Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजमाफिया मुख्तार का करीबी रियाज अंसारी... दादागिरी से करवाया था अवैध कार्यालय का निर्माण:...

माफिया मुख्तार का करीबी रियाज अंसारी… दादागिरी से करवाया था अवैध कार्यालय का निर्माण: योगी सरकार ने बुलडोजर चलवाया

उत्तर प्रदेश पुलिस ने माफिया मुख़्तार के साथी रियाज़ अंसारी और उसके 3 अन्य फरार साथियों पर 25 हजार का इनाम घोषित किया है। ये सभी मिल कर मदरसे में हुई नियुक्ति में फर्जीवाड़े में शामिल रहे हैं। इसी क्रम में रियाज़ अंसारी द्वारा अपनी बीवी के नाम पर खरीदी जमीन पर करवाया गया एक अवैध निर्माण भी बुलडोजर चला कर ध्वस्त कर दिया गया है।

उत्तर प्रदेश के माफिया मुख़्तार अंसारी के एक और करीबी की अवैध सम्पत्तियों पर बुलडोजर चला है। यह कार्रवाई रियाज अंसारी पर हुई है जो गाजीपुर जिले के बहादुरगंज से नगर पंचायत अध्यक्ष के शौहर हैं। रविवार (12 दिसंबर 2023) को हुआ यह एक्शन कोर्ट के आदेश पर हुआ है जिसका पालन करवाने के लिए भारी पुलिस बल मौके पर मौजूद रहा। रियाज़ एक मामले में फरार चल रहा है जिस पर प्रशासन ने 25 हजार का इनाम भी घोषित कर दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ध्वस्तीकरण की यह कार्रवाई गाजीपुर जिले के थानाक्षेत्र कासिमाबाद में हुई है। यहाँ के बहादुरगंज में रियाज़ अंसारी का मुख़्तार से करीबियों के चलते काफी रसूख है। रियाज़ की बीवी निकहत परवीन बहादुरगंज से नगर पालिका की चेयरपर्सन हैं। रियाज अंसारी ने अपनी दादागीरी के दम पर बहादुरगंज में एक अवैध कैम्प कार्यालय बनवा रखा था। यह कार्यालय 760 वर्गफुट भूमि पर था। जमीन निकहत परवीन के नाम से थी। इस निर्माण का नक्शा भी पास नहीं था।

इस अवैध निर्माण पर कार्रवाई के लिए अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत बहादुरगंज ने स्थानीय SDM (उप जिला मजिस्ट्रेट) कासिमाबाद की कोर्ट में आवेदन दिया था। SDM कोर्ट ने निर्माण को अवैध पाया और इसे ध्वस्त करने के आदेश जारी किए थे। इसी आदेश पर अमल करने के लिए रविवार को रियाज़ के कैम्प कार्यालय पर अधिकारियों का जमावड़ा लगा। मौके पर SHO कासिमाबाद भी पुलिस बल के साथ मौजूद है। बुलडोजर चला कर आखिरकार कैम्प कार्यालय के नाम पर हुए अवैध निर्माण को ध्वस्त करवा दिया गया।

बताते चलें कि रियाज़ अंसारी पर मदरसे में फर्जी नियुक्ति के नाम पर धांधली का आरोप है। इन्ही आरोपों के चलते उस पर कासिमाबाद थाने में FIR भी दर्ज है। रियाज़ फिलहाल फरार है जिस पर पुलिस ने अब 25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। रियाज़ के अलावा इसी केस में उसके 3 अन्य सहयोगी भी फरार हैं। उन पर भी 25 हजार रुपए का इनाम रखा गया है। मदरसे में नियुक्ति के इसी फर्जीवाड़े में खुद मुख़्तार अंसारी भी नामजद है।

इन सभी आरोपितों ने मिल कर रियाज़ अंसारी की बीवी की निकहत परवीन की नियुक्ति अवैध तौर पर मदरसे में करवा दी थी। पुलिस जाँच में दोषी पाए जाने के बाद निकहत परवीन जेल भेज दी गईं थीं। मुख़्तार अंसारी पहले से है जेल है। वहीं रियाज़ और फर्जीवाड़े में शामिल उनके 3 अन्य सहयोगी फिलहाल फरार चल रहे हैं जो अब 25 हजार के इनामी बन चुके हैं। काफी खोजबीन के बाद भी न मिलने पर पुलिस इन चारों के खिलाफ अदालत से कुर्की के आदेश भी ले चुकी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

लोकसभा में ‘परंपरा’ की बातें, खुद की सत्ता वाले राज्यों में दोनों हाथों में लड्डू: डिप्टी स्पीकर पद पर हल्ला कर रहा I.N.D.I. गठबंधन,...

कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस ने अपने ही नेता को डिप्टी स्पीकर बना रखा है विधानसभा में। तमिलनाडु में DMK, झारखंड में JMM, केरल में लेफ्ट और पश्चिम बंगाल में TMC ने भी यही किया है। दिल्ली और पंजाब में AAP भी यही कर रही है। लोकसभा में यही I.N.D.I. गठबंधन वाले 'परंपरा' और 'परिपाटी' की बातें करते नहीं थक रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -