Tuesday, August 3, 2021
Homeदेश-समाजपवित्र ग्रंथों में लिखा है, राम समस्त दुनिया के भगवान हैंः फ़ारुक़ अबदुल्ला

पवित्र ग्रंथों में लिखा है, राम समस्त दुनिया के भगवान हैंः फ़ारुक़ अबदुल्ला

अब्दुल्ला ने कहा, "जब तक हमारे अपने दिल साफ़ नहीं होते हम उन्हें (मोदी और शाह को) आसानी से नहीं हटा सकते। अगर मुल्क़ को बचाना चाहते हैं तो हमें पहले कुर्बानी देने की ज़रूरत है और ऐसा देश के लिए करो न कि कुर्सी के लिए।"

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नैशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फ़ारुक़ अब्दुल्ला ने भगवान राम को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि क्या भगवान राम सिर्फ़ हिंदुओं के भगवान हैं? हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई- हम सभी भाई हैं और भारत हर भारतीय के लिए है। उन्होंने इस बात पर ज़ोर दिया कि सभी धर्म के लोगों को देश में सम्मान के साथ जीने का समान अधिकार है।

आम आदमी पार्टी की ओर से आयोजित विपक्ष की महारैली में अब्दुल्ला ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को आगामी लोकसभा चुनाव में हराना चाहिए क्योंकि, वे लोकतंत्र और संवैधानिक मूल्यों के लिए ‘खतरा’ हैं।

‘मुल्क़ को बचाना के लिए क़ुर्बानी की ज़रूरत’

अब्दुल्ला ने कहा, “जब तक हमारे अपने दिल साफ़ नहीं होते हम उन्हें (मोदी और शाह को) आसानी से नहीं हटा सकते। अगर मुल्क़ को बचाना चाहते हैं तो हमें पहले कुर्बानी देने की ज़रूरत है और ऐसा देश के लिए करो न कि कुर्सी के लिए।”

उन्होंने कहा कि आज हम धार्मिक आधार पर हिंदुओं और मुस्लिमों के तौर पर बँटे हुए हैं। मैं हिन्दुओं से पूछना चाहता हूँ कि क्या राम सिर्फ़ आपके राम हैं? यह पवित्र ग्रंथों में लिखा है कि राम पूरी दुनिया के भगवान हैं। वह सब के भगवान हैं।

उन्होंने अफ़सोस जताया कि मुस्लिम समुदाय के लोगों को बताया जा रहा है कि उन्हें क्या नहीं करना है या कहाँ नहीं जाना है और पूछा कि क्या यह देश उनके आक़ाओं का देश है?

विपक्षी नेताओं ने पीएम मोदी पर साधा निशाना

महारैली के दौरान अब्दुल्ला समेत सभी नेताओं ने पीएम मोदी और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “लोगों ने 12वीं कक्षा पास व्यक्ति को देश का प्रधानमंत्री बनाया है, लेकिन उन्हें 2019 में अपनी गलती को दोहराना नहीं चाहिए।

केजरीवाल ने कहा कि इस बार यह गलती मत दोहराइएगा और किसी शिक्षित को ढूंढिए, क्योंकि 12वीं कक्षा पास व्यक्ति को यह समझ नहीं होती कि वह अपने हस्ताक्षर कहाँ कर रहा है।” बता दें कि इस दौरान ममता बनर्जी, शरद पवार, चंद्रबाबू नायडू समेत कई विपक्षी नेता भी मौजूद रहे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सागर धनखड़ मर्डर केस में सुशील कुमार मुख्य आरोपित: दिल्ली पुलिस ने 20 लोगों के खिलाफ फाइल की 170 पेज की चार्जशीट

दिल्ली पुलिस ने छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड में चार्जशीट दाखिल की है। सुशील कुमार को मुख्य आरोपित बनाया गया है।

यूपी में मुहर्रम सर्कुलर की भाषा पर घमासान: भड़के शिया मौलाना कल्बे जव्वाद ने बहिष्कार का जारी किया फरमान

मौलाना कल्बे जव्वाद ने आरोप लगाया है कि सर्कुलर में गौहत्या, यौन संबंधी कई घटनाओं का भी जिक्र किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,696FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe