Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाज'हम ही पीड़ित, हम पर ही केस': जोधपुर के दलित परिवार का फूटा दर्द,...

‘हम ही पीड़ित, हम पर ही केस’: जोधपुर के दलित परिवार का फूटा दर्द, बकरामंडी से निकली मुस्लिम भीड़ ने किया था हमला

"इस समय मैं और मेरा भाई सज्जन राम दोनों पुलिस कस्टडी में हैं। मेरे सिर को फोड़ दिया गया और मेरे हाथ में फैक्चर हुआ है। मेरे भाई को भी चोटें आई हैं। इसके बाद भी हम दोनों भाईयों को कस्टडी में बिठा लिया गया है।"

राजस्थान के जोधपुर में कल 26 मई 2022 (गुरुवार) को पाकिस्तान के एक शरणार्थी हिन्दू परिवार पर लगभग 300 की भीड़ द्वारा पथराव और हमले का आरोप लगा था। दलित समुदाय के पीड़ित भूरालाल का आरोप था कि उनके परिवार के कई लोगों को चोटें आईं हैं। बताया गया था कि विवाद 2 गाड़ियों के आपस में टकराने से शुरू हुआ जिसके बाद बकरामंडी से निकली भीड़ ने पीड़ित के घर पथराव किया था। पुलिस ने इसे 2 पक्षों का झगड़ा बता कर कार्रवाई की बात कही थी। वहीं पथराव करने वालों पर भी FIR दर्ज कर ली गई है।

घर के सामने दिखे मुस्लिम समुदाय के लोग और पुलिस

पीड़ित परिवार द्वारा भेजे गए वीडियो में कुछ मुस्लिम समुदाय के लोग पीड़ित परिवार के घर के आगे खड़े दिखाई दे रहे हैं। मौके पर पुलिस भी है। उन सभी में आपस में बहस होती सुनाई दे रही है। एक अन्य वीडियो में पीड़ित परिवार की महिलाओं को घरों के अंदर भागते देखा जा सकता है।

लूट लिया हमारी दुकान का सामान

ऑपइंडिया से बीती रात बात करते हुए पीड़ित भूरालाल ने बताया, “हम पर अचानक ही लगभग 300 की भीड़ ने हमला किया। हम सिर्फ 3 भाई थे मौके पर। हम किराने की दुकान चलाते हैं। हमारी मारुति वैन को तोड़ डाला गया और भीड़ ने हमारी दुकान से सामान लूट लिया।”

क्षतिग्रस्त कार और उसमें बिखरा सामान

हम ही पीड़ित, हम पर ही केस

भूरालाल ने आगे बताया, “इस समय मैं और मेरा भाई सज्जन राम दोनों पुलिस कस्टडी में हैं। मेरे सिर को फोड़ दिया गया और मेरे हाथ में फैक्चर हुआ है। मेरे भाई को भी चोटें आई हैं। इसके बाद भी हम दोनों भाईयों को कस्टडी में बिठा लिया गया है। पुलिस ने हम दोनों पर धारा 151 की कार्रवाई की बात कही है। ये हमारे साथ गलत हो रहा है।”

भूरालाल ने ऑपइंडिया को अपनी कुछ तस्वीरें भी भेजी हैं।

पीड़ित सज्जन राम

उनकी मदद को कई लोग, हमारी तरफ से कोई नहीं

भूरालाल ने आगे बताया, “दूसरी तरफ से जिन्हें थाने में बिठाया गया है उनके नाम सैफू खान और नजीब खान हैं। उन्हें भी धारा 151 में पाबंद किया जा रहा है। दूसरी तरफ से लगातार कई लोग आ और जा रहे हैं। अभी भी थाने के बाहर 20-25 लोग मौजूद हैं। लेकिन हम दोनों भाइयों की तरफ से कोई नहीं आया।”

CCTV रिकॉडिंग दिखाने में अधिकारी कर रहे आनाकानी

पीड़ित परिवार के सदस्य भागचंद ने ऑपइंडिया को बताया कि हमारी तरफ से 2 लोगों को और दूसरी तरफ से 3 लोगों को 151 में पाबंद किया गया है जबकि हम पर ही हमला हुआ। बकरामंडी में हाई क्वालिटी के CCTV कैमरे लगे हुए हैं। जब हम पुलिस से उसे दिखाने के लिए बोल रहे हैं तो वो आनाकानी करते हुए दूसरे अधिकारियों पर टाल रहे हैं। हालाँकि हमें पथराव करने वालों पर एक्शन लेने का भरोसा दिलाया गया है। अभी तक किसी की जमानत नहीं हो पाई है। हम पुलिस के फोन का इंतजार कर रहे हैं। उसके बाद हम जमानत के लिए अदालत जाएँगे।

‘पथराव करने वालों पर भी लेंगे एक्शन’ : SHO बोरानाडा

ऑपइंडिया से बात करते हुए SHO बोरानाडा ने बताया, “भील पक्ष से 2 और मुस्लिम पक्ष से 3 लोगों को शांतिभंग की धाराओं में गिरफ्तार किया गया है। पथराव की शिकायत पर भी FIR दर्ज कर जाँच की जा रही है। आगे नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

किसानों के प्रदर्शन से NHAI का ₹1000 करोड़ का नुकसान, टोल प्लाजा करने पड़े थे फ्री: हरियाणा-पंजाब में रोड हो गईं थी जाम

किसान प्रदर्शन के कारण NHAI को ₹1000 करोड़ से अधिक का नुकसान झेलना पड़ा। यह नुकसान राष्ट्रीय राजमार्ग 44 और 152 पर हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -