Sunday, June 26, 2022
Homeदेश-समाजलव जिहाद की पीड़ित रही नीतू यादव फंदे से लटकी मिली, अकरम पर लगाया...

लव जिहाद की पीड़ित रही नीतू यादव फंदे से लटकी मिली, अकरम पर लगाया था पहचान छिपाने और इस्लाम कबूलने का दबाव डालने का आरोप

अकरम से नीतू की पहली मुलाकात जनवरी 2020 में हुई थी। तब वह बागपत के बड़ौत में रशीदिया नर्सिंग होम में काम करती थी। अकरम ने अपनी पहचान नीतू से छिपाई और शारीरिक संबंध बनाए।

UP के गाजियाबाद जिले के लोनी इलाके में नीतू यादव नाम की एक महिला ने फाँसी लगा कर कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। मृतका साल 2021 में लव जिहाद का शिकार हुई थी। उसने नवंबर 2021 में अपने पूर्व पति अकरम कुरैशी के खिलाफ बागपत पुलिस में शिकायत भी दर्ज करई थी। उसका विवाद अपने ही पड़ोस के इकबाल नाम के व्यक्ति से भी बताया जा रहा है। नीतू का शव 18 मई 2022 (बुधवार) को उसके घर से मिला।

रिपोर्ट्स के मुताबिक नीतू यादव का पूर्व पति अकरम कुरैशी उससे फर्जी नाम से मिला था। शादी के बाद कुरैशी ने जबरन इस्लाम कबूलने का दबाव डाला। स्वराज्य की पत्रकार स्वाति गोयल शर्मा ने 20 दिन पहले मृतका से बात करने का दावा किया है। उन्होंने नीतू जैसी महिला द्वारा आत्महत्या जैसा कदम उठाने पर हैरानी जताई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मृतका की उम्र 32 साल थी। वह लोनी के प्रेमनगर इलाके में अपने परिवार के साथ रहती थी। अकरम कुरैशी के बाद उसने मनीष गुप्ता नाम के व्यक्ति से शादी की थी। फ़िलहाल मनीष और नीतू अलग-अलग रह रहे थे। कुछ समय पहले नीतू का कॉलोनी के ही इकबाल से विवाद हुआ था। इस झगड़े के बाद नीतू से फाँसी लगा कर जान देने की कोशिश की थी। तब घर के लोगों ने नीतू को बचा लिया था। पुलिस नीतू की मौत के बाद हर पहलू की जाँच कर रही है।

मृतका द्वारा दर्ज FIR के मुताबिक अकरम से उसकी पहली मुलाकात जनवरी 2020 में हुई थी। तब नीतू बागपत के बड़ौत में रशीदिया नर्सिंग होम में काम करती थी। अकरम ने अपनी पहचान नीतू से छिपाई और शारीरिक संबंध बनाए। जब नीतू गर्भवती हुई तो अकरम ने अपनी बीवी रुखसार और भाई तनवीर के साथ उसे प्रताड़ित किया और गर्भ गिराने का दबाव बनाया। नीतू जैसे-तैसे इन सभी के चंगुल से बच पाई और 18 नवम्बर 2020 को पुलिस में शिकायत की। तब पुलिस ने अकरम को जेल भेजा। बाद में नीतू ने एक बेटी को जन्म दिया।

मृतका नीतू यादव मूल रूप से बागपत के खेकड़ा गाँव की रहने वाली थी। अकरम से पहले साल 2012 में उसकी शादी परिवार की मर्जी से एक व्यक्ति से हुई थी। साल 2017 में उसका तलाक हो गया था। इस रिश्ते से नीतू को एक बेटा हुआ था। तलाक के बाद नीतू अपने मायके में रहने लगी थीं। 1 साल के बाद घर वालों ने नीतू को घर से निकाल दिया। घर से निकलने के बाद नीतू ने नर्सिंग का कोर्स किया जो 2019 में खत्म हुआ। इसके बाद उसने बड़ौत के रशीदिया नर्सिंग होम में नौकरी मिली थी, जहाँ उसकी मुलाकात अकरम से हुई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गे बार के पास कट्टर इस्लामी आतंकी हमला, गोलीबारी में 2 की मौत: नॉर्वे में LGBTQ की परेड रद्द, पूरे देश में अलर्ट

नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में गे बार के नजदीक हुई गोलीबारी को प्रशासन ने इस्लामी आतंकवाद करार दिया है। 'प्राइड फेस्टिवल' को रद्द कर दिया गया।

BJP के ईसाई नेता ने हवन-पाठ करके अपनाया सनातन धर्म: घरवापसी पर बोले- ‘मुझे हिंदू धर्म पसंद है, मेरे पूर्वज हिंदू थे’

विवीन टोप्पो ने हिंदू धर्म स्वीकारते हुए कहा कि उन्हें ये धर्म अच्छा लगता है इसलिए उन्होंने इसका अनुसरण करने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,395FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe