Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजउद्धव के मंत्री का दामाद समीर खान गिरफ्तार: ड्रग्स का है मामला, ससुर ने...

उद्धव के मंत्री का दामाद समीर खान गिरफ्तार: ड्रग्स का है मामला, ससुर ने कहा था – ‘अर्णब गोस्वामी कर लेगा आत्महत्या’

समीर खान और करण सजनानी के बीच लेन-देन गूगल पे पर हुआ था। करण सजनानी और दो अन्य आरोपितों को पिछले हफ्ते 200 किलो प्रतिबंधित ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया गया था।

एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार में अल्पसंख्यक मामलों और कौशल विकास मंत्री नवाब मलिक के दामाद समीर खान को एनसीबी (नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो) ने ड्रग्स मामले में गिरफ्तार कर लिया है। इसके पहले एनसीबी ने उन्हें ड्रग्स मामले में पूछताछ के लिए समन भेजा था।   

ड्रग्स और बॉलीवुड से जुड़े मामलों की जाँच के दौरान एनसीबी को यह पता चला कि इस मामले के एक आरोपित और समीर खान के बीच रुपयों का ऑनलाइन लेन-देन हुआ है। इस मामले में ब्रिटिश नागरिक करण सजनानी और दो अन्य आरोपितों को पिछले हफ्ते 200 किलो प्रतिबंधित ड्रग्स के साथ गिरफ्तार किया गया था।

सजनानी के साथ गिरफ्तार किए गए दो अन्य लोग राहिला फर्नीचरवाला और उसकी बहन शाइस्ता फर्नीचरवाला थी। राहिला फर्नीचरवाला एक्टिविस्ट और बॉलीवुड अभिनेत्री दिया मिर्ज़ा का मैनेजर भी रह चुका है। 

समीर खान और करण सजनानी के बीच लेन-देन गूगल पे पर हुआ था, जिसे लेकर एनसीबी का मानना है कि वह संभवतः ड्रग्स की खरीद के लिए हुआ था। इसके अलावा बुधवार (13 जनवरी 2021) को एनसीबी ने समीर खान को पूछताछ के लिए समन भेजा था। लंबी पूछताछ के बाद एनसीबी ने समीर खान को गिरफ्तार करने का फैसला लिया। 

मंगलवार को एनसीबी ने इस मामले में रामकुमार तिवारी को गिरफ्तार किया था, जो साउथ बॉम्बे स्थित मशहूर मुच्छड़ पनवल शॉप के मालिकों में से एक है, जिस पर अक्सर तमाम दिग्गज सेलिब्रेटी, व्यवसायी और औद्योगिक घरानों से जुड़े लोग नज़र आते हैं। एनसीबी ने उस पान शॉप के वेयरहाउस में ड्रग्स बरामद किया था। 

रामकुमार तिवारी गाँजा, ओजी कुश (OG Kush) और भाँग की तस्करी करते हुए पाया गया था, जिसमें कुछ का निर्यात अमेरिका से किया गया था। बुधवार को जिला अदालत ने रामकुमार को 15000 रुपए का जुर्माना देने के बाद जमानत पर रिहा किया था। 

पिछले साल अक्टूबर महीने के दौरान महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी नेता ने दावा किया था कि रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी खुद पर लगे आरोपों और महाराष्ट्र सरकार द्वारा दर्ज कराए गए मामलों से निराश होकर आत्महत्या कर लेंगे।

एक स्टिंग ऑपरेशन में नवाब मलिक ने अर्णब के बारे में कहा था, “इस आदमी को बहुत परेशानियाँ मिलने वाली हैं। मुझे इस बात से डर लगता है कि ये आदमी खुद उस ज़ोन में चला जाएगा। ये पागलपन है और ये फोबिया बन जाता है। यही फोबिया एक समय के बाद दिवालिएपन में तब्दील हो जाएगा।”         

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

चंदन कुमार
चंदन कुमारhttps://hindi.opindia.com/
परफेक्शन को कैसे इम्प्रूव करें :)

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -