर पहुँची लेकिन वो तब तक फरार हो गए थे।

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की असामयिक मौत के बाद बॉलीवुड ड्रग नेक्सस की जाँच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो पूर्व असिस्टेंट डायरेक्टर ऋषिकेश पवार की तलाश कर रही है। ऋषिकेश की खोज में NCB ने सर्च अभियान शुरू किया है। ऋषिकेश दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का एक स्टाफ था। जाँच के दौरान सुशांत के स्टाफ दीपेश सावंत ने भी अपने बयान में ऋषिकेश का नाम लिया था और आरोप लगाया था कि वह सुशांत को ड्रग्स सप्लाई करता था।

NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के अनुसार, “ऋषिकेश पवार की तलाश जारी है। वो सुशांत सिंह राजपूत के ड्रीम प्रोजेक्ट में असिस्टेंट डायरेक्टर थे। कई सबूत सामने आए हैं, जिसमें ये साफ हुआ है कि ऋषिकेश पवार ही सुशांत को ड्रग्स सप्लाई करता था। एनसीबी ने ऋषिकेश के घर से लैपटॉप सीज़ किया है, जिसमें कुछ डाटा भी मिला है। कई बार एनसीबी ने उन्हें बुलाया लेकिन वो नहीं आए, अब जब उनकी अग्रिम जमानत याचिका ख़ारिज हो गई है तो हमने उन्हें पकड़ने का प्लान बनाया है।”

इससे पहले CBI ने 12 सितंबर, 2020 को ऋषिकेश पवार को तलब किया था और फिर उसे NCB को सौंप दिया गया। दीपेश सावंत ने अपने बयान में कहा था, “उस दौरान मैं कभी सुशांत सर के लिए ड्रग्स नहीं लाया था, लेकिन मेरा एक साथी ऋषिकेश पवार सुशांत सर के लिए ड्रग्स लाता था।”

जानकारी के मुताबिक, पवार ने पहले अदालत में गिरफ्तारी की आशंका जताते हुए अग्रिम जमानत माँगी थी। हालाँकि, गुरुवार को विशेष एनडीपीएस अदालत के न्यायाधीश वी. विदवान ने उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी। एनसीबी की टीम उनके घर पहुँची लेकिन वो तब तक लापता हो गए थे।

NCB के ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने कहा, “हाँ, हम ऋषिकेश पवार की तलाश कर रहे हैं।” उन्होंने आगे बताया कि NCB शुरू से ही उनसे पूछताछ करना चाहती थी, लेकिन उन्होंने किसी प्रकार से भी उन्हें कोऑपरेट नहीं किया, कई नोटिस को भी उन्होंने नजरअंदाज कर दिया है। उनकी इस हरकतों ने मामले में उनकी भूमिका को लेकर हमारे शक को और मजबूत कर दिया है।

चेंबूर के निवासी पवार राजपूत के ड्रीम प्रोजेक्ट में सहायक निर्देशक के रूप में काम करते थे। हालाँकि, उन्हें कुछ समय बाद निकाल दिया गया था। फिर भी उन्होंने अभिनेता से मिलना जुलना जारी रखा। एनसीबी अधिकारियों ने कहा कि वे इसके बारे में उनसे पूछताछ करना चाहते हैं।

गौरतलब है कि पिछले साल जून में सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या कर ली थी। इस मामले की जाँच सीबीआई कर रही है। इसी मामले में ड्रग्स एंगल की भी बात सामने आई थी। जिसके बाद 26 अगस्त, 2020 से ही एनसीबी पूरे मामले की जाँच कर रही है। तब से NCB ने अभिनेता की मौत से जुड़े ड्रग मामले के संबंध में 27 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा दीपिका पादुकोण, सारा अली खान, रकुलप्रीत सिंह और अर्जुन रामपाल सहित कई बॉलीवुड हस्तियों से पूछताछ भी की जा चुकी है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

निहंगों ने की दलित युवक की हत्या, शव और हाथ काट कर लटका दिए: ‘द टेलीग्राफ’ सहित कई अंग्रेजी अख़बारों के लिए ये ‘सामान्य...

उन्होंने (निहंगों ) दलित युवक की नृशंस हत्या करने के बाद दलित युवक के शव, कटे हुए दाहिने हाथ को किसानों के मंच से थोड़ी ही दूर लटका दिया गया।

मुस्लिम भीड़ ने पार्थ दास के शरीर से नोचे अंग, हिंदू परिवार में माँ-बेटी-भतीजी सब से रेप: नमाज के बाद बांग्लादेश में इस्लामी आतंक

इस्‍कॉन से जुड़े राधारमण दास ने ट्वीट कर बताया कि पार्थ को बुरी तरह से पीटा गया था कि जब उनका शव मिला तो शरीर के अंदर के हिस्से गायब थे। 

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,877FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe