Thursday, January 20, 2022
Homeदेश-समाजनिजामुद्दीन ने बेटी के प्रेमी लक्ष्मीपति को शादी के नाम पर मिलने बुलाया, फिर...

निजामुद्दीन ने बेटी के प्रेमी लक्ष्मीपति को शादी के नाम पर मिलने बुलाया, फिर कर दी हत्या: 3 साल से चल रहा था अफेयर

शादी की बात करने जब लक्ष्मीपति पहुँचा तो निजामुद्दीन ने अपने बड़े बेटे सिकंदर और अन्य लोगों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। आरोपित बाप-बेटे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हत्या में शामिल इब्रत और ऑटो मोहम्मद फरार हैं।

बेंगलुरु में दूसरे मजहब की लड़की से प्रेम करने पर के. लक्ष्मीपति का कत्ल कर दिया गया। लड़की के पिता ने उसे शादी की बात करने के नाम पर बुलाया था। जब लक्ष्मीपति पहुँचा तो निजामुद्दीन ने अपने बड़े बेटे सिकंदर और अन्य लोगों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। आरोपित बाप-बेटे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हत्या में शामिल इब्रत और ऑटो मोहम्मद फरार हैं। सभी आरोपित बसवनहल्ली के पास इस्लामपुरा के रहने वाले हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, 2017 में एक कारखाने में काम करने के दौरान निजामुद्दीन की बेटी और 24 वर्षीय लक्ष्मीपति का प्यार पनपा। दोनों शादी करना चाहते थे। लेकिन अलग-अलग धर्म होने की वजह से परिजनों को उनका यह मँजूर नहीं था। इसे देखते हुए दोनों ने घर से भाग कर शादी करने का फैसला किया।

इससे गुस्साए लड़की के परिजनों ने लक्ष्मीपति को मारने की योजना बनाई। निज़ामुद्दीन ने लक्ष्मीपति और अपनी बेटी से संपर्क कर उनके रिश्ते को अपनाने की बात कही। इसके अलावा धूमधाम से शादी कराने का झूठा वादा कर लड़के को बेंगलुरु में मगडी तालुक के एक गाँव में बुलाया।

लड़की के पिता की बात पर विश्वास करते हुए मंगलवार की सुबह लक्ष्मीपति उनके पास पहुँचा। इसके बाद कथित तौर पर निज़ामुद्दीन ने अपने बेटे और अन्य लोगों की मदद से लक्ष्मीपति की उसके बड़े भाई नटराज के सामने गला दबाकर हत्या कर दी। नटराज किसी तरह वहाँ से भाग निकला और घटना की सूचना पुलिस को दी।

नटराज ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा, “लड़की के परिवार ने लक्ष्मीपति और मुझे गाँव में एकांत स्थान पर बुलाया। उन्होंने हमें आश्वस्त किया कि वे शादी पर चर्चा करने के लिए तैयार हैं। इसके बाद वह हमें एक कमरे में ले गए और शराब पिलाई। लेकिन जल्द ही, लड़की वालों ने लक्ष्मीपति को उनके धार्मिक मतभेदों के बारे में बताना शुरू कर दिया और उससे कहा कि वह कभी भी उनकी बेटी से शादी करने का सपना ना देखे।”

नटराज ने आगे कहा, “जैसे ही लक्ष्मीपति ने विरोध किया, तो वहाँ मौजूद कई लोगों ने उसे पीटना शुरू कर दिया। इसके बाद लड़की के पिता और उसके भाई ने लक्ष्मीपति का बेल्ट से गला घोंटकर हत्या कर दी। कई लोगों ने मुझे पकडा हुआ था इसलिए मैं कुछ कर न सका।” नटराज ने अपनी शिकायत में कहा कि लड़की वालों ने मुझे भी धमकी दी कि इसके बारे में किसी को बताया तो वह मुझे भी जान से मार देंगे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र के नगर पंचायतों में BJP सबसे आगे, शिवसेना चौथे नंबर की पार्टी बनी: जानिए कैसा रहा OBC रिजर्वेशन रद्द होने का असर

नगर पंचायत की 1649 सीटों के लिए मंगलवार को मतदान हुआ था। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद यह चुनाव ओबीसी आरक्षण के बगैर हुआ था।

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,298FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe