Sunday, December 5, 2021
Homeदेश-समाजमहिला टीचर की सड़ी-गली लाश से ओडिशा में उबाल: दावा- सेक्स रैकेट का खुलासा...

महिला टीचर की सड़ी-गली लाश से ओडिशा में उबाल: दावा- सेक्स रैकेट का खुलासा करने वाली थीं, रात को स्कूल में रूकते थे BJD मंत्री

ममिता की हत्या साजिश के तहत की गई थी। हत्या में शामिल एक कार (OD08K 1002) को पुलिस ने जब्त कर लिया है। गोबिंद साहू के साथ बहस के बाद कथित तौर पर ममिता की हत्या कर दी गई थी। शव को जला दिया गया था और बाद में खोदे गए गड्ढे में दफन कर दिया गया था।

ओडिशा के कालाहांडी जिले में ममिता मेहर नाम की एक 24 वर्षीय शिक्षिका 8 अक्टूबर को लापता हो गई थी। 19 अक्टूबर को एक निर्माणाधीन स्टेडियम में शिक्षिका की बुरी तरह सड़ी-गली लाश मिली। शव को पहचानना मुश्किल था, लेकिन परिजनों ने पीड़िता के गहनों और अन्य सामानों के आधार पर उसकी शिनाख्त की। हालाँकि, शव की पहचान की पुष्टि होनी बाकी है और जाँच के लिए डीएनए सैंपल को लैब में भेजा जा चुका है।

जिस निर्माणाधीन स्टेडियम में शव मिला है, वह उसी संस्थान का है, जहाँ मृत शिक्षिका पढ़ाती थी। शव मिलने के बाद राज्य में सियासी बवाल खड़ा हो गया है। इस घटना के आरोप बीजेडी मंत्री और उसी क्षेत्र के विधायक दिब्यशंकर मिश्रा पर लग रहे हैं। भाजपा और कॉन्ग्रेस दोनों ने राज्य में विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है।

इस घटना को बलांगीर की बीजेपी सांसद संगीता सिंह देव ने शर्मनाक करार दिया है। ममिता बलांगीर जिले के एक गाँव की रहने वाली थीं और पड़ोस के कालाहांडी जिले में महालिंग सनशाइन स्कूल में शिक्षिका थीं।

दिब्यशंकर मिश्रा पर क्या हैं आरोप

राज्य के मंत्री और बीजेडी के नेता दिब्यशंकर मिश्रा पर सेक्स रैकेट में शामिल होने से लेकर शिक्षिका को लापता और हत्या करने तक के आरोप लगाए जा रहे हैं। मिश्रा उसी जूनागढ़ के विधायक हैं, जहाँ पर महालिंग स्कूल है।

रिपोर्ट के मुताबिक, 19 अक्टूबर को महालिंग स्टेडियम में खुदाई करके लाश को बाहर निकाला गया था। वहाँ के स्थानीय नेताओं का कहना था कि मंत्री दिब्यशंकर मिश्रा अक्सर स्कूल में आते थे और रात में भी यहीं रूकते थे।

ओडिया दैनिक सांबाडा से बात करते हुए कालाहांडी जिला परिषद की अध्यक्ष नमितारानी साहू ने आरोप लगाया, “कई मंत्री इस स्कूल का दौरा करते थे। दिब्यशंकर मिश्रा हर हफ्ते इस स्कूल का दौरा करते थे। इस निर्वाचन क्षेत्र में तीन अन्य कॉलेज हैं, उन्हें हर बार एक ही संस्थान का दौरा क्यों करना पड़ा? वह इस संस्था को सरकारी सहायता भी दे रहे थे। वह रात में भी यहीं रुके थे।”

उल्लेखनीय है कि स्कूल की शिक्षिका ममिता मेहर महालिंग संस्था द्वारा संचालित गर्ल्स हॉस्टल की वार्डन भी थीं। कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि अचानक गायब होने से पहले ममिता स्कूल में चल रहे कथित सेक्स रैकेट का पर्दाफाश करने के काफी करीब पहुँच गई थीं।

पुलिस कस्टडी से भागा मुख्य आरोपित पकड़ा गया

स्कूल टीचर ममिता मेहर के गायब होने के मामले में टिटिलागढ़ पुलिस की हिरासत से 17 अक्टूबर को भागे मुख्य आरोपित गोबिंदा साहू को गिरफ्तार कर लिया गया है। मुख्य आरोपित के भागने के बाद राजनीतिक दलों और लोगों ने किया विरोध किया था। बाद में साहू को 19 अक्टूबर को बलांगीर जिले के बांगोमुंडा ब्लॉक के बुद्धिपदार से गिरफ्तार किया गया था।

टिटिलागढ़ पुलिस बैरक से साहू के भागने के बाद ओडिशा पुलिस की तीखी आलोचना हुई थी। उसके भागने की घटना ने सत्ताधारी पार्टी पर लग रहे आरोपों को मजबूती दी थी।

गौरतलब है कि गोबिंदा साहू उसी स्कूल की मैनेजमेंट कमेटी का अध्यक्ष है, जहाँ ममिता काम करती थीं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिस दिन वह लापता हुई थी उस दिन साहू ने ममिता को मिलने के लिए बुलाया था। आरोप है कि साहू और कुछ अन्य व्यक्ति कथित तौर पर महिला कर्मचारियों का यौन शोषण कर रहे थे और ममिता ने इसका पर्दाफाश करने की धमकी दी थी।

इसके अलावा मुख्य आरोपित साहू कथित तौर पर मंत्री दिब्यशंकर मिश्रा के करीबी था। वह सरकारी परियोजनाओं में शामिल था और उसे MPLAD और MLALD फंड से अनुदान भी मिला था।

हत्या के बाद शव को जलाया फिर दफनाया

ममिता के लापता होने के मामले में उसके परिवार ने पुलिस में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद से मामले की जाँच चल रही थी। 19 अक्टूबर को पुलिस महालिंग संस्थान के स्वामित्व वाले निर्माणाधीन स्टेडियम में एक जगह खुदाई की तो जमीन से बुरी तरह झुलसा शव बरामद किया गया।

शव बुरी तरह से सड़ा-गला हुआ था और उसकी पहचान नहीं हो सकती थी, जिसके बाद उसे फोरेंसिक जाँच के लिए भेज दिया गया था। हालाँकि, मौके पर मौजूद ममिता के परिवार ने शव पर मिली सोने की चेन, हैंडबैग और कुछ अन्य सामान से उनकी पहचान कन्फर्म की है। ताजा रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुख्य आरोपित गोबिंद साहू ने ममिता की हत्या की बात कबूल कर ली है।

ममिता की हत्या साजिश के तहत की गई थी। हत्या में शामिल एक कार (OD08K 1002) को पुलिस ने जब्त कर लिया है। गोबिंद साहू के साथ बहस के बाद कथित तौर पर ममिता की हत्या कर दी गई थी। शव को जला दिया गया था और बाद में खोदे गए गड्ढे में दफन कर दिया गया था। 14 अक्टूबर को संदिग्ध कार को जब्त कर लिया गया था। कार में से ममिता की पायल और पेट्रोल का एक जार मिला था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अखिलेश के विधायक ने पुलिस अधिकारी का गला पकड़ा, जम कर धक्का-मुक्की: CM योगी के दौरे से पहले सपा नेताओं की गुंडागर्दी

यूपी के चंदौली में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पुलिस के साथ धक्का-मुक्की की। विधायक प्रभु नारायण सिंह ने सीओ का गला पकड़ा।

‘अपनी बेटी बेच दो, हमलोग काफी पैसे देंगे’: UK की महिलाओं को लालच दे रहे मिडिल-ईस्ट मुस्लिमों के कुछ समूह

महिला जब अपनी बेटी को स्कूल छोड़ने जा रही थी तो मिडिल-ईस्ट के 3 लोगों ने उनसे संपर्क किया और लड़की को ख़रीदीने के लिए एक बड़ी धनराशि की पेशकश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,774FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe