Sunday, June 23, 2024
Homeदेश-समाजअसम में 'योगी मॉडल': 'जिहादी मदरसे' पर चला CM सरमा सरकार का बुलडोजर, आतंकी...

असम में ‘योगी मॉडल’: ‘जिहादी मदरसे’ पर चला CM सरमा सरकार का बुलडोजर, आतंकी संगठन अंसार अल-इस्लाम से मिला था सम्बन्ध

"अंसारुल इस्लाम से संबंधित छह बांग्लादेशी आतंकी, युवाओं को बरगलाने के लिए असम आए और उनमें से एक को इस साल मार्च में बारपेटा में पहले मॉड्यूल का पर्दाफाश होने के दौरान गिरफ्तार किया गया था।"

यूपी की योगी मॉडल पर चलते हुए आज असम में फिर ‘बुलडोजर’ चला। असम के मोरीगाँव जिले में आतंकी मुस्तफा उर्फ मुफ्ती मुस्तफा द्वारा संचालित जमीउल हुदा मदरसा को गुरुवार (4 अगस्त, 2022) को बुलडोजर से ढहा दिया गया। यह कार्रवाई प्रशासन ने डिजास्‍टर मैनेजमेंट एक्‍ट और यूएपीए एक्‍ट-43 के तहत की है। इस बीच, सीएम हिमंत बिस्व सरमा ने कहा है कि हम राज्य में 800 सरकारी मदरसों को पहले ही बंद कर चुके हैं। हमारी सरकार हमेशा केंद्र सरकार की एजेंसियों के साथ मिलकर काम कर रही है। असम इस्लामी कट्टरपंथियों का अड्डा बनता जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, गिरफ्तार आतंकी आरोपित मुफ्ती मुस्तफा अहमद द्वारा संचालित मदरसा कथित तौर पर 2018 में खोला गया था। बता दें कि अहमद को असम पुलिस ने मोरीगाँव जिले के मोरीबाड़ी पुलिस थाने के सहरिया गाँव से 28 जुलाई को बांग्लादेश स्थित आतंकी संगठन अंसार अल-इस्लाम के साथ संबंध रखने के मामले में गिरफ्तार किया था।

इससे पहले आज ही असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने कहा कि राज्य ‘‘जिहादी गतिविधियों’ का अड्डा बन रहा है और पिछले कुछ महीनों में यहाँ बांग्लादेश स्थित आतंकवादी संगठन अंसारुल इस्लाम के पांच ‘मॉड्यूल’ का पर्दाफाश हुआ है। सरमा ने कहा, “अंसारुल इस्लाम से संबंधित छह बांग्लादेशी आतंकी, युवाओं को बरगलाने के लिए असम आए और उनमें से एक को इस साल मार्च में बारपेटा में पहले मॉड्यूल का पर्दाफाश होने के दौरान गिरफ्तार किया गया था।”

सीएम सरमा ने यह भी कहा कि यह बिना किसी संदेह के साबित हो गया है कि असम इस्लामी कट्टरपंथियों का अड्डा बनता जा रहा है। जब पाँच मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हैं तो पाँच अन्य बांग्लादेशी आतंकियों के ठिकाने का पता नहीं चलता है। आप गंभीरता की कल्पना कर सकते हैं।

असम के सीएम हिमंत बिस्व सरमा ने बताया कि मार्च में अंसारुल्लाह बांग्ला टीम (ABT) से जुड़े छह आतंकियों को राज्य के बारपेटा से गिरफ्तार किया गया था। इस गिरोह का सरगना अवैध तरीके से भारत में घुसा था। सीएम सरमा ने कहा,” राज्य में अब तक 800 सरकारी मदरसे बंद किए जा चुके हैं, लेकिन राज्य में कई कौमी मदरसे हैं। नागरिकों और अभिभावकों को इन मदरसों पर नजर रखनी चाहिए और वहाँ किस तरह के विषय पढ़ाए जाते हैं।”

गौरतलब है कि मुफ्ती मुस्तफा के आतंकी संगठन अलकायदा से जुड़े होने की जानकारी मिली थी इसके बाद ही उसे गिरफ्तार किया गया था। उसके कुछ और साथियों को भी असम पुलिस ने पकड़ा था। मुस्तफा मुफ्ती (AQIS) के अलावा बांग्लादेशी आतंकी संगठन ABT से भी जुड़ा है। मुस्तफा मदरसे से ही उस पर जिहादी गितिविधियाँ चलाने का आरोप है इसीलिए उसके खिलाफ कार्रवाई की गई है। मुस्तफा की गिरफ्तारी के बाद मदरसा सील किया गया था और अब उसे बुलडोजर से जमींदोंज कर दिया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -