Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाज4 साल की बच्ची से केरल में रेप: CCTV में पीड़िता को कारखाने के...

4 साल की बच्ची से केरल में रेप: CCTV में पीड़िता को कारखाने के पीछे ले जाते दिखा असम का सजालल, बच्ची की माँ के साथ करता था काम

जिस व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, उसका नाम सजालल है और वह पीड़िता की माँ के साथ ही काम करता है। पुलिस द्वारा सीसीटीवी खँगालने पर वह घटना के समय बच्ची को कारखाने के पीछे ले जाते हुए दिखता है।

केरल के पेरम्बवूर से 4 वर्ष की एक बच्ची के साथ यौन दुष्कर्म का मामला सामने आया है। बच्ची लकड़ी के प्लाईवुड कारखाने पर काम करने वाली एक प्रवासी महिला की है, जिसके साथ यौन अपराध किया गया।

इस मामले में पाँच लोगों को हिरासत में लिया गया था और पूछताछ के बाद एक आरोपित को गिरफ्तार किया गया है जिसका संबंध असम से है। जानकारी के अनुसार, बच्ची ने अपनी माँ से दर्द की शिकायत की, जिसके पश्चात वह उसे अस्पताल लेकर पहुँची। अस्पताल में बच्ची के साथ यौन दुष्कर्म का मामला खुला।

बताया गया कि बच्ची स्कूल से वापस आने के बाद अपनी माँ के पास प्लाईवुड कारखाने पर जाती थी। इसी दौरान शुक्रवार (20 अक्टूबर 2023) को आरोपित ने बच्ची को फैक्ट्री के पीछे ले जाकर दुष्कर्म किया। मीडिया रिपोर्ट में पहले 2 लोगों के गिरफ्तारी की खबर आई थी – सजालल और उबैदुल्लाह। बाद की मीडिया रिपोर्ट में एक की गिरफ्तारी कंफर्म हुई है।

जिस व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, उसका नाम सजालल है और वह पीड़िता की माँ के साथ ही काम करता है। पुलिस द्वारा सीसीटीवी खँगालने पर वह घटना के समय बच्ची को कारखाने के पीछे ले जाते हुए दिखता है। उसने दो सप्ताह पहले ही इस फैक्ट्री में काम करना चालू किया था।

इस मामले में बच्ची का मेडिकल परीक्षण भी करवाया गया है। मेडिकल रिपोर्ट आने के पश्चात पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी। एर्नाकुलम ग्रामीण के पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार ने इस मामले में बताया कि बच्ची ने आरोपित की पहचान फोटो से की है। बच्ची का बयान भी दर्ज कर लिया गया है।

विवेक कुमार ने यह भी बताया कि इलाके में बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर रहते हैं। इस घटना में भी पीड़िता और आरोपित दोंनों ही प्रवासी हैं। इलाके में प्रवासी मजदूरों का पंजीकरण करवाया जा रहा है और अब तक 1.2 लाख से अधिक प्रवासी मजदूरों का पंजीकरण किया जा चुका है। इससे उनके आपराधिक रिकॉर्ड आदि को जानने में मदद मिलेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -