Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजMP में 16 साल की दलित बच्ची का रेप, राजनैतिक हत्याओं के बाद अराजकता...

MP में 16 साल की दलित बच्ची का रेप, राजनैतिक हत्याओं के बाद अराजकता का माहौल

आरोप है कि दो शिक्षकों (लखन कुशवाहा और श्याम प्रजापति) ने अंजुम ख़ान को स्कूल का एक कमरा उपलब्ध करवाया और दोनों को कमरे में बंद कर बाहर से ताला लगा दिया।

मध्यप्रदेश में शासन-प्रशासन फेल होता नज़र आ रहा है और राज्य में दुष्कर्म और हत्या की वारदात बढ़ती जा रही है। इस बार शिक्षा के मंदिर में एक अंजुम ख़ान नमक युवक ने हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए एक दलित नाबालिग छात्रा के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया।

दरअसल, राजगढ़ जिले के छापीहेड़ा थाना क्षेत्र की रहने वाली 16 साल की छात्रा अपने भाई की साइकिल लेने के लिए घर से निकली थी। तभी घात लगाए रास्ते में बैठा आरोपित अंजुम उसे बहला-फुसलाकर नज़दीक के ‘वेलफेयर कॉन्वेंट स्कूल’ में ले गया, और वहाँ नाबालिग के साथ रेप किया।

युवक कर रहा था रेप, टीचर दे रहे थे पहरा !

आरोपी के इस कुकर्म में स्कूल के दो शिक्षक लखन कुशवाहा और श्याम प्रजापति ने भी उसका बाखू़बी साथ दिया। आरोप है कि दोनों ने अंजुम ख़ान को स्कूल का एक कमरा उपलब्ध करवाया और दोनों को कमरे में बंद कर बाहर से ताला लगा दिया। जिसके बाद अंजुम ख़ान ने छात्रा से दुष्कर्म किया।  

पुलिस के मुताबिक छात्रा के शोर मचाने पर पहुँचे आस-पास के लोगों ने छात्रा को बचाया और आरोपित की जमकर पिटाई की। जिसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। सूचना पर पहुँची पुलिस ने तीनों को गिरफ़्तार कर मामले की जाँच कर रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -