Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाज'मेरे लैट्रिन वाले रस्ते में वो अपनी पेशाब वाली डाल देता है, दर्द होता...

‘मेरे लैट्रिन वाले रस्ते में वो अपनी पेशाब वाली डाल देता है, दर्द होता है’: मदरसे में 7 साल के बच्चे के साथ कुकर्म करता था 27 साल का सीनियर मोहम्मद साद, पीड़ित परिवार को ही धमकी

मोहम्मद साद की उम्र 27 साल बताई जा रही है। पीड़ित के अब्बा मोहम्मद साद से पूछताछ ही कर रहे थे कि अचानक उसके घर के तमाम लोग आ धमके। मदरसे में भीड़ जमा हो गई।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में एक मदरसे में पढ़ने वाले नाबालिग छात्र के साथ अप्राकृतिक दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है। पीड़ित की उम्र महज 7 वर्ष है। कुकर्म का आरोप इसी मदरसे में पढ़ने वाले पीड़ित के सीनियर छात्र मोहम्मद साद पर लगा है। शिकायत के बाद आरोपित के परिजनों ने पीड़ित को ही धमकाना शुरू कर दिया था। पुलिस ने मोहम्मद साद को गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार (29 अप्रैल, 2024) को पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। मामले की जाँच और अन्य कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

यह मामला मुजफ्फरनगर जिले के थाना क्षेत्र कोतवाली नगर का है। यहाँ रविवार (28 अप्रैल, 2024) को 7 साल के बच्चे के अब्बा ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत में उन्होंने बताया कि उनका बेटा मदरसा इस्लामिया में प्रथम वर्ष का छात्र है। 1-2 दिनों से बच्चा मदरसे में जाने से मना कर रहा था। उसे जब भी मदरसे में जाने के लिए कहा जाता था तो वो रोने लगता था। पीड़ित के अब्बा और अम्मी ने एक दिन अपने बच्चे से मदरसे न जाने की वजह पूछी। इस सवाल पर बच्चा रोने लगा।

जब पीड़ित चुप हुआ तो उसने पूरी वजह बताई। शिकायत के मुताबिक, बच्चे ने कहा, “मदरसे का ही एक लड़का मुझे जबरन टॉयलेट में बुलाता है और मेरे पीछे से लैट्रीन वाले रास्ते में अपनी पेशाब वाली __ देता है। मुझे लैट्रीन वाली जगह दर्द होता है। मैं मदरसे में नहीं जाऊँगा।” ये सुन कर बच्चे के अब्बा रविवार को उसे ले कर मदरसे में गए। पीड़ित अपने अब्बा को मदरसे के दूसरे कमरे में ले गया। यहाँ उसने कई लड़कों के बीच बैठे मोहम्मद साद की तरफ इशारा किया। पीड़ित ने कहा, “यही मेरे साथ गलत काम करता है।”

मोहम्मद साद की उम्र 27 साल बताई जा रही है। पीड़ित के अब्बा मोहम्मद साद से पूछताछ ही कर रहे थे कि अचानक उसके घर के तमाम लोग आ धमके। मदरसे में भीड़ जमा हो गई। आरोप है कि मोहम्मद साद के घर वाले पीड़ित के अब्बा को ही कार्रवाई करने की धमकी देने लगे। मामले की सूचना मिलते ही पुलिस पहुँची। पुलिस के पहुँचने से पहले और अपने ऊपर FIR दर्ज होने की खबर लगते ही मोहम्मद साद फरार हो गया। पीड़ित को बेहद डरा-सहमा बताते हुए उसके अब्बा ने आरोपित पर कड़ी कार्रवाई की माँग की है।

पुलिस प्रेसनोट

पुलिस ने इस शिकायत पर मोहम्मद साद को नामजद करते हुए FIR दर्ज कर ली। यह FIR IPC की धारा 377 और 506 के साथ पॉक्सो एक्ट के सेक्शन 5(ड)/6 के तहत दर्ज हुई है। FIR दर्ज करने के बाद पुलिस ने मोहम्मद साद की तलाश शुरू की। सोमवार (29 अप्रैल, 2024) को आरोपित के मुजफ्फरनगर में शामली बाईपास पर मौजूद होने की सूचना मिली। पुलिस ने दबिश दे कर साद को गिरफ्तार कर लिया। मामले की जाँच और अन्य जरूरी कार्रवाई की जा रही है। ऑपइंडिया के पास शिकायत कॉपी मौजूद है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -