Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाज'...जो नामुमकिन था, उसे IAF ने आसान कर दिखाया'- जान बचाने पर वायु सेना...

‘…जो नामुमकिन था, उसे IAF ने आसान कर दिखाया’- जान बचाने पर वायु सेना को बिलासपुर पुलिस ने किया सैल्यूट

बिलासपुर पुलिस, स्टेट डिजास्टर रिस्पॉन्स फंड, एनटीपीसी और एसईसीएल की टीमों ने जब फँसे युवक की जान बचाने में सफलता नहीं पाई तो भारतीय वायु सेना के जाँबाजों ने...

देश के कई हिस्सों में भारी बारिश के कारण स्थिति वाकई बेहद खराब है। ऐसे में छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से एक ऐसी घटना सामने आई, जहाँ स्थिति ऐसी हो गई थी कि मौसम खराब होने के बावजूद IAF को खुद मौके पर पहुँचना पड़ा

दरअसल, बिलासपुर के पास खूंटाघाट डैम में तेज बारिश के दौरान एक शख्स फँस गया था। जिसे पहले बिलासपुर टीम ने रेस्क्यू करने की बहुत कोशिश की। लेकिन वह इस प्रयास में असफल रहे। इसके बाद उन्होंने IAF को संपर्क किया।

बिलासपुर रेंज के इंस्पेक्टर जनरल दिपांशु काबरा ने स्वयं इस वीडियो को ट्विटर पर शेयर किया। उन्होंने बताया कि 34 वर्षीय जीतेंद्र कुमार कश्यप खूँटाघाट में कूदा लेकिन पानी के भारी बहाव के कारण वह वहाँ से निकल नहीं पाया।

उन्होंने पहले बताया कि डैम में फँसा हुआ युवक रविवार से छोटे से पेड़ से टिका हुआ था। आसपास लोगों की भीड़ उमड़ी थी। अंधेरा होने के बाद पुलिस सक्रिय हुई। दीपक काबरा ने बताया कि बिलासपुर पुलिस, स्टेट डिजास्टर रिस्पॉन्स फंड (एसडीआरएफ), एनटीपीसी और एसईसीएल की टीमों ने रात भर उसे बचाने और निकालने की कोशिश की, लेकिन कई प्रयासों के बावजूद उस व्यक्ति को रेस्क्यू नहीं किया जा सका।

उन्होंने कहा कि फँसा हुआ व्यक्ति रात भर पत्थर पर बैठा हुआ था। भारी बहाव, खराब मौसम और अंधेरा होने के कारण युवक ठीक से नजर भी नहीं आ रहा था।

एसपी प्रशांत अग्रवाल ने भी कहा कि रेस्क्यू टीम रविवार शाम से मौके पर थी, लेकिन बहाव बहुत तेज था। इसके चलते रेस्क्यू में दिक्कत हो रही थी।

दीपक काबरा ने भी अपने ट्वीट में यही बताया कि जब बहुत हालत बहुत खराब हो गई तो भारतीय वायु सेना से हेलीकॉप्टर भेजने का अनुरोध किया गया।

वे आगे लिखते हैं, “जो हमारे लिए असंभव लग रहा था, उसे भारतीय वायुसेना ने बेहद आसान कर दिया।” उन्होंने वीडियो शेयर करते हुए दिखाया कि कैसे एक वायु सैनिक ने स्वयं की जान को खतरे में डालकर खुद पानी में जाकर व्यक्ति को लाने का फैसला किया। लेकिन तेज हवा के कारण ये मुमकिन नहीं हो पाया। बाद में किसी और तरीके से युवक का रेस्क्यू किया गया।

पूरे ऑपरेशन के वीडियो को शेयर करते हुए बिलासपुर पुलिस ने भारतीय वायु सेना को इतने प्रतिकूल मौसम में भी ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम देने के लिए सैल्यूट किया। छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश भगेल ने भी युवक को बचाने के लिए IAF को शुभकामनाएँ दीं।

अपनी ओर से जारी बयान में वायुसेना ने बताया कि छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के पास रतनपुर में बाढ़ की चपेट में आए एक व्यक्ति को बचाने के लिए 16 अगस्त को रात 10 बजे एंटी नक्सल टास्क फोर्स के मुख्यालय को सूचना मिली। इसके बाद IAF Mi-17 V5 ने रायपुर से खूघाट बांध के लिए सुबह 05:49 बजे बचाव अभियान के लिए उड़ान भरा।

Mi-17 V5 क्रू ने घटनास्थल पर पहुँचकर मौसम और अवरोधों को देखते हुए साइट को नेविगेट किया। इसके बाद बचाव पट्टी के साथ केबल को नीचे उतारा गया और जीवित बचे व्यक्ति को सुरक्षित बचाया गया। चुनौतीपूर्ण मौसम और प्रतिकूल स्थितियों के बावजूद बचाव मिशन को बेहद व्यावसायिकता के साथ अंजाम दिया गया, जिससे किसी का जीवन बच पाया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -