Tuesday, September 28, 2021
Homeदेश-समाजश्री नयना देवी में मील के पत्थरों पर लिखे गए खालिस्तान समर्थक नारे, श्रद्धालुओं...

श्री नयना देवी में मील के पत्थरों पर लिखे गए खालिस्तान समर्थक नारे, श्रद्धालुओं में दहशत फैलाने की कोशिश

स्थानीय पुलिस ने बताया कि सड़क के मील के पत्थर पर खालिस्तानी नारे लिखना शरारती तत्वों की करतूत है, जो माहौल खराब करने और लोगों में दहशत पैदा करने पर आमादा हैं।

हिमाचल प्रदेश में श्री नयना देवी-कोलां वाला टोबा सड़क पर खालिस्तानी आतंकवादी संगठन और जरनैल सिंह भिंडरावाले के समर्थन में नारे लिखे गए हैं। असामाजिक तत्वों ने इन पत्थरों पर खालिस्तान की हद शुरू, खालिस्तान बिच तुहाड्डा स्वागत है, खालिस्तान जिंदाबाद लिखा है। वहीं पुलिस और आम लोग इसे शरारती तत्वों का काम बताते हुए इलाके में माहौल खराब करने की साजिश बता रहे हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक स्थानीय पुलिस ने बताया कि सड़क के मील के पत्थर पर खालिस्तानी नारे लिखना शरारती तत्वों की करतूत है, जो माहौल खराब करने और लोगों में दहशत पैदा करने पर आमादा हैं। पुलिस ने कहा कि खालिस्तानी नारों के साथ मील के पत्थर को खराब करने के लिए जिम्मेदार लोगों का पता लगाने के लिए जाँच के आदेश दिए गए हैं। डीएसपी श्री नयना देवी जी पूर्ण चंद ने कहा कि पुलिस जल्द ही तोड़फोड़ के लिए दोषी लोगों का पता लगाकर उन्हें गिरफ्तार करेगी।

बताया जा रहा है कि यह मामला तब प्रकाश में आया जब स्थानीय लोगों ने प्रशासन को इसके बारे में अवगत करवाया। लोगों ने देखा कि जगह-जगह पर पेंट से और मार्कर पेन से खालिस्तान जिंदाबाद, खालिस्तान में शामिल हो और पंजाबी भाषा में जनमत संग्रह 2021 व एसएसजे में शामिल हो लिखा है। कोलां वाला टोबा से गाड़ियों में आने वाले हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं की नजर इन पत्थरों पर पड़ रही है। 

गौरतलब है कि इस साल श्री नयना देवी में श्रावण अष्टमी के मेले आरंभ होने जा रहे हैं। हजारों श्रद्धालु श्री नयना देवी में श्रावण अष्टमी मनाने के लिए कोलां वाला टोबा से यात्रा कर रहे हैं। ऐसे में असामाजिक तत्वों की करतूतों से हड़कंप मच गया है, जिससे लोगों में यह संदेह बढ़ रहा है कि ये लोग उत्सव को बाधित करना चाहते हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,789FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe