Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजमास्टरमाइंड मौलाना वसीम मुंबई में धराया: हनुमान जयंती पर भड़काऊ भाषण के बाद भीड़...

मास्टरमाइंड मौलाना वसीम मुंबई में धराया: हनुमान जयंती पर भड़काऊ भाषण के बाद भीड़ ने हुबली में थाना और मंदिर पर किया था पथराव

मौलाना नीले रंग के कपड़े में एक ऊँची जगह पर खड़ा होकर लोगों को भड़काता नजर आ रहा है। इस वीडियो में वसीम के बगल में स्थानीय कॉन्ग्रेस नेता अल्ताफ हल्लूर को भी उसे भड़काऊ भाषण देने के लिए प्रोत्साहित करते देखा जा सकता है।

कर्नाटक के हुबली (Hubli, Karnataka) में हनुमान जयंती (Hanuman Jayanti) के दिन हिंसा को लेकर थाने और मंदिर पर किए गए पथराव के मास्टरमाइंड मौलाना वसीम पठान (Maulana Waseem Pathan) को पुलिस ने मुंबई (Mumbai) से हिरासत में ले लिया है। घटना के बाद वह हुबली छोड़कर फरार हो गया था। इस पथराव में एक इंस्पेक्टर सहित चार पुलिसकर्मी घायल हो गए थे।

बता दें कि 16 अप्रैल 2022 को हनुमान जयंती के दिन कथित सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर हुबली में एक थाने के बाहर जमा हुई मुस्लिमों की भीड़ अचानक हिंसक हो गई और थाने, पुलिस के वाहनों पर पथराव शुरू कर दिया थी। भीड़ को तितर-बितर करने और स्थिति पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज और आँसू गैस के गोले छोड़ने पड़े थे।

घटना के बाद फरार होकर पठान ने एक वीडियो मैसेज जारी किया था। इस में उसने कहा था, “सोशल मीडिया में मेरे हवाले से माहौल बनाया जा रहा है, जैसे कि मैं ही उसका मास्टरमाइंड हूँ। यह सरासर गलत है। ऐसा न कोई इरादा था, न कोई खयाल था। यह मेरे खिलाफ रची गई एक साजिश है। उस वीडियो में अचानक वहाँ लाइट बंद हो जाती है। फिर कुछ नकाबपोश आते हैं और पथराव करते हैं। मैं इसका जवाब दूँगा और गुनहगार पाया जाता हूँ तो इन लोगों को हक है कि मुझे सजा दें।”

लोकल मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कट्टरपंथी भीड़ एक व्हाट्सएप स्टेटस रखने वाले व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की माँग को लेकर थाने गए थे। इसी भीड़ ने फिर थाने पर हमला किया, पुलिस वालों पर पथराव कर कई को जख्मी किया। यही नहीं हिंसक भीड़ ने वाहनों में भी जमकर तोड़फोड़ की।

स्थानीय मीडिया के मुताबिक, एक युवक ने मस्जिद की तस्वीर को एडिट कर अपना व्हाट्सएप स्टेटस बनाया था। एडिट पोस्टर में उसने लिखा था, ”भगवान श्रीराम एक महान हिंदू सम्राट थे।” यह पोस्टर वायरल होते ही कट्टरपंथी मुस्लिम बेकाबू हो गए। इसके बाद उन्होंने उस युवक पर कार्रवाई की माँग करते हुए थाने और अस्पताल पर पथराव करना शुरू कर दिया।

भड़काऊ पोस्टर लगाने के आरोप में पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। पथराव के कारण कॉन्स्टेबल गुरुपप्पा स्वादी और पूर्व यातायात निरीक्षक कददेवरमथ सहित चार पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। हुबली-धारवाड़ पुलिस कमिश्नर लाभूराम ने मुस्लिम नेताओं के साथ बातचीत कर स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास किया। वहीं, ओल्ड हुबली थाने में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

मौलाना पठान ने ओल्ड हुबली पुलिस स्टेशन के बाहर मुस्लिमों को उकसाया था। इसके बाद इस्लामी कट्टरपंथियों की भीड़ ने हुबली पुलिस स्टेशन के पास स्थित एक मंदिर और अस्पताल पर पथराव किया था। वायरल तस्वीरों में मौलाना नीले रंग के कपड़े में एक ऊँची जगह पर खड़ा होकर लोगों को भड़काता नजर आ रहा है। इस वीडियो में वसीम के बगल में स्थानीय कॉन्ग्रेस नेता अल्ताफ हल्लूर को भी उसे भड़काऊ भाषण देने के लिए प्रोत्साहित करते देखा जा सकता है। कहा जा रहा है कि मौलाना वसीम ने पहले हुबली की एक दरगाह पर भड़काऊ भाषण दिया, फिर पुलिस स्टेशन के बाहर।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

महाभारत, चाणक्य, मराठा, संत तिरुवल्लुवर… सबसे सीखेगी भारतीय सेना, प्राचीन ज्ञान से समृद्ध होगा भारत का रक्षा क्षेत्र: जानिए क्या है ‘प्रोजेक्ट उद्भव’

न सिर्फ वेदों-पुराणों, बल्कि कामंदकीय नीतिसार और तमिल संत तिरुवल्लुवर के तिरुक्कुरल का भी अध्ययन किया जाएगा। भारतीय जवान सीखेंगे रणनीतियाँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -