Tuesday, August 3, 2021
Homeदेश-समाजपादरी गिरफ़्तार, इलाज के नाम पर 21 साल की युवती को 'सम्मोहित' कर 1...

पादरी गिरफ़्तार, इलाज के नाम पर 21 साल की युवती को ‘सम्मोहित’ कर 1 साल तक करता रहा बलात्कार

पीड़िता ने अगस्त 2018 से पादरी के प्रेयर सेंटर में आना-जाना शुरू किया। तब उसके माता-पिता भी साथ होते थे। पादरी युवती के माता-पिता को घर भेज दिया करता था और युवती को इलाज के बहाने अपने पास रख लेता था।

मुंबई के वसाई क्षेत्र में एक पादरी को बलात्कार के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है। उसने 21 साल की एक युवती के इलाज के नाम पर पहले तो उसे ‘सम्मोहित’ किया और फिर उसका बलात्कार किया। युवती डिप्रेशन की समस्या से जूझ रही थी। ये मामला तब प्रकाश में आया, जब पीड़िता के एक रिश्तेदार ने आरोपित पादरी को युवती के साथ एक रिसोर्ट से निकलते हुए देखा। आरोपित पादरी को गिरफ़्तार कर लिया गया है।

उक्त पादरी वसई में एक प्रार्थना सेंटर चलाता है और तरह-तरह के रोगों को ठीक करने के दावे करता रहा है। वह इसके एवज में रुपए लिया करता था। लोग उसके प्रेयर सेंटर में आकर प्रार्थना करते थे और फिर वहाँ उनका ‘उपचार’ किया जाता था। पीड़िता ने अगस्त 2018 से इस प्रेयर सेंटर में आना-जाना शुरू किया। तब उसके माता-पिता भी साथ में होते थे। पादरी युवती के माता-पिता को घर भेज दिया करता था और युवती को इलाज के बहाने अपने पास रख लेता था।

इसके बाद वह तरह-तरह के क्रियाकलापों द्वारा युवती को ‘सम्मोहित’ करता था और फिर उसका रेप करता था। कई मौक़ों पर वह युवती को लेकर अलग-अलग रिसॉर्ट्स में जाता था और वहाँ उसका यौन शोषण करता था। युवती जब घर लौटती थी तो अपने अभिभावकों को पादरी की हरकतों के बारे में नहीं बताती थी। जब युवती के एक रिश्तेदार ने दोनों को एक रिसोर्ट में साथ देखा, तब उसने इसकी सूचना पीड़िता के माता-पिता को दी। माता-पिता यह सब जान कर हैरान रह गए।

जब माता-पिता ने युवती से इस बारे में पूछताछ की, तब उसने पादरी की हरकतों के बारे में बताया। इसके बाद उन्होंने थाने में उक्त पादरी के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कराया। वसई कोर्ट ने आरोपित पादरी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आक्रोशित लोगों ने इस घटना की सूचना मिलते ही पादरी के प्रेयर सेंटर में तोड़फोड़ मचाया। फ़िलहाल 45 वर्षीय आरोपित पादरी के ख़िलाफ़ पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टोक्यो ओलंपिक सेमीफाइनल: बेल्जियम से हारी भारतीय हॉकी टीम, 41 साल बाद सोने का ख्वाब टूटा

भारतीय हॉकी टीम का मुकाबला टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में बेल्जियम के साथ हुआ। बेल्जियम ने भारत को 5-2 से हराया और फाइनल में पहुँच गई।

सागर धनखड़ मर्डर केस में सुशील कुमार मुख्य आरोपित: दिल्ली पुलिस ने 20 लोगों के खिलाफ फाइल की 170 पेज की चार्जशीट

दिल्ली पुलिस ने छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड में चार्जशीट दाखिल की है। सुशील कुमार को मुख्य आरोपित बनाया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,711FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe