Sunday, May 29, 2022
Homeदेश-समाजजैश आतंकी सज्जाद अहमद डार के जनाजे में शामिल हुई भारी भीड़: सोशल डिस्टेंसिंग...

जैश आतंकी सज्जाद अहमद डार के जनाजे में शामिल हुई भारी भीड़: सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियाँ, बढ़ा कोरोना संक्रमण का खतरा

जम्मू कश्मीर पुलिस के कश्मीर रेंज के आईजीपी विजय कुमार ने बताया कि सज्जाद को संगठन में स्थानीय युवाओं की भर्ती का काम सौंपा गया था। वह लगातार इलाके के युवाओं को संगठन में भर्ती करने के काम में लगा हुआ था। उस पर कई अन्य मामले भी दर्ज थे।

जम्मू-कश्मीर में कल बुधवार (अप्रैल 8, 2020) को सुरक्षाबलों द्वारा मार गिराए गए जैश ए मुहम्मद के एक आंतकी सज्जाद अहमद डार के जनाजे में 400 से ज़्यादा स्थानीय लोग शामिल हुए। सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते हुए जनाजे में शामिल लोगों ने खुद के साथ अपने परिवार के जीवन को भी संकट में डाल दिया है। इसके बाद पुलिस ने लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में जनाजे में शामिल होने वाले लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

एक तरफ कोरोना महामारी के बीच लोग देश में लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं, लेकिन दूसरी तरफ जम्मू-कश्मीर में इसकी अनदेखी कर सैकड़ों लोगों ने एक आतंकी के जनाजे में हिस्सा लिया। सुरक्षाबलों द्वारा जैश आतंकी सज्जाद अहमद डार को बुधवार को मार गिराने के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया इस हिदायत के साथ कि जनाजे में ज्यादा लोग एकत्र न हों, लेकिन इसके बाद भी जैसे ही आतंकी के शव को परिजनों को सौंप दिया गया। नियमों और कोरोना से खतरे को ताक पर रखकर एक के बाद एक भारी संख्या में स्थानीय लोगों की भीड़ उसके जनाजे में जुटने लगी।

इसकी जानकारी जैसे ही पुलिस-प्रशासन को हुई उन्होंने जनाजे में शामिल होने वाले लोगों के खिलाफ में आईपीसी की धारा 188 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। जम्मू कश्मीर पुलिस के कश्मीर रेंज के आईजीपी विजय कुमार ने बताया कि सज्जाद को संगठन में स्थानीय युवाओं की भर्ती का काम सौंपा गया था। वह लगातार इलाके के युवाओं को संगठन में भर्ती करने के काम में लगा हुआ था। उस पर कई अन्य मामले भी दर्ज थे।

आपको बता दें कि कल बुधवार को सुरक्षाबलों को सूचना मिली थी कि बारामुला जिले के सोपोर इलाके में जैश के तीन से चार आतंकी छिपे हुए हैं। इस पर सेना की 22 राष्ट्रीय राइफल्स, 179 बटालियन सीआरपीएफ और एसओजी के जवानों ने सोपोर, आरमपुरा के गुलबड़ इलाके की घेराबंदी कर संयुक्त तलाशी अभियान चलाया था। करीब 14 घंटे तक इलाके में घेराबंदी और तलाशी अभियान के बाद आतंकियों के साथ शुरू हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने स्थानीय आतंकी सज्जाद डार को मार गिराया था।

गौरतलब है कि यह कोई पहल मौका नहीं कि जब किसी आतंकी के जनाजे में बड़ी संख्या में स्थानीय लोग जुटे हों। यहाँ पहले से ही यह सिलसिला जारी है, जिसमें लोग आतंकी को हीरो की तरह पेश करते हुए भारत विरोधी नारी लगाते हैं। इसे लेकर सुरक्षाबलों ने भी कई तरह की गाइडलाइन जारी की हैं। वहीं जम्मू-कश्मीर में बुधवार को कोरोना के 19 नए मामले सामने आए। अब तक प्रदेश में कुल 144 कोरोना मरीज पाए गए हैं, जिनमें 134 एक्टिव केस हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत के मंदिरों की महारानी: केदार से लेकर काशी तक बनवाए मंदिर-भोजनालय-धर्मशाला, मुगलों के किए नुकसान को पाटने वाली अहिल्याबाई होल्कर

बद्रीनाथ में भक्तों के लिए उन्होंने कई भवनों के निर्माण करवाए। 600 वर्षों तक अहिल्याबाई होल्कर का छत्र भगवान जगन्नाथ की शोभा बढ़ाता रहा।

‘8 साल में कोई ऐसा कार्य नहीं किया, जिससे देश का सिर झुके’: गुजरात में दुनिया का पहला ‘नैनो यूरिया प्लांट’, मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल...

गुजरात में नरेंद्र मोदी ने कहा कि 8 सालों के पीएम कार्यकाल में उन्होंने गलती से भी ऐसा कोई कार्य नहीं किया, जिससे देश को नीचा देखना पड़े।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,645FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe