Friday, October 22, 2021
Homeदेश-समाज'कृषि कानून के समर्थन में किसानों की महारैली देख कॉन्ग्रेसियों और दलालों को पीड़ा...

‘कृषि कानून के समर्थन में किसानों की महारैली देख कॉन्ग्रेसियों और दलालों को पीड़ा होना स्वाभाविक’: वीडियो वायरल

“दशकों पुरानी माँग पूरी होने की खुशी में किसानों ने मेरठ से गाजियाबाद तक हज़ारों ट्रैक्टरों पर सवार हो कर कृषि बिल के समर्थन में रैली निकाली है। यह वीडियो देख कर कॉन्ग्रेसियों और दलालों को पीड़ा होना स्वाभाविक है।”

कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे किसान अब भी सरकार से वार्ता करके मामले को सुलझाने के पक्ष में नहीं है। लगभग हर विरोधी पार्टी केंद्र सरकार के ख़िलाफ़ किसानों की माँग का समर्थन कर रही है। ऐसी स्थिति में जब आंदोलन पर बैठा कोई किसान नेता सरकार की सुनने को तैयार नहीं है, उस समय दूसरी जगहों से कुछ अलग तस्वीर सामने आई है। इनमें देख सकते हैं कि सैंकड़ों किसान इन्हीं कृषि कानूनों से खुश होकर इसके पक्ष में रैली निकाल रहे हैं।

इन रैलियों की वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर की जा रही है। वीडियो में हम देख सकते हैं कि हजारों ट्रैक्टरों-ट्रकों के साथ ये रैली निकाली गई है। कई किसान इस रैली में मौजूद हैं।

भाजपा नेता स्वतंत्र देव सिंह इस पर लिखते हैं, “दशकों पुरानी माँग पूरी होने की खुशी में किसानों ने मेरठ से गाजियाबाद तक हज़ारों ट्रैक्टरों पर सवार हो कर कृषि बिल के समर्थन में रैली निकाली है। (यह वीडियो देख कर कॉन्ग्रेसियों और दलालों को पीड़ा होना स्वाभाविक है।)”

बता दें कि कृषि कानून के समर्थन में किसानों का ऐसा सैलाब सड़कों पर रविवार को देखने को मिला था। हिंद मजदूर किसान समिति के बैनर तले सैकड़ों किसानों ने कृषि कानून के समर्थन में रैली निकाली थी और ट्रैक्टर ट्रालियों व अन्य वाहनों से दिल्ली की ओर कूच किया था। इस दौरान रैली में शामिल वाहनों में देशभक्ति गीत बज रहे थे। 

वाहनों पर लगे बैनरों में दलालों से छुटकारा, किसान कानून हमारा, जैसे स्लोगन लिखे थे। ये किसान अपने काफिले की निगरानी खुद ड्रोन से कर रहे थे। कुछ ट्रैक्टर पर भी ड्रोन कैमरे लगे थे। जानकारी के मुताबिक इस रैली में सैकड़ों वाहनों से हजारों किसान गाजियाबाद पहुँचे थे, जिन्होंने रामलीला मैदान में सभा की।

उल्लेखनीय है कि यूपी सीएम लगातार कृषि कानून के ख़िलाफ़ भ्रामक प्रचार करने वालों को आगाह कर रहे हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ जन-जन तक पहुँचकर किसानों को इस बिल के प्रति आश्वस्त कर रहे हैं। वह किसानों को जानकारी दे रहे हैं कि 2022 तक पीएम मोदी किसानों की आय दोगुना करने के प्रयास में लगे हुए हैं।

भदोही के भाजपा नेता राहुल चतुर्वेदी ने भी ट्विटर पर जानकारी दी है कि जंगीगंज भदोही में कृषि कानून के समर्थन में विशाल जनसभा व रैली की गई है। वहाँ विपक्षियों द्वारा बरगलाए लाए जा रहे कुछ किसान भाइयों को कृषि कानून के फायदे गिनाते हुए सभा को संबोधित किया गया है।

इसी तरह भारत देशम नाम के ट्विटर पर 22 दिसंबर को किए गए ट्वीट के मुताबिक साउथ दिल्ली कालकाजी, तुगलकाबाद, संगम विहार, देवली विधानसभा क्षेत्र में क्षेत्रीय सांसद रमेश बिधूड़ी के नेतृत्व में विशाल रैली निकाली गई। लोगों ने इस बिल को किसान हित में बताया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंक पर योगी सरकार लगाएगी नकेल: जम्मू-कश्मीर में बंद 26 आतंकियों को भेजा जा रहा यूपी, स्लीपर सेल के जरिए फैला रहे थे आतंकवाद

कश्मीर घाटी की अलग-अलग सेंट्रल जेलों में बंद 26 आतंकियों का पहला ग्रुप उत्तर प्रदेश की आगरा सेंट्रल जेल के लिए रवाना कर दिया गया।

‘बधाई देना भी हराम’: सारा ने अमित शाह को किया बर्थडे विश, आरफा सहित लिबरलों को लगी आग, पटौदी की पोती को बताया ‘डरपोक’

सारा ने गृहमंत्री को बधाई दी लेकिन नाराज हो गईं आरफा खानुम शेरवानी। उन्होंने सारा को डरपोक कहा और पारिवारिक बैकग्राउंड पर कमेंट किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe