Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजहिमाचल प्रदेश: लिफ्ट नहीं दी तो निहंग सिख ने कृपाण से काट दी उँगलियाँ,...

हिमाचल प्रदेश: लिफ्ट नहीं दी तो निहंग सिख ने कृपाण से काट दी उँगलियाँ, दूसरे के सिर पर वार

"मैं कुछ समझ पाता, निहंग ने कृपाण से वार कर दिया। जान बचाने के प्रयास में तलवार के वार से मेरे बाएँ हाथ की चार उँगलियाँ कट गईं।"

हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले के मांड्याली गाँव में एक निहंग सिख ने छोटी सी बात पर दो स्थानीय लोगों पर जानलेवा हमला बोल दिया। घटना में एक पीड़ित की 4 उँगलियाँ कट गईं तो दूसरे के सिर पर गहरे जख्म आए। 

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, तेज सिंह नामक निहंग सिख ने बुधवार (मार्च 31, 2021) की शाम बलवीर नाम के एक बाइक सवार से श्रीआनंदपुर साहिब जाने के लिए लिफ्ट माँगी। लेकिन बाइक सवार के गाँव से जगह दूर होने के कारण उसने लिफ्ट देने से मना कर दिया। इतनी सी बात पर नाराज होकर तेज सिंह ने अपनी कृपाण निकाली और 40 साल के बलवीर की 4 उँगलियाँ काट दीं। धनीराम ने जब बीच-बचाव किया तो उसके सिर पर भी बुरी तरह हमला किया।

हमले के बाद तेज सिंह जंगलों में भाग गया। मगर, मौके पर मौजूद स्थानीयों ने उसका पीछा किया। उसे पकड़कर मारा, फिर पुलिस के हवाले कर दिया। बिलासपुर पुलिस ने तेज सिंह के ख़िलाफ़ धारा 307 में मुकदमा दर्ज कर केस की जाँच शुरू कर दी है।

वहीं, बलवीर और धनीराम को नैना देवी सिविल अस्पातल में भर्ती करवाकर उन्हें उपचार दिलवाया गया। फिर फर्स्ट एड के बाद उन्हें आनंदपुर साहिब रेफर कर दिया गया। इसके बाद गुरुवार को उन्हें वहाँ से घर भेज दिया गया। बलवीर की कटी हुई उँगलियाँ स्टिच लगाकर जोड़ दी गई, जबकि धनीराम के सिर पर भी टाँके लगे हैं।

भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक घटना वाले दिन की सारी बात बताते हुए बलवीर ने कहा,

“बुधवार शाम की बात है। बाइक में पेट्रोल डलवाने के बाद मैं घर के लिए रवाना हुआ। इसी दौरान एक निहंग ने मुझे रोका। रुकते ही वह बिना पूछे बाइक पर बैठ गया और श्री आनंदपुर साहिब जाने को कहा। मैंने कहा कि मुझे मांड्याली तक ही जाना है। यह सुनकर निहंग गुस्से में आ गया और बाइक से उतरकर डंडे से हमला किया। मैं कुछ समझ पाता, निहंग ने कृपाण से वार कर दिया। जान बचाने के प्रयास में तलवार के वार से मेरे बाएँ हाथ की चार उँगलियाँ कट गईं। साथ लगते एक घर में धार्मिक कार्यक्रम के चलते कुछ लोग पास ही मौजूद थे। लोगों के वहाँ पहुँचने से पहले ही निहंग जंगल की ओर भाग गया।”

बलवीर पर हमले के बाद जंगल की तरफ भाग रहे निहंग सिख ने धनीराम पर हमला किया। धनीराम उसे पकड़ने की कोशिश कर रहे थे। निहंग सिख ने धनीराम के सिर पर कृपाण से मारा। दोनों को चोट पहुँचाने के बाद वह जंगल में चला गया। बाद में स्थानीयों ने पकड़कर उसे पुलिस के हवाले किया।

बता दें कि हाल ही में पंजाब में निहंग सिखों के हमले में कई पुलिसकर्मी घायल हुए थे। वहाँ निहंग सिखों ने अचानक से हमला कर थाना प्रभारी की कलाई काट दी थी और उनकी दूसरी कलाई पर भी गंभीर जख्म आए थे। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साँवरें के रंग में रंगी हरियाणा की तेजतर्रार महिला IPS भारती अरोड़ा, श्रीकृष्‍ण भक्ति के लिए माँगी 10 साल पहले स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने इस खबर की पुष्टि की है। उन्होंने बताया है कि अंबाला रेंज की आइजी भारती अरोड़ा ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है।

‘मोदी सिर्फ हिंदुओं की सुनते हैं, पाकिस्तान से लड़ते हैं’: दिल्ली HC में हर्ष मंदर के बाल गृह को लेकर NCPCR ने किए चौंकाने...

एनसीपीसीआर ने यह भी पाया कि बड़े लड़कों को भी विरोध स्थलों पर भेजा गया था। बच्चों को विरोध के लिए भेजना किशोर न्याय अधिनियम, 2015 की धारा 83(2) का उल्लंघन है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,660FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe