Monday, August 15, 2022
Homeदेश-समाजफिल्म निर्देशक अविनाश दास को गुजरात पुलिस ने दबोचा: शेयर की थी तिरंगे के...

फिल्म निर्देशक अविनाश दास को गुजरात पुलिस ने दबोचा: शेयर की थी तिरंगे के साथ महिला की अश्लील तस्वीर, अमित शाह को लेकर फैलाया झूठ

अविनाश दास की कारस्तानियाँ तिरंगे के साथ महिला की अश्लील तस्वीर शेयर करने और अमित शाह की पुरानी तस्वीर शेयर कर उन्हें बदनाम करने की कोशिश करने तक ही नहीं हैं।

फिल्म निर्देशक अविनाश दास को गुजरात पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। उन्हें अहमदाबाद की DCB (डिटेक्शन ऑफ क्राइम ब्रांच) ने मंगलवार (19 जुलाई, 2022) की दोपहर को उनके मुंबई स्थित आवास से उठाया। उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की एक तस्वीर शेयर की थी और उन्हें झारखंड की IAS अधिकारी पूजा सिंघल के साथ दिखाया था। बता दें कि मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में पूजा सिंघल ED द्वारा गिरफ्तार की जा चुकी हैं।

इस सम्बन्ध में 13 मई, 2022 को अहमदाबाद के DCB पुलिस स्टेशन में अविनाश दास के विरुद्ध FIR दर्ज की गई थी। साथ ही उन पर राष्ट्रीय ध्वज के अपमान का भी आरोप है। अपने फेसबुक हैंडल पर शेयर की गई एक तस्वीर में उन्होंने एक महिला को तिरंगा झंडा पहने हुए दिखाया था। अविनाश दास पर IPC की धारा-469 (जालसाजी) के साथ-साथ IT एक्ट की धारा–67 और ‘राष्ट्रीय गौरव का अपमान निवारण अधिनियम, 1971’ के तहत भी बुक किया गया है।

46 वर्षीय अविनाश दास ‘अनारकली ऑफ आरा (2017)’ फिल्म बना चुके हैं, जिसमें स्वरा भास्कर और संजय मिश्रा मुख्य किरदारों में थे। पिछले साल उनके द्वारा निर्देशित ‘रात बाकी है’ रिलीज हुई थी, जिसमें अनूप सोनी और राहुल देव दिखे थे। साथ ही ‘MX Player’ पर ‘रनवे लुगाई’ नामक 10 एपिसोड वाली सीरीज का उन्होंने निर्देशन किया था। उन्होंने ‘द बैटल ऑफ बनारस’ नामक एक डॉक्यूमेंट्री बनाई और आमिर खान के टीवी चैट शो ‘सत्यमेव जयते’ से भी जुड़े रहे।

हाल ही में इसी मामले में जमानत के लिए बॉम्बे हाईकोर्ट पहुँचे थे, लेकिन सफल नहीं हुए। पिछले एक सप्ताह से DCB की टीम उन्हें दबोचने के लिए मुंबई में थी। जब उन्हें गिरफ्तार किया गया, तब वो आवास से दफ्तर के लिए निकले थे। उन्हें अहमदाबाद ले जाया जा रहा है। प्रोपेगंडा फैलाने में भी अविनाश दास का कोई सानी नहीं है। उन्होंने अमित शाह और पूजा सिंघल की जो तस्वीर शेयर की, वो 2017 की थी। उन पर जनता को गुमराह करने और मानहानि के आरोप हैं।

अविनाश दास की कारस्तानियाँ तिरंगे के साथ महिला की अश्लील तस्वीर शेयर करने और अमित शाह की पुरानी तस्वीर शेयर कर उन्हें बदनाम करने की कोशिश करने तक ही नहीं हैं। पत्रकार उत्पन्ना चक्रवर्ती द्वारा साझा किए गए चैट्स में अविनाश ने उन्हें लिखा था कि तुम कुछ ज्यादा ही सख्त हो और मुझे पसंद हो। उन्होंने उनके खाने-पीने और खर्चा उठाने तक की बातें की थीं। उत्पन्ना ने पूछा था कि परेशानी से घिरी नौकरी चाहने वाली एक लड़की से इस तरह बात करने के पीछे क्या मंशा है?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्रता के हुए 75 साल, फिर भी बाँटी जा रही मुफ्त की रेवड़ी: स्वावलंबन और स्वदेशी से ही आएगी आर्थिक आत्मनिर्भरता

जब हम यह मानते हैं कि सत्य की ही जय होती है तब ईमानदार सत्यवादी देशभक्त नेताओं और उनके समर्थकों को ईडी आदि से भयभीत नहीं होना चाहिए।

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत: मृतक की जाति वाले टीचर ने नकारा भेदभाव, स्कूल में 8 में से 5 स्टाफ SC/ST

जालौर में इंद्र मेघवाल की मौत पर दावा कि आरोपित हेडमास्टर ने मटकी से पानी पीने पर मारा, जबकि अन्य लोगों का कहना है कि वहाँ कोई मटकी नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,900FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe