Sunday, May 29, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षारियाज नाइकू के बाद हिजबुल मुजाहिद्दीन ने गाजी हैदर को बनाया कश्मीर में नया...

रियाज नाइकू के बाद हिजबुल मुजाहिद्दीन ने गाजी हैदर को बनाया कश्मीर में नया कमांडर, सेना ने की अंत की तैयारी

26 वर्षीय गाजी हैदर को सैफुल्लाह मीर के नाम से भी जाना जाता है। उसने मेडिकल की पढाई की है। उसे 'डॉक्टर सैफ' और मुसाहिब के नाम से भी जाना जाता है। इतना ही नहीं वह अक्सर पुलिस मुठभेड़ों में घायल होने वाले आतंकियों का इलाज भी करता है।

अब तक कश्मीर में आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के कंमाडर रहे आतंकी रियाज नायकू के मारे जाने के बाद हिजबुल मुजाहिद्दीन ने गाजी हैदर को कश्मीर का नया कमांडर बनाया है। इसकी जानकारी मिलते ही भारतीय सेना ने इसके अंत की तैयारियाँ शुरू कर दी हैं।

एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक गाजी हैदर को कश्मीर का कंमाडर बनाए जाने पर लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्लों ने ट्वीट करते हुए लिखा, “कितने गाजी आए और कितने गाजी गए।” दरअसल, लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्लों ने पहले श्रीनगर में 15 कोर कमांडर के रूप में काम किया था, उन्होंने कश्मीर घाटी में सभी आतंकवादी रोधी और घुसपैठ रोधी अभियानों को विफल करने में अहम भूमिका निभाई थी।

रिपोर्ट के मुताबिक आतंकी संगठन हिजबुल के प्रमुख सैयद सलाहुदीन की अध्यक्षता में हुई बैठक में कश्मीर में नए कमांडर बनाने का फैसला लिया गया है। इस बैठक में गाजी हैदर को कश्मीर कमांडर के साथ जफर-उल-इस्लाम को डिप्टी कमांडर घोषित किया गया है। वहीं अबु तारिक को चीफ मिलिट्री एडवाइजर बनाया गया है।

जानकारी के मुताबिक 26 वर्षीय गाजी हैदर को सैफुल्लाह मीर के नाम से भी जाना जाता है। उसने मेडिकल की पढाई की है। उसे ‘डॉक्टर सैफ’ और मुसाहिब के नाम से भी जाना जाता है। इतना ही नहीं वह अक्सर पुलिस मुठभेड़ों में घायल होने वाले आतंकियों का इलाज भी करता है। बताते है कि गाजी हैदर दक्षिणी कश्मीर में अफीम की अवैध खेती करने वालों से वसूली करके आतंकी संगठन को देता था।

आपको बता दें कि बुरहान वानी की मौत के बाद 17 अक्टूबर 2016 को जम्मू-कश्मीर में जाकिर मूसा को हिजबुल मुजाहिद्दीन का नया कमांडर बनाया गया था। इसके बाद साल 2017 में रियाज नायकू संगठन का कमांडर बनाया गया था। अब उसकी भी मौत के बाद गाजी हैदर को नया कमांडर बनाया गया है। वहीं भारतीय सेना ने गाजी हैदर को टॉप लिस्ट में लेते हुए उसके अंत की तैयारी करना शुरू कर दी है।

रियाज की मौत के बाद सोशल मीडिया पर आई एक वीडियो में संगठन का प्रमुख सैयद सलाउद्दीन कहता हुआ सुनाई दे रहा था, “मुझे बहुत दिली सदमा हुआ है, लेकिन दोस्तों-बुजुर्गों ये शहादत का सिलसिला पहले दिन से ही चला आ रहा है। सिर्फ 1 जनवरी 2020 से अब तक बहुत से मुजाहिद्दीन अपनी शहादत दे चुके हैं। ये सभी पढ़े-लिखे हैं। मुजाहिद्दीन ने भी हालिया, हंदवाड़ा और राजवाड़ की कार्रवाई में दुश्मन का कमर तोड़ दिया है। लेकिन जरूरी यह है कि इस वक्त दुश्मन (भारत) का पलड़ा भारी है।”

गौरतलब है कि हंदवाड़ा में 6 मई को सेना ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के सबसे बड़े आतंकी रियाज नायकू को मार गिराया था। इस कार्रवाई को सेना, सीआरपीएफ और राष्ट्रीय राइफल्स ने मिलकर अंजाम दिया था। रियाज ने जुलाई 2016 में अनंतनाग में बुरहान वानी की मौत के बाद हिजबुल की कमान संभाली थी। 33 वर्षीय इस आंतकी पर 12 लाख रुपए का इनाम भी था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत के मंदिरों की महारानी: केदार से लेकर काशी तक बनवाए मंदिर-भोजनालय-धर्मशाला, मुगलों के किए नुकसान को पाटने वाली अहिल्याबाई होल्कर

बद्रीनाथ में भक्तों के लिए उन्होंने कई भवनों के निर्माण करवाए। 600 वर्षों तक अहिल्याबाई होल्कर का छत्र भगवान जगन्नाथ की शोभा बढ़ाता रहा।

‘8 साल में कोई ऐसा कार्य नहीं किया, जिससे देश का सिर झुके’: गुजरात में दुनिया का पहला ‘नैनो यूरिया प्लांट’, मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल...

गुजरात में नरेंद्र मोदी ने कहा कि 8 सालों के पीएम कार्यकाल में उन्होंने गलती से भी ऐसा कोई कार्य नहीं किया, जिससे देश को नीचा देखना पड़े।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,679FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe