Sunday, October 17, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षारोती-बिलखती रही अम्मी, आतंकी बेटे ने नहीं किया सरेंडर, सुरक्षा बलों पर करता रहा...

रोती-बिलखती रही अम्मी, आतंकी बेटे ने नहीं किया सरेंडर, सुरक्षा बलों पर करता रहा फायरिंग, मारा गया

हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े दोनों स्थानीय आतंकियों से सेना ने दो एके-47 राइफल, गोलियाँ और अन्य सामग्री बरामद की है। साथ ही ऑपरेशन में घायल हुए जेसीओ समेत तीन सेना के जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले में शनिवार (04 जुलाई, 2020) दोपहर को आतंकियों के साथ शुरू हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने मकान में छिपे दो आतंकियों को ढेर कर दिया। इस दौरान एक माँ अपने आतंकी बेटे से सुरक्षाबलों से सामने रो-रोकर समर्पण करने की गुहार लगाती रही, लेकिन इसके बाद भी आतंकी बेटा सेना के जवानों पर गोलियाँ चलाता रहा। इस पर सेना ने जवाबी कार्रवाई करते हुए आतंकी को ढेर कर दिया।

जानकारी के मुताबिक कुलगाम के आरा इलाके में मौजूद एक मकान में छिपे दो आतंकियों को सूचना के बाद सेना के जवानों ने घेर लिया था। इस बीच एक आतंकी ने फायरिंग करते हुए मकान से निकलकर भागने की कोशिश की तो सुरक्षाबलों ने उसे ढेर कर दिया। वहीं दूसरा आतंकी मकान के अंदर से ही फायरिंग करता रहा। सुरक्षाबलों ने आतंकी की माँ और उसके परिवार के अन्य सदस्यों को मौके पर बुलाकर उसे समर्पण का मौका दिया। 

मुठभेड़ स्थल पर पहुँचकर माँ ने आतंकी बेटे को समझाने की बहुत कोशिशें की। वह बेटे के सामने रोती-गिड़गिड़ाती रही, लेकिन उस पर कोई असर नहीं हुआ और उसने परिवारवालों की समर्पण की गुहार ठुकरा दी। काफी देर तक गुहार लगाने के बाद भी आतंकी समर्पण को तैयार नहीं हुआ। इसके बाद सुरक्षबलों ने उसे भी मुठभेड़ में मौत के घाट उतार दिया।

हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े दोनों स्थानीय आतंकियों से सेना ने दो एके-47 राइफल, गोलियाँ और अन्य सामग्री बरामद की है। साथ ही ऑपरेशन में घायल हुए जेसीओ समेत तीन सेना के जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कुलगाम के पुलिस अधीक्षक गुरिंदरपाल सिंह के मुताबिक आरा इलाके में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना पर पुलिस, सीआरपीएफ और सेना ने घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया था। उन्होंने बताया कि इस ऑपरेशन में जम्मू और कश्मीर पुलिस के जवान शामिल थे।

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर के मलबाग क्षेत्र में गुरुवार (2 जुलाई, 2020) देर रात आतंकियों के साथ सुरक्षाबलों की मुठभेड़ हुई थी। इसमें सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को ढेर कर दिया था। वहीं मुठभेड़ में घायल दो सीआरपीएफ जवानों में से एक वीरगति को प्राप्त हो गए थे। यह मुठभेड़ कश्मीर विश्वविद्यालय के पीछे के क्षेत्र में हुई थी।

पुलिस के अनुसार एनकाउंटर में मारा गया आतंकी पिछले हफ्ते जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) के एक जवान और 6 साल के बच्चे को मारने वाला जाहिद दास था, जोकि अनंतनाग में सुरक्षाबलों द्वारा घेरे जाने के बाद फरार होने में कामयाब हो गया था।

गौरतलब है कि पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर पुलिस ने डोडा जिले को आतंकियों से पूरी तरह मुक्त घोषित किया था। वहीं इस वर्ष जनवरी से जून तक 118 आतंकी मारे जा चुके हैं। इतना ही नहीं जून महीने में ही सुरक्षाबलों ने 51 आतंकियों को मौत के घाट उतारा है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बेअदबी करने वालों को यही सज़ा मिलेगी, हम गुरु की फौज और आदि ग्रन्थ ही हमारा कानून’: हथियारबंद निहंगों को दलित की हत्या पर...

हथियारबंद निहंग सिखों ने खुद को गुरू ग्रंथ साहिब की सेना बताया। साथ ही कहा कि गुरु की फौजें किसानों और पुलिस के बीच की दीवार हैं।

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,137FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe