Saturday, June 25, 2022
Homeदेश-समाजहरियाणा: नूंह के जमालगढ़ गाँव में छापेमारी, घरों में बने थे गोदाम, 2572 गायों...

हरियाणा: नूंह के जमालगढ़ गाँव में छापेमारी, घरों में बने थे गोदाम, 2572 गायों की खाल बरामद

छापेमारी के दौरान जब पुलिस आसिफ नाम के एक शख्स के घर पहुँची तो पाया कि 9 लोग टाटा 407 वाहन पर गाय की खाल लोड कर रहे थे। पुलिस को देखते ही सभी आरोपित कार को छोड़ कर भाग गए। आरोपितों की पहचान निन्ना उर्फ निज़ाम, सलामू, दीनू, अहमद हुसैन, बाबुदीन, असर, इलियास और मामन के रूप में हुई है।

हरियाणा के नूंह जिले में चल रहे बड़े पैमाने पर तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस ने एक तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान पुलिस ने जमालगढ़ गाँव से लोगों के घरों और गोदामों से 2,572 गोवंश की खाल बरामद की। साथ ही पुलिस ने गाँव से एक टाटा 407 वाहन भी बरामद किया।

गोवंशों को रखने वालों के खिलाफ पुन्हाना पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने आश्वासन दिया है कि मामले में शामिल सभी तस्करों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, एसपी के आदेशों का पालन करते हुए, डीएसपी विवेक चौधरी ने 10 जून की सुबह 5 बजे से 7 बजे तक जमालगढ़ गाँव में तलाशी अभियान चलाया। तलाशी अभियान शुरू करने से पहले पुलिस ने गाँव को सील कर दिया था ताकि कोई भी गाँव से भाग न सके। इसके बाद हर घर, हर दरवाजे पर जाकर सर्च अभियान चलाया गया।

तलाशी के दौरान पुलिस को गाँव से बड़ी संख्या में गाय की खाल और एक वाहन मिला। पुलिस को मुखबिरों से सूचना मिली थी कि गाँव के कुछ निवासी दिल्ली और हापुड़ में गाय के मांस और उसकी खाल को बेचने के लिए गोहत्या करते हैं। मुखबिर ने पुलिस को बताया कि यदि उन्होंने गाँव में छापेमारी को तो भारी मात्रा में गोवंश बरामद होंगे।

छापेमारी के दौरान जब पुलिस आसिफ नाम के एक शख्स के घर पहुँची तो पाया कि 9 लोग टाटा 407 वाहन पर गाय की खाल लोड कर रहे थे। पुलिस को देखते ही सभी आरोपित कार को छोड़ कर भाग गए। आरोपितों की पहचान निन्ना उर्फ निज़ाम, सलामू, दीनू, अहमद हुसैन, बाबुदीन, असर, इलियास और मामन के रूप में हुई है। इन सभी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

पुलिस ने वाहन से तकरीबन 414 गायों की खाल बरामद की। इसके बाद उन्होंने असर के घर में बने एक गोदाम पर छापा मारा जहाँ से 620 गायों की खालें मिलीं। निज़ामू, फ़ारुख, हसीम के घरों में बने गोदामों पर छापे से कुल 1060 गायों की खालें बरामद हुई।

इसके बाद दीनू, अहमद हुसैन, इलियास और मामन के घरों में बने गोदामों पर छापे मारे गए। जहाँ से कुल 478 गायों की खाल मिली। अभियुक्त निन्नह उर्फ निजाम, फारूक, हासिम, दीनू, अल्ली, आसिफ, निजाम, मुस्तकीम, नियाजू कुल 2572 गाय की खाल और एक टाटा 407 के साथ पाए गए।

गौरतलब है कि हरियाणा पशु तस्करों के लिए फलते-फूलते मैदान के रूप में उभरा है। जुलाई 2019 में गो-तस्करों का विरोध करने पर गोपाल नाम के एक युवक की हत्या कर दी गई थी। इसी तरह, हरियाणा और यूपी में पशु तस्करों द्वारा हिंसक हमलों के कई मामले सामने आए हैं। ऐसे भी कई मामले सामने आए हैं, जब पशु तस्करों ने पुलिस पर गोली चलाए। हरियाणा के मेवात को पशु तस्करी और अवैध वध का केंद्र माना जाता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘…तो मुंबई जल जाती है’ – खत्म हो रही शिवसेना, रोते हुए धमकी दे रहे कॉन्ग्रेसी मंत्री: मुंबई पुलिस हाई अलर्ट

कॉन्ग्रेस नेता नितिन राउत ने आशंका जताई है कि अगर राज्य में शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने हिंसा की तो केंद्र को राष्ट्रपति शासन का बहाना मिलेगा।

‘द्रौपदी राष्ट्रपति तो पांडव और कौरव कौन हैं?’: राम गोपाल वर्मा के ओछे कमेंट पर हैदराबाद पुलिस ने दर्ज की शिकायत, बीजेपी नेता की...

पुलिस द्वारा एससी / एसटी अधिनियम लागू किया जाना चाहिए और निर्देशक को कड़ी सजा मिलनी चाहिए। पुलिस ने कहा कि कानूनी राय के बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,159FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe