Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजदादी के साथ खेत गई थी 15 साल की किशोरी: चॉंद, उस्मान, अजहर और...

दादी के साथ खेत गई थी 15 साल की किशोरी: चॉंद, उस्मान, अजहर और शाहिब ने किया रेप

...जब दादी को एहसास हुआ कि पोती साथ में नहीं है तो उसने घर आकर लोगों को इसकी जानकारी दी। काफी तलाश के बाद किशोरी गन्ने के खेत में बदहवास हालत में मिली।

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में एक नाबालिग के साथ गैंग रेप का मामला सामने आया है। जिले के थाना भावनपुर क्षेत्र की 15 साल की पीड़िता अपनी दादी के साथ मिट्टी लाने खेत गई थी। इसी दौरान चार युवक उसे खींच कर खेत में ले गए और दुष्कर्म किया।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार आरोपितों की पहचान चॉंद, उस्मान, अजहर और शाहिब उर्फ बुडला के तौर पर हुई। चारों पीड़िता के गॉंव के ही रहने वाले हैं। अजहर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य की तलाश जारी है।

पुलिस क्षेत्राधिकारी अखिलेश भदौरिया के हवाले से खबरों में बताया गया है कि पीड़िता का मेडिकल करवा कर आरोपितों को पॉक्सो एक्ट के तहत नामजद किया गया है। बताया जाता है कि लड़की जिस जगह मिट्टी लेने गई थी वह उसके घर से महज तीन सौ मीटर दूर है। लौटते वक्त वह दादी के पीछे-पीछे चल रही थी। इसी दौरान आरोपितों ने अचानक उसका मुॅंह कपड़े से दबा दिया और उसे गन्ने के खेत में खींच कर ले गए।

कुछ दूर चलने के बाद जब दादी को एहसास हुआ कि पोती साथ में नहीं है तो उसने घर आकर लोगों को इसकी जानकारी दी। काफी तलाश के बाद किशोरी गन्ने के खेत में बदहवास हालत में मिली। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस गॉंव पहुॅंची और किशोरी मेडिकल परीक्षण के लिए अस्पताल भेजा।

किशोरी के साथ गैंगरेप: ‘दैनिक जागरण’ के मेरठ संस्करण में छपी ख़बर

गौरतलब है कि बीते दिनों इसी तरह यूपी के कौशांबी में घास लेकर लौट रही दलित नाबालिग के साथ गैंगरेप को अंजाम दिया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,361FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe