Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाज50+ लड़कियों-महिलाओं को रहीम खान भेजता था गंदे-नंगे फोटो, khan786 के नाम से बना...

50+ लड़कियों-महिलाओं को रहीम खान भेजता था गंदे-नंगे फोटो, khan786 के नाम से बना रखा था सोशल मीडिया हैंडल

पीड़ितों की तस्वीर एडिट करके उसे गंदी-नंगी बना कर रहीम खान उनके साथ शेयर करता था। इसके बाद वो पीड़ितों से ही नग्न तस्वीरों की माँग भी करता था।

19 साल का एक लड़का फरिदाबाद से गिरफ्तार हुआ है। नाम है – रहीम खान। आरोप है – 50 से अधिक लड़कियों और महिलाओं को सोशल मीडिया पर गंदी-नंगी तस्वीरें भेजने का।

रहीम खान सिर्फ 8वीं तक पढ़ा है। लेकिन उसे फोटो एडिट करनी आती है। इसी स्किल को उसने गैर-कानूनी कामों के लिए यूज किया। महिलाओं-लड़कियों (यहाँ तक की कई नाबालिगों को भी) के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से तस्वीरें निकाल कर रहीम खान उसे मॉर्फ्ड (ऐसी एडिटिंग, जिसमें चेहरा किसी और का हो, और उसे नंगा दिखाने के लिए गर्दन के नीचे शरीर किसी और का) करता था।

रहीम यह करने के लिए एक महिला के नाम से फर्जी प्रोफाइल बनाए हुए था। वह इसी प्रोफाइल से लड़कियों-महिलाओं से सोशल मीडिया पर दोस्ती करता था। इसके बाद वो यौन संबंधों वाले गंदे-गंदे मैसेज भेजना शुरू करता था। बात नहीं बनती थी तो फिर वो यूजर के फोटो को एडिट कर उसमें दूसरे के यौनांगों को दिखा ब्लैकमेल भी करता था।

फरीदाबाद पुलिस को मंगलवार (9 फरवरी 2021) को इतनी सारी पीड़ितों में से एक की शिकायत मिली। उसके बाद रहीम खान गिरफ्तार कर लिया गया। पीड़िता ने अपनी शिकायत में बताया कि एक व्यक्ति उनकी मॉर्फ्ड तस्वीरें ch_rahim_khan786 इंस्टाग्राम हैंडल से भेज रहा था। इतना ही नहीं, इसके बाद वो पीड़िता से ही नग्न तस्वीरों की माँग भी कर रहा था।

पुलिस ने इंस्टाग्राम से इस बारे में तकनीकी पूछताछ की। फिर उसी आधार पर, साइबर सेल की टीम ने आरोपित रहीम खान का पता लगाया। फरीदाबाद पुलिस ने कहा कि खान को उसके घर से ही पकड़ा गया।

आर्श्चयजनक यह है कि पुलिस की पूछताछ में रहीम खान ने अपने अपराध की बात कबूल कर ली। और उससे भी आश्चर्यजनक यह है कि उसने स्वयं यह बताया कि न सिर्फ पीड़िता (जिसने पुलिस में शिकायत दर्ज की) बल्कि उसके जैसी 50 से ज्यादा महिलाओं-लड़कियों को वो अपना शिकार बना चुका है।

फरीदाबाद पुलिस ने रहीम खान के मोबाइल फोन से चैट हिस्ट्री, वीडियो क्लिप्स और कई सारी महिलाओं-लड़कियों की तस्वीरें साक्ष्य के तौर पर सेव कर ली है। पुलिस ने यह भी कहा है कि अन्य पीड़ितों से संपर्क करना का प्रयास किया जा रहा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्र है भारतीय मीडिया, सूत्रों से बनी खबरें मानहानि नहीं: शिल्पा शेट्टी की याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट

कोर्ट ने कहा कि उनका निर्देश मीडिया रिपोर्ट्स को ढकोसला नहीं बताता। भारतीय मीडिया स्वतंत्र है और सूत्रों पर बनी खबरें मानहानि नहीं है।

रामायण की नेगेटिव कैरेक्टर से ममता बनर्जी की तुलना कंगना रनौत ने क्यों की? जावेद-शबाना-खान को भी लिया लपेटे में

“...बंगाल मॉडल एक उदाहरण है… इसमें कोई शक नहीं कि देश में खेला होबे।” - जावेद अख्तर और ममता बनर्जी की इसी मीटिंग के बाद कंगना रनौत ने...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,014FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe