Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजमुस्लिम युवक का अपहरण, बाँध कर घंटों तक पीटा: कुछ लोगों को BJP से...

मुस्लिम युवक का अपहरण, बाँध कर घंटों तक पीटा: कुछ लोगों को BJP से जोड़ने पर उसके समाज के लोग थे नाराज, मामला दर्ज

कच्छ जिले की मांडवी पुलिस ने अकबरशा अब्दुल्शा सैयद, हकीम्शा कदरशा सैयद, जैनुलशा कासमशा सैयद और अलियासगर इब्राहिमशा सैयद के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 365, 341, 323, 506 (2) और 120 (बी) के तहत शिकायत दर्ज की है। ऑपइंडिया इस मामले पर ज़मीनी स्तर से और अधिक जानकारी एकत्र करने का प्रयास कर रहा है।

गुजरात के कच्छ स्थित मांडवी इलाके में 10 मई को एक चौंकाने वाली घटना सामने आई। मेरौ गाँव में रहने वाले एक मुस्लिम युवक को इसलिए पीटा गया, क्योंकि उसने अपने परिचितों को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से जोड़ा था। पीड़ित की पहचान अलीमामद इलियास शिरू के रूप में हुई है। आरोपितों ने अलीमामद का अपहरण कर उसे घंटों तक बाँध कर रखा और उसके साथ मारपीट की।

इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में वह इस हमले के लिए साजिशकर्ताओं को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। दरअसल, पास के गाँव शिरवा में रहने वाले अलीममद के कुछ मुस्लिम मित्रों ने मौजूदा लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा का समर्थन किया था। कॉन्ग्रेस का समर्थन करने वाले बदमाशों को संदेह था कि इसके लिए लोगों को राजी करने में अलीममद की भूमिका थी।

इसके बाद 10 मई को अकबरशा सैयद, हाकिमशा सैयद, जैनुलशा सैयद और अलियासगर सैयद ने अलीमामद का अपहरण कर लिया। अलीमामद उस समय सड़क पर जा रहा था। बाद में लोगों ने उसकी पिटाई की और उसे कई घंटों तक बाँध कर रखा। इसके बाद उन्होंने पीड़ित को घायल हालत में सड़क पर फेंक दिया। बाद में उन्हें इलाज के लिए 108 (आपातकालीन चिकित्सा देखभाल) में ले जाया गया।

अलीमामद ने एक वीडियो भी रिकॉर्ड किया है, जिसमें उसने बताया कि हमले के बाद उसका पेशाब बंद हो गया है। उसने कहा, “अगर मुझे कुछ होता है, मुझे दिल का दौरा पड़ता है या मैं आत्महत्या कर लेता हूँ तो मेरी मौत के लिए अकबरशा सैयद, हकीमशा सैयद, जैनुलशा सैयद और अलीअसगर सैयद को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।” उसने फुटेज में कुछ अन्य लोगों के नामों का भी उल्लेख किया है।

कच्छ जिले की मांडवी पुलिस ने अकबरशा अब्दुल्शा सैयद, हकीम्शा कदरशा सैयद, जैनुलशा कासमशा सैयद और अलियासगर इब्राहिमशा सैयद के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 365, 341, 323, 506 (2) और 120 (बी) के तहत शिकायत दर्ज की है। ऑपइंडिया इस मामले पर ज़मीनी स्तर से और अधिक जानकारी एकत्र करने का प्रयास कर रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET-UG विवाद: क्या है NTA, क्यों किया गया इसका गठन, किस तरह से कराता है परीक्षाओं का आयोजन… जानिए सब कुछ

सरकार ने परीक्षाओं के पारदर्शी, सुचारू और निष्पक्ष संचालन को सुनिश्चित करने के लिए विशेषज्ञों की एक उच्च स्तरीय समिति की घोषणा की है

हिंदुओं का गला रेता, महिलाओं को नंगा कर रेप: जो ‘मालाबर स्टेट’ माँग रहे मुस्लिम संगठन वहीं हुआ मोपला नरसंहार, हमें ‘किसान विद्रोह’ पढ़ाकर...

जैसे मोपला में हिंदुओं के नरसंहार पर गाँधी चुप थे, वैसे ही आज 'मालाबार स्टेट' पर कॉन्ग्रेसी और वामपंथी खामोश हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -