Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाजकन्नड़ एक्ट्रेस शनाया काटवे ने नियाज अहमद के साथ मिलकर करवाया भाई का कत्ल,...

कन्नड़ एक्ट्रेस शनाया काटवे ने नियाज अहमद के साथ मिलकर करवाया भाई का कत्ल, लाश के टुकड़े कर कई जगह फेंके

शनाया काटवे ने बॉयफ्रेंड नियाज के साथ मिलकर अपने भाई राकेश काटवे की हत्या कर उसकी लाश के टुकड़े अलग-अलग जगहों पर फेंक दिए थे। इस मामले में पुलिस ने चार अन्य लोगों को भी आरोपी बनाया गया है। इनके नाम हैं नियाज अहमद काटीगार, तौसीफ छन्नापुर, अल्ताफ मुल्ला और अमन गिरानीवाले।

साउथ फिल्म इंडस्ट्री से जुड़ी एक हैरान करने वाली खबर सामने आई है। कन्नड़ अभिनेत्री शनाया काटवे को अपने भाई की हत्या के आरोप में गुरुवार (22 अप्रैल 2021) को हुबली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक, शनाया काटवे (Kannada actress Shanaya Katwe) ने अपने भाई राकेश काटवे (32 साल) की बॉयफ्रेंड नियाज के साथ मिलकर हत्या करने के बाद उसकी लाश के टुकड़े अलग-अलग जगहों पर फेंक दिए थे। इस मामले में पुलिस ने चार अन्य लोगों को भी आरोपी बनाया गया है। इनके नाम हैं नियाज अहमद काटीगार (21 साल), तौसीफ छन्नापुर (21 साल), अल्ताफ मुल्ला (24 साल) और अमन गिरानीवाले (19 साल)।  

रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने प्रारंभिक जाँच में पाया है कि राकेश का बेरहमी से कत्ल किया गया है। उन्हें राकेश काटवे का कटा हुआ सिर देवरागुडीहल के जंगल (Devaragudihal forest) से मिला, जबकि शरीर के बाकी टुकड़े हुबली में अलग-अलग जगहों और गदग रोड से बरामद किए गए हैं। शनाया ने हत्या करने के पीछे की वजह उनका लव अफेयर बताया है।

बताया जा रहा है कि शनाया और नियाज एक-दूसरे से प्यार करते हैं, लेकिन उनका भाई इस रिश्ते के खिलाफ था, जिसके चलते नियाज ने राकेश के कत्ल की साजिश रची। 9 अप्रैल को जिस दिन शनाया अपनी फिल्म के प्रमोशन के लिए हुबली गई हुई थीं, उसी दिन इस वारदात को अंजाम दिया गया। नियाज अहमद कटीगार और उसके दोस्तों ने मिलकर राकेश काटवे की बेरहमी से हत्या की और शव के टुकड़े करके उन्हें शहर के अलग-अलग जगहों पर फेंक दिया। फिलहाल, एक्ट्रेस को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

बता दें कि शनाया का कन्नड़ इंडस्ट्री में ज्यादा लंबा सफर नहीं है। एक्ट्रेस ने साल 2018 में ही फिल्म Premam Jeevanam से ही इंडस्ट्री में कदम रखा है, जिसके निर्देशक राघवंका प्रभु थे। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तालिबान की मददगार पाकिस्तानी फौज, ढेर कर अफगान सेना ने दुनिया को दिखाए सबूत: भारत के बनाए बाँध को भी बचाया

अफगानिस्तान की सेना ने तालिबान को कई मोर्चों पर पीछे धकेल दिया है। उनकी मदद करने वाले पाकिस्तानी फौज से जुड़े कई लड़ाकों को भी मार गिराया है।

स्वतंत्र है भारतीय मीडिया, सूत्रों से बनी खबरें मानहानि नहीं: शिल्पा शेट्टी की याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट

कोर्ट ने कहा कि उनका निर्देश मीडिया रिपोर्ट्स को ढकोसला नहीं बताता। भारतीय मीडिया स्वतंत्र है और सूत्रों पर बनी खबरें मानहानि नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,014FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe