Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजजुम्मा ने 5 साल में मार डाले अपने ही 5 बच्चे, बेटियों को बेहोश...

जुम्मा ने 5 साल में मार डाले अपने ही 5 बच्चे, बेटियों को बेहोश कर नहर में फेंक दिया था

जुम्मा ने पंचायत के सामने कबूल किया कि उसने पिछले 5 सालों में अपने सभी 5 बच्चों को मार डाला है। सबसे पहले, उसका एक बेटा 5 साल पहले सोते हुए मृत पाया गया था। फिर, कुछ साल बाद, खेलते समय उसकी बेटी की अचानक मृत्यु हो गई थी।

हरियाणा में जुम्मा नाम के एक शख्स को जींद पुलिस ने उसकी दो बेटियों- मुस्कान (11) और निशा (7) के क़त्ल के मामले में गिरफ्तार किया है। सफीदों कस्बे के दीदवारा गाँव से 15 जुलाई को लापता होने के बाद पुलिस ने 20 जुलाई को हांसी-बुटाना लिंक (एचबीएल) नहर से उनका शव बरामद किया था। जुम्मा ने पंचायत के सामने ही 5 साल में अपने 5 बच्चों की हत्या की बात भी कबूली है।

गुमशुदा लड़कियों के शव से हुआ था संदेह

गुमशुदा लड़कियों की शिकायत उसके पिता जुम्मा, जो कि एक मजदूर है और उनकी गर्भवती पत्नी द्वारा दर्ज की गई थी, जो अपने छठे बच्चे को जन्म देने वाली थी। हालाँकि, जिस तरह से दोनों लड़कियों के शव नहर से बरामद किए गए, उससे उनकी हत्या की आशंका को लेकर पुलिस को संदेह हुआ। पुलिस ने इसके बाद हत्या का मामला दर्ज किया।

इस बीच, आरोपित जुम्मा ने बेटियों की हत्या के अपराध को यह दावा करते हुए स्वीकार किया कि उसने ऐसा कैथल के एक आलिम के कहने पर अपनी गरीबी को खत्म करने के लिए किया। पुलिस के मुताबिक, उसने बेटियों को नशीला पदार्थ पिलाया और बेहोश होने के बाद उन्हें नहर में फेंक दिया।

जुम्मा ने कबूली अपने सभी 5 बच्चों की हत्या की बात

जुम्मा ने अपनी 2 बेटियों का ही कत्ल नहीं किया था। जुम्मा ने पंचायत के सामने कबूल किया कि उसने पिछले 5 सालों में अपने सभी 5 बच्चों को मार डाला है। सबसे पहले, उसका एक बेटा 5 साल पहले सोते हुए मृत पाया गया था। फिर, कुछ साल बाद, खेलते समय उसकी बेटी की अचानक मृत्यु हो गई थी।

एक साल पहले, उसके दूसरे बेटे को उल्टी शुरू हुई और बाद में उसकी मृत्यु हो गई। हालाँकि, असामान्य और रहस्यमयी परिस्थितियों में होने वाली मौतों के बावजूद, इस आदमी ने पहले अपने तीन बच्चों के पोस्टमॉर्टम के लिए किसी डॉक्टर या अस्पताल का रुख भी नहीं किया।

जुम्मा और उसकी पत्नी ने हमेशा यही जाहिर किया कि वह अपने बच्चों की असामान्य मौत को लेकर चिंतित हैं। जुम्मा के अपने गुनाह स्वीकार करने के बाद वहाँ मौजूद सभी लोग चौंक गए।

उसके कबूलनामे से हैरान ग्रामीणों ने उसे पुलिस को सौंप दिया, लेकिन पुलिस ने उसके खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई नहीं की। उस व्यक्ति ने लगभग 30 ग्रामीणों के सामने फिर से अपना अपराध स्वीकार कर लिया, जिसके बाद पुलिस को बुलाया गया और उसे उनके हवाले कर दिया गया।

जुम्मा के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए, जींद जिले के डीआईजी, अश्विन शेणवी ने कहा, “प्रथम दृष्टया उसने अपने अपराधों को स्वीकार किया, लेकिन मामले में अधिक जानकारी का इंतजार है। हम मामले की जाँच कर रहे हैं और जल्द ही मामले को सार्वजनिक करेंगे।”

एएसपी अजीत सिंह शेखावत ने बताया कि अपने पॉंच बच्चों की हत्या के जुर्म में जुम्मा को गिरफ्तार कर लिया है। उसने हाल ही में अपनी दो बेटियों औरर उससे पहले तीन अन्य बच्चों की हत्या की बात कबूली है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

निहंगों ने की दलित युवक की हत्या, शव और हाथ काट कर लटका दिए: ‘द टेलीग्राफ’ सहित कई अंग्रेजी अख़बारों के लिए ये ‘सामान्य...

उन्होंने (निहंगों ) दलित युवक की नृशंस हत्या करने के बाद दलित युवक के शव, कटे हुए दाहिने हाथ को किसानों के मंच से थोड़ी ही दूर लटका दिया गया।

मुस्लिम भीड़ ने पार्थ दास के शरीर से नोचे अंग, हिंदू परिवार में माँ-बेटी-भतीजी सब से रेप: नमाज के बाद बांग्लादेश में इस्लामी आतंक

इस्‍कॉन से जुड़े राधारमण दास ने ट्वीट कर बताया कि पार्थ को बुरी तरह से पीटा गया था कि जब उनका शव मिला तो शरीर के अंदर के हिस्से गायब थे। 

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,877FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe