Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजसुरक्षाबलों ने ओडिशा के कंधमाल में 4 नक्सलियों को किया ढेर, सर्च ऑपरेशन...

सुरक्षाबलों ने ओडिशा के कंधमाल में 4 नक्सलियों को किया ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी

बीते गुरुवार को सुरक्षाबलों ने कंधमाल जिले के फिरंगिया ब्लॉक के समरबंध गांव के पास माओवादी शिविर का ध्वस्त किया था। यहाँ से 15 किलो विस्फोटक, 28 डेटोनेटर के अलावा टिफिन बॉक्स, जूते, बैग और माओवादी साहित्य को बरामद किया गया था।

ओडिशा के कंधमाल जिले में रविवार (5 जुलाई, 2020) को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में चार नक्सलियों के मारे जाने की खबर है। एनकाउंटर कंधमाल जिले के तुमुदीबांध इलाके में हुआ। एंटी नक्सल स्पेशल ग्रुप के जवान, डिस्ट्रिक्ट वॉलेंट्री फोर्स और ओडिशा पुलिस की स्पेशन सेल के जवान इसमें शामिल थे।

द हिंदू के रिपोर्ट के अनुसार ओडिशा पुलिस ने बताया कि मारे गए नक्सली प्रतिबंधित सीपीआई (नक्सल) ग्रुप के सदस्य थे। ओडिशा पुलिस के महानिरीक्षक (ऑपरेशन) अमिताभ ठाकुर ने बताया कि मुठभेड़ की जानकारी मिलते ही घटनास्थल पर और सुरक्षाकर्मी भेजे गए हैं। इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है।

बता दें, नक्सल विरोधी अभियान के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप को इलाके में नक्सलियों के छुपे होने की सूचना मिली थी। इसके बाद पुलिस ने इलाके की घेराबंदी की और समर्पण करने के लिए कहा। लेकिन नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की और चार माओवादी मारे गए।

गौरतलब है कि बीते गुरुवार को सुरक्षाबलों ने कंधमाल जिले के फिरंगिया ब्लॉक के समरबंध गांव के पास माओवादी शिविर ध्वस्त किया था। यहाँ से 15 किलो विस्फोटक, 28 डेटोनेटर के अलावा टिफिन बॉक्स, जूते, बैग और माओवादी साहित्य को बरामद किया गया था। बता दें कंधमाल-कालाहांडी-नयागढ़ और बौध डिवीजन में सीपीआई (माओवादी) कैडर काफ़ी सक्रिय हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

कनाडा का आतंकी प्रेम देख भारत ने याद दिलाया कनिष्क ब्लास्ट, 23 जून को पीड़ितों को दी जाएगी श्रद्धांजलि: जानिए कैसे गई थी 329...

भारत ने एयर इंडिया के विमान कनिष्क को बम से उड़ाने की बरसी याद दिलाते हुए कनाडा में वर्षों से पल रहे आतंकवाद को निशाने पर लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -