Tuesday, April 16, 2024
Homeदेश-समाजहरियाणा पुलिस की 10 टीम, 30 जगहों पर दबिश: पकड़ा गया नूँह में DSP को...

हरियाणा पुलिस की 10 टीम, 30 जगहों पर दबिश: पकड़ा गया नूँह में DSP को डंपर से कुचलने वाला शब्बीर, बार-बार बदल रहा था ठिकाने

शब्बीर की गिरफ़्तारी भरतपुर जिले के गाँव गंगोरा से हुई। उसका साथी इकरार वारदात के कुछ घंटों बाद ही पकड़ा गया था।

हरियाणा में पत्थर भरे डंपर से कुचल कर DSP सुरेंद्र सिंह बिश्नोई की हत्या करने के मामले का मुख्य आरोपित शब्बीर पकड़ा गया है। DSP की हत्या 19 जुलाई 2022 को मेवात के नूँह में की गई थी, जो इस्लामी कट्टरवाद और रोहिंग्या बस्तियों के लिए कुख्यात रहा है।

डंपर ड्राइवर शब्बीर उर्फ़ पित्तर को पुलिस ने 20 जुलाई 2022 (बुधवार) को राजस्थान के भरतपुर से पकड़ा। मुठभेड़ में उसको गोली लगी है। पुलिस ने शब्बीर की तलाश में 30 से अधिक स्थानों पर छापेमारी की थी। शब्बीर के साथी इकरार को घटना के कुछ घंटों बाद ही पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शब्बीर की गिरफ़्तारी भरतपुर जिले के गाँव गंगोरा से हुई। उसको पकड़ने के लिए पुलिस की 10 टीमें लगातार छापेमारी कर रही थी।

नूँह के SP वरुण सिंगला के मुताबिक, “शब्बीर का कस्टडी रिमांड हासिल करने के बाद पुलिस उससे उसके सहयोगियों के बारे में सवाल-जवाब करेगी। उसके फरार होने और छिपने में साथ देने वालों पर भी कानून का शिकंजा कसा जाएगा। फरारी के दौरान शब्बीर लगातार अपनी लोकेशन बदल रहा था, जिसके चलते उसकी गिरफ्तारी में समय लगी।”

मौत की होगी न्यायिक जाँच

DSP तावडू सुरेंद्र सिंह की हत्या के बाद हरियाणा के गृहमंत्री अनिज विज ने मेवात क्षेत्र में सक्रिय खनन माफियाओं की न्यायिक जाँच करवाने की घोषणा की है। उन्होंने कहा, “हरियाणा सरकार ने DSP की मौत की न्यायिक जाँच करवाने का निर्णय लिया है। इस जाँच में क्षेत्र में होने वाले अवैध खनन की गहनता से जाँच की जाएगी।”

मेवात में पहले भी हुए हैं पुलिस पर हमले

DSP सुरेंद्र सिंह की हत्या से पहले भी मेवात क्षेत्र में पुलिस पर हमले हो चुके हैं। जून 2021 में जुनैद नाम के आरोपित की कस्टडी में मौत के बाद मेवात में भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया था। इस हमले में पुलिस वाहन में आग लगा दी गई थी। एक अन्य मामले में जनवरी 2022 को ATM लुटरे तस्लीम को पकड़ने गई गुरुग्राम पुलिस पर मेवात में हमला हुआ था, जिसमें महिला पुलिसकर्मी की वर्दी फाड़ दी गई थी। इसी साल फरवरी 2022 में गौ तस्करों को पकड़ने गई मध्य प्रदेश पुलिस टीम पर पलवल के अंदरौला गाँव में हमला हुआ था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अरविंद केजरीवाल नं 1, दिल्ली CM की बीवी सुनीता नं 2… AAP की स्टार प्रचारकों की लिस्ट जिसने देखी वही हैरान, पूछ रहे- आत्मा...

आम आदमी पार्टी के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में तिहाड़ जेल में ही बंद मनीष सिसोदिया का भी नाम है, तो हर जगह से जमानत खारिज करवाकर बैठे सत्येंद्र जैन का भी।

‘कन्हैया लाल तेली का क्या?’: ‘मुस्लिमों की मॉब लिंचिंग’ पर याचिका लेकर पहुँचा वकील निजाम पाशा तो सुप्रीम कोर्ट ने दागा सवाल, कहा –...

इस याचिका में अल्पसंख्यकों के खिलाफ मॉब लिंचिंग के अपराध बढ़ने का दावा करते हुए गोरक्षकों पर निशाना साधा गया था और तथाकथित पीड़ितों के लिए त्वरित वित्तीय मदद की व्यवस्था की माँग की गई थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe