Tuesday, May 17, 2022
Homeदेश-समाजमहिलाओं को दी जाती है रेप की धमकी, भाई का हुआ अपहरण: पाकिस्तान के...

महिलाओं को दी जाती है रेप की धमकी, भाई का हुआ अपहरण: पाकिस्तान के अत्याचारों से तंग आया एक और हिंदू परिवार, नेपाल के रास्ते भारत में ली एंट्री

नेपाल के जरिए भारत में आने वाले पाकिस्तानी हिन्दू परिवार के मुखिया राजेश कुमार ने बताया, "हमें पाकिस्तान में लगातार मौत की धमकियाँ दी जाती हैं। हमारी महिलाओं के साथ रेप करने की भी धमकी मिलती है।"

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर होने वाले अत्याचारों से परेशान हो कर एक और दलित समुदाय के हिन्दू परिवार ने भारत में शरण ली है। परिवार में महिलाओं और बच्चों सहित 10 लोग बताए जा रहे हैं। पाकिस्तान ने इस परिवार को भारत का वीजा नहीं दिया था। इसी के चलते यह परिवार नेपाल के रास्ते भारत आया है। इस परिवार ने राजस्थान के बाड़मेर में शरण ली है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक परिवार के मुखिया का नाम राजेश कुमार है। ये सभी मेघवाल जाति के हैं। ये मूल रूप से पाकिस्तान के सिंध प्रान्त के मीरपुर ख़ास इलाके के रहने वाले हैं। भारत में आने के लिए यह परिवार 9 दिसंबर को ही दुबई चला गया था। दुबई से इन सभी ने भारत का वीजा लगाया जिसे कैंसिल कर दिया गया था। आखिरकार ये सभी नेपाल गए। नेपाल में एक स्थानीय व्यक्ति ने इनको भारत की सीमा में दाखिल करवाने में मदद की।

मिली जानकारी के मुताबिक नेपाल से यह परिवार पहले राजस्थान के जोधपुर पहुँचा था। वहाँ ये सभी अपने रिश्तेदार के गाँव सालोड़ी में रुके थे। इसके बाद ये सभी बाड़मेर के धोरीमना स्थिति रोहिल्ला गाँव आ गए। स्थानीय प्रशसन ने इनके आगे की जानकारी गृह मंत्रालय को दे दी है। वहाँ से किसी निर्देश आने की प्रतीक्षा भी की जा रही है। सुरक्षा एजेंसियों ने इन सभी की तलाशी भी ली जिसमें कोई संदिग्ध वस्तु नहीं मिली।

परिवार के मुखिया राजेश कुमार ने बताया, “हमें पाकिस्तान में लगातार मौत की धमकियाँ दी जाती हैं। हमारी महिलाओं के साथ रेप करने की भी धमकी मिलती है। मेरे छोटे भाई को पाकिस्तान की सरकारी एजेंसियों ने मनी लॉन्ड्रिंग के केस में गिरफ्तार किया था। जैसे तैसे वो सितंबर 2021 में रिहा हुआ तो उसके ही साथियों ने उसका अपहरण कर लिया। इसके बदले हमसे फिरौती माँगी जाती रही।”

राजेश मेघवाल ने आगे बताया, “हमारे पास देने के लिए पैसे ही नहीं थे। आखिरकार अपहरणकर्ताओं ने 47 दिनों बाद मेरे भाई को छोड़ा। अब हम पाकिस्तान में नहीं रह सकते थे। अगर हम वहाँ रहते तो न जाने हमारे साथ क्या हो जाता। मेरा भाई हरीश अभी नहीं आ पाया है क्योंकि उसके ऊपर वहाँ केस दर्ज है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभिनेत्री के घर पहुँची महाराष्ट्र पुलिस, लैपटॉप-फोन सहित कई उपकरण जब्त किए: पवार पर फेसबुक पोस्ट, एपिलेप्सी से रही हैं पीड़ित

अभिनेत्री ने फेसबुक पर 'ब्राह्मणों से नफरत' का आरोप लगाते हुए 'नर्क तुम्हारा इंतजार कर रहा है' - ऐसा लिखा था। हो चुकी हैं गिरफ्तार। अब घर की पुलिस ने ली तलाशी।

जिसे पढ़ाया महिला सशक्तिकरण की मिसाल, उस रजिया सुल्ताना ने काशी में विश्वेश्वर मंदिर तोड़ बना दी मस्जिद: लोदी, तुगलक, खिलजी – सबने मचाई...

तुगलक ने आसपास के छोटे-बड़े मंदिरों को भी ध्वस्त कर दिया और रजिया मस्जिद का और विस्तार किया। काशी में सिकंदर लोदी और खिलजी ने भी तबाही मचाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,313FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe