Friday, June 21, 2024
Homeविविध विषयअन्यबेवफाई, टॉर्चर, गाली… 6 पन्नों में सब कुछ लिखकर गई थीं जिया खान, 10...

बेवफाई, टॉर्चर, गाली… 6 पन्नों में सब कुछ लिखकर गई थीं जिया खान, 10 साल बाद कोर्ट ने सूरज पंचोली को कर दिया बरी: सुसाइड के लिए उकसाने का था आरोप

जिया खान सुसाइड केस में आज (28 अप्रैल 2023) 10 साल बाद मुंबई में सीबीआई की विशेष अदालत ने अपना फैसला सुनाया। उन्होंने सूरज पंचोली पर लगे सभी आरोपों से उनको बरी कर दिया।

बॉलीवुड एक्ट्रेस जिया खान सुसाइड केस में आज (28 अप्रैल 2023) 10 साल बाद मुंबई में सीबीआई की विशेष अदालत ने अपना फैसला सुनाया। उन्होंने सूरज पंचोली पर लगे सभी आरोपों से उनको बरी कर दिया। 10 साल पहले उन्हें जिया को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

सीबीआई अदालत के जज एएस सैय्यद ने जिया खान सुसाइड केस में कहा, “सबूतों की कमी के कारण यह अदालत सूरज पंचोली को दोषी नहीं ठहरा सकती है, इसलिए बरी किया जाता है।”

बता दें कि गजनी जैसी फिल्में करने वाली जिया खान ने 3 जून 2013 को अपने फ्लैट पर सुसाइड की थी। उस समय उनकी उम्र केवल 25 साल थी। अपने पीछे उन्होंने 6 पन्नों का नोट छोड़ा था जिससे साफ पता चल रहा था कि उन्होंने सूरज पंचोली का अपने प्रति बुरा रवैया देख आत्महत्या की। उनके लेटर के आधार पर एक्टर को गिरफ्तार किया गया था और अब 10 बाद कोर्ट ने उन्हें लेकर अपना फैसला सुनाया।

अब आइए जानते हैं कि आखिर सूरज पंचोली के नाम लिखे उस 6 पन्नों के लेटर में क्या था?

जिया ने पत्र में लिखा था, “मुझे नहीं पता कि मैं तुमसे यह कैसे कहूँ लेकिन मैं अब यह कह सकती हूँ क्योंकि मेरे पास खोने के लिए कुछ नहीं है। मैं पहले ही सब कुछ खो चुकी हूँ, अगर तुम इसे पढ़ रहे हैं तो हो सकता है कि मैं पहले ही जा चुकी हूँ या जाने वाली हूँ। मैं अंदर से टूट चुकी हूँ।”

जिया ने सूरज को कहा था कि उन्हें अब रौशनी की किरण भी नहीं दिखाई देती। उन्होंने सूरज को टूट कर प्यार किया मगर वो सिर्फ पार्टियों और लड़कियों में ही उलझे रहे। अपने लेटर में एक्ट्रेस ने लिखा था कि वो सूरज को खुश करने के लिए सब करती थीं। उन्हें प्रेगनेंट होने का डर था। बावजूद इसके उन्होंने खुद को सौंप दिया। उन्हें लगा था कि चीजें बेहतर होंगी। मगर इसके बदले उन्हें गालियाँ मिलीं, धमकी मिली, मारपीट की और धोखेबाजी की।

लेटर में ये भी बताया गया था कि कैसे सूरज पंचोली उन्हें रात में धक्के देकर बाहर निकाल देते थे। मुँह पर झूठ बोलते थे। परिवार को बेइज्जत करते थे। बहन से नहीं मिलते थे। जिया ने लिखा था, “तुमने मेरी आत्मा को नोचा। मेरे पास अब जीने की वजह नहीं है। मैं सिर्फ प्यार ही चाहती थी, उसके लिए, मैंने सब कुछ किया।”

इस लेटर में जिया की प्रेगनेंसी, अबॉर्शन का भी जिक्र था। एक्ट्रेस ने लिखा था कि उन्हें सिर्फ और सिर्फ सूरज से दूर होना, उनसे धोखा मिलना ही खला। यही वो वजह हैं जिसकी वजह से वो गहरी नींद में सोना चाहती हैं। उन्होंने लिखा था कि अगर वो जिंदा रहीं तो उन्हें सूरज के लौटने की उम्मीद रहेगी इसलिए वो हमेशा के लिए जा रही हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली की अदालत ने ED के दस्तावेज पढ़े बिना ही CM केजरीवाल को दे दी थी जमानत, कहा- हजारों पन्ने पढ़ने का समय नहीं:...

निचली अदालत ने ED द्वारा केजरीवाल की गिरफ्तारी को 'दुर्भावनापूर्ण' बताया और दोनों पक्षों के दस्तावेजों को पढ़े बिना ही जमानत दे दी।

दिल्ली ही नहीं आंध्र प्रदेश में भी है एक ‘शीशमहल’, जगन मोहन रेड्डी ने CM रहते पहाड़ को काटकर खड़ा कर दिया ₹500 करोड़...

रुशिकोंडा पहाड़ों की पहले और अब की तस्वीर देखने के बाद लोग पूर्व सीएम जगन मोहन रेड्डी की तुलना दिल्ली के सीएम केजरीवाल और उनके 'महल' की तुलना 'शीशमहल' से कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -