Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजJNU प्रोफेसर ने चाइनीज में भेजे अश्लील मैसेज, सहेलियों से पूछा पीड़िता का पता:...

JNU प्रोफेसर ने चाइनीज में भेजे अश्लील मैसेज, सहेलियों से पूछा पीड़िता का पता: यौन उत्पीड़न से परेशान हो छात्रा ने छोड़ा कैंपस, दिल्ली पुलिस ने लिया एक्शन

छात्रा का आरोप है कि प्रोफेसर चीनी भाषा में लिखी हुई अश्लील कविताएँ भी भेजता था, उसे चैम्बर में अकेले मिलने के लिए बुलाता था। वह ऐसा ना करने पर उसे फेल करने की धमकी देता था। उसने कक्षा में भी ऐलान किया था कि वह छात्रा के ना आने पर उसे फेल कर देगा।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में पढ़ाने वाला एक प्रोफेसर अपनी एक छात्रा को अश्लील मैसेज भेजता था। वह छात्रा को अकेले मिलने के लिए बुलाता था। ऐसा ना करने पर प्रोफ़ेसर ने छात्रा को फेल करने की धमकी भी दी। अब दिल्ली पुलिस ने उसके खिलाफ यौन उत्पीड़न मामले में कार्रवाई चालू कर दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दिल्ली पुलिस ने प्रोफ़ेसर को पेश होने को कहा है और आगे चार्जशीट दायर करने की तैयारी कर रही है। पुलिस ने छात्रा का बयान भी ले लिया है और उससे अश्लील चैट के स्क्रीनशॉट लेकर जाँच चालू कर दी है। पुलिस अब इस मामले की जाँच करके और भी तथ्य तलाशने का प्रयास कर रही है।

गौरतलब है कि अप्रैल, 2024 को JNU के भाषा स्कूल में चाइनीज और साउथ ईस्ट एशियन स्टडीज विभाग के एक प्रोफेसर के विरुद्ध एक छात्रा ने दिल्ली के वसंत कुंज (उत्तरी) थाने में यौन उत्पीड़न की एक FIR दर्ज करवाई थी। छात्रा ने इसमें आरोप लगाया था कि प्रोफ़ेसर उसे लगातार फोन और मैसेज करता था।

छात्रा का आरोप है कि प्रोफेसर चीनी भाषा में लिखी हुई अश्लील कविताएँ भी भेजता था, उसे चैम्बर में अकेले मिलने के लिए बुलाता था। वह ऐसा ना करने पर उसे फेल करने की धमकी देता था। उसने कक्षा में भी ऐलान किया था कि वह छात्रा के ना आने पर उसे फेल कर देगा।

छात्रा ने इसके बाद परेशान होकर JNU छोड़ दिया था और अपने घर चली गई थी। छात्रा की सहेली ने इस मामले में आरोप लगाया था कि प्रोफ़ेसर पीड़िता के बारे में पूछताछ करता रहता था। प्रोफ़ेसर ने कुछ ऐसी फ़िल्में भी बताई थी जिनमें छात्र-शिक्षक प्रेम सम्बन्धों को दिखाया गया हो। सहेली का यह भी आरोप है कि प्रोफ़ेसर ने पीड़िता को बिना सहमति के गले लगाया।

JNU की आंतरिक मामलों की समिति ने भी इसकी जाँच की है। समिति ने प्रोफ़ेसर पर कार्रवाई करते हुए उसे कक्षाएँ लेने से रोक दिया है। अब दिल्ली पुलिस आगे कार्रवाई कर रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -