Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाजपाकिस्तान की जीत पर नाचने वाले कश्मीरी छात्रों पर FIR, उदयपुर की नीरजा मोदी...

पाकिस्तान की जीत पर नाचने वाले कश्मीरी छात्रों पर FIR, उदयपुर की नीरजा मोदी स्कूल की टीचर नफीसा निष्कासित

कश्मीर पुलिस ने करण नगर के जीएमसी होस्टल में रहने वाले छात्रों के ख़िलाफ़ भी यूएपीए की धारा 13 के तहत केस को दर्ज किया है, जो पाकिस्तान के मैच जीतने के बाद रोते हुए झूम रहे थे।

24 अक्टूबर 2021 को हुए टी-20 वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान मैच से कई लोगों की भावनाएँ जुड़ी हुई थीं। दोनों देशों के लोग नहीं चाहते थे कि उनकी टीम हारे। लेकिन पाकिस्तान की जीत के बाद भारत में कुछ लोग ऐसे दिखे जो पाकिस्तान की जीत और भारत की हार पर जश्न मनाते रहे और बाकायदा उस रात पटाखे फोड़े। अब पुलिस ने इन्हीं लोगों के विरुद्ध कार्रवाई करने का निर्णय लिया है। वहीं उस टीचर के ख़िलाफ़ भी एक्शन लिया गया जो व्हॉट्सएप स्टेटस के जरिए जश्न मना रही थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने वाले छात्रों पर केस दायर किया है। बताया जा रहा था कि श्रीनगर के डाउनटाउन में कई जगह पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाया गया। मेडिकल कॉलेज के छात्रों ने भी इस मैच के नतीजों पर खुशी मनाई। अब पुलिस इस मामले में अपनी जाँच कर रही है।

स्थानीय खबरों के अनुसार, पुलिस ने इस मामले में दो अलग-अलग केस दर्ज किए हैं। श्रीनगर की न्यूज एजेंसी ने जानकारी दी है कि पुलिस ने दो मामलों पर अलग से संज्ञान लिया है। एक SKIMS अस्पताल के होस्टल में हुई घटना पर है और दूसरी घटना भी करण नगर के मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल में घटी थी।

सौरा पुलिस स्टेशन में दर्ज एक प्राथमिकी के अनुसार, “पाकिस्तान के एक दिवसीय क्रिकेट मैच जीतने के बाद 24 और 25 अक्टूबर 2021 की मध्यरात्रि के दौरान, छात्रावास में रहने वाले एमबीबीएस और अन्य डिग्री हासिल करने वाले छात्रों ने नारे लगाए और पटाखे फोड़े।” इस एफआईआर के अनुसार केस को यूएपीए की धारा 13 और आईपीसी की धारा 105ए और 505 के तहत दर्ज किया गया है।  

पुलिस ने करण नगर के जीएमसी होस्टल में रहने वाले छात्रों के ख़िलाफ़ भी यूएपीए की धारा 13 के तहत केस को दर्ज किया है, जो पाकिस्तान के मैच जीतने के बाद रोते हुए झूम रहे थे। पुलिस का कहना है कि ये केस अभी खुला है और आरोपितों की पहचान होना अभी बाकी है।

PAK समर्थक शिक्षिका हुई निष्कासित

यहाँ बता दें कि 24 अक्टूबर 2021 को पाकिस्तान की जीत के बाद कई जगहों से ऐसी खबरें आईं कि वहाँ कुछ लोगों ने बम-पटाखे फोड़े और पाकिस्तान के लिए नारे बुलंद किए। इसी क्रम में उदयपुर के नीरजा मोदी स्कूल में भी एक नफीसा नाम की शिक्षिका के विरुद्ध कार्रवाई हुई है। उसने वॉट्सएप स्टेटर पर लिखा था ‘हम जीत गए’। इस पर एक अभिभावक ने उससे सवाल किया कि क्या वो पाकिस्तान को समर्थन देती हैं। जिस पर उसने जवाब दिया ‘हाँ’। इसके बाद उसी अभिभावक ने इस स्क्रीनशॉट को स्कूल प्रशासन को भेज दिया और बाद में टीचर को निष्काषित कर दिया गया। सोशल मीडिया पर उसका टर्मिनेशन लेटर वायरल है। इसमें लिखा है कि नीरजा मोदी स्कूल की अध्यापिका नफीसा अटारी को सोजतिया चेरिटेबल ट्रस्ट की मीटिंग के निर्णय के अनुसार नीरजा मोदी स्कूल से तुरंत प्रभाव से निष्कासित कर दिया जाता है।


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

‘शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा, वो पहले ही 14 महीने से जेल में’: इलाहाबाद...

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपनी टिप्पणी में कहा कि शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा।

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
63,071FollowersFollow
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe

प्रचलित ख़बरें