Sunday, May 19, 2024
Homeदेश-समाजमहाराष्ट्र: अचलपुर में धार्मिक झंडा हटाने को लेकर हिंसक झड़प, 'द कश्मीर फाइल्स' देखकर...

महाराष्ट्र: अचलपुर में धार्मिक झंडा हटाने को लेकर हिंसक झड़प, ‘द कश्मीर फाइल्स’ देखकर लौट रहे लोगों से भी यहीं हुई थी मारपीट

''रविवार आधी रात को कुछ असामाजिक तत्वों ने धार्मिक झंडे हटा दिए, जिसके बाद कहासुनी हो गई, जो देखते ही देखते पथराव में बदल गई। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आँसू गैस के गोले दागे।''

रामनवमी और हनुमान जयंती के दौरान हिंदुओं के साथ हिंसा की खबरें देश के कई हिस्सों से सामने आई हैं। अब महाराष्ट्र के अमरावती जिले के अचलपुर शहर में दोनों समुदायों के बीच टकराव हुआ है। हिंसक झड़प की वजह धार्मिक झंडे हटाने को लेकर हुआ विवाद बताई जा रही है। हिंसा के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया है। 22 लोगों को अब तक हिरासत में लिए जाने की सूचना है।

मिली जानकारी के अनुसार धार्मिक झंडे को हटाने को लेकर दो गुट में विवाद शुरू हुआ। उसके बाद दोनों गुटों के लोगों ने एक-दूसरे पर पथराव किया। उन्हें तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आँसू गैस के गोले दागे। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शशिकांत सातव ने बताया कि रविवार (17 अप्रैल 2022) आधी रात को हुई इस घटना के बाद दोनों समूहों के 22 लोगों को हिरासत में लिया गया है और अब स्थिति नियंत्रण में है। हालाँकि इस झड़प में कितने लोग घायल हुए हैं, उसकी कोई सटीक जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है।

क्या है परंपरा

पुलिस के मुताबिक, स्थानीय निवासी हर साल त्योहारों के दौरान अमरावती जिला मुख्यालय से 48 किलोमीटर दूर अचलपुर के मुख्य द्वार पर खिड़की गेट और दूल्हा गेट के ऊपर विभिन्न धर्मों के झंडे लगाते हैं। एक पुलिस निरीक्षक ने कहा, ”रविवार आधी रात को कुछ असामाजिक तत्वों ने धार्मिक झंडे हटा दिए, जिसके बाद कहासुनी हो गई, जो देखते ही देखते पथराव में बदल गई। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आँसू गैस के गोले दागे।” एसआरपीएफ (राज्य रिजर्व पुलिस बल) और स्थानीय पुलिस ने जल्द ही स्थिति पर पा लिया।

कई राज्यों में हिंसा की घटनाएँ

इस महीने नववर्ष और रामनवमी के मौके पर देश के कई राज्यों में जुलूस निकालने के दौरान हिंसक झड़पें हुई हैं। इसके तहत गुजरात, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, राजस्थान में साम्प्रदायिक हिंसा हुई। उसके बाद दिल्ली के जहाँगीरपुरी इलाके में हनुमान जयंती के मौके पर जुलूस यात्रा के दौरान हिंसा हुई और अब महाराष्ट्र में ऐसे मामले सामने आए हैं।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले अमरावती में बॉलीवुड फिल्म द कश्मीर फाइल्स को लेकर विवाद हो गया था। अचलपुर में फिल्म देखने के बाद थिएटर से निकले कुछ लोगों ने जय श्री राम के नारे लगाए तो वहाँ मौजूद कुछ लोगों ने इस पर नाराजगी जताई। इसके बाद नौबत मारपीट तक आ पहुँची। बाद में पुलिस ने 15 युवकों को गिरफ्तार गिरफ्तार किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भिकू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट...

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भिकू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -