Saturday, May 18, 2024
Homeदेश-समाज'नाबालिग लड़की का हाथ पकड़ना, प्यार का इजहार करना... यौन उत्पीड़न नहीं': POCSO कोर्ट...

‘नाबालिग लड़की का हाथ पकड़ना, प्यार का इजहार करना… यौन उत्पीड़न नहीं’: POCSO कोर्ट का फैसला, आरोपित 28 साल का

अदालत ने पाया कि आरोपित ने न तो पीड़िता का पीछा किया था और न ही उसे किसी सुनसान इलाके में ले जाने की कोशिश की थी।

एक विशेष POCSO (यौन अपराध से बच्चों का संरक्षण अधिनियम) अदालत ने फैसला दिया है कि किसी नाबालिग का हाथ पकड़ के प्यार का इजहार करना यौन शोषण के अंतर्गत नहीं आता है। साथ ही अदालत ने 28 वर्षीय आरोपित को भी बरी कर दिया। अदालत ने कहा कि ये ‘यौन प्रताड़ना’ के अंतर्गत नहीं आता है। आरोपित ने 2017 में एक 17 साल की लड़की का हाथ पकड़ के प्यार का इजहार किया था।

विशेष POCSO अदालत ने कहा कि ऐसे कोई सबूत नहीं मिले हैं, जिससे पता चलता हो कि आरोपित की कोई गलत मंशा थी। अदालत ने पाया कि इस मामले में यौन अपराध की कोई मंशा नहीं थी, इसीलिए ये यौन अपराध नहीं है। आरोपित ने न तो पीड़िता का पीछा किया था और न ही उसे किसी सुनसान इलाके में ले जाने की कोशिश की थी। साथ ही आपराधिक बल का इस्तेमाल भी नहीं किया था।

विशेष POCSO अदालत ने कहा कि आरोपित ने ऐसा कुछ भी नहीं किया था, जिससे 17 वर्षीय नाबालिग के सम्मान को ठेस पहुँचे। अदालत ने कहा कि प्रॉसिक्यूशन पक्ष ये साबित करने में नाकाम रहा कि आरोपित ने वो अपराध किए हैं जैसा उनके द्वारा कहा जा रहा है। अदालत ने आरोपित को ‘संदेह का लाभ’ देते हुए बरी कर दिया। बता दें कि 2012 में बने इस कानून में 2018 में बदलाव किए गए थे और बच्चों के यौन शोषण के मामले में सख्त सज़ा व विशेष अदालत का प्रावधान किया गया था।

कुछ ही दिनों पहले जम्मू कश्मीर हाईकोर्ट के एक फैसले को लेकर विवाद हुआ था। अदालत ने कहा था कि अदालत ने कहा कि बगैर पेनिट्रेशन के आरोपित द्वारा अपने और पीड़िता के कपड़े उतारने को बलात्कार का प्रयास नहीं माना जा सकता। आरोपित फैयाज अहमद डार पर अपनी ही नाबालिग भतीजी से रेप की कोशिश के आरोप थे। नाबालिग पीड़िता के मुताबिक, आरोपित ने टेप से उसका मुँह बंद कर दिया था और उसने उसकी और अपनी पैंट उतार दी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘AAP झूठ की बुनियाद पर बनी पार्टी, इसकी विश्वसनीयता शून्य नहीं, माइनस में’ – BJP के साथ स्वाति मालीवाल मुद्दे पर जेपी नड्डा का...

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि स्वाति मालीवाल लंबे समय से भाजपा नेताओं के संपर्क में हैं और उनके ही इशारे पर ये साजिश रची गई।

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह...

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -