Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजRSS में घुसपैठ चाहता था PFI, 50 कट्टरपंथियों को दे रहा था ट्रेनिंग: लखनऊ...

RSS में घुसपैठ चाहता था PFI, 50 कट्टरपंथियों को दे रहा था ट्रेनिंग: लखनऊ से फैजान, सूफियान, रेहान की गिरफ्तारी के बाद खुलासा

संघ में घुसपैठ के लिए करवाई जा रही ट्रेनिंग में कट्टरपंथियों को हिन्दू देवी-देवताओं के बारे में जानकारी दी जा रही थी। इसी दस्ते को संघ के क्रियाकलापों और RSS से जुड़े लोगों के तौर तरीके भी सिखाए जा रहे थे।

पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI) के ठिकानों पर सुरक्षा एजेंसियों द्वारा छापेमारी के बाद हिरासत में लिए गए तमाम संदिग्धों से नए-नए खुलासे हो रहे हैं। इन्हीं में से एक खुलासा यह भी है कि PFI राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) में भी अपनी घुसपैठ करना चाहता था। इस साजिश को अंजाम देने के लिए PFI लगभग 50 लोगों को ट्रेनिंग भी दे रहा था। इस साजिश का मकसद संघ की हर गतिविधि पर नजर रखना और बड़े नेताओं की जानकारियाँ जुटाना था।

दैनिक जागरण के मुताबिक संघ में घुसपैठ के लिए करवाई जा रही ट्रेनिंग में हिन्दू देवी-देवताओं के बारे में जानकारी दी जा रही थी। इसी दस्ते को संघ के क्रियाकलापों और RSS से जुड़े लोगों के तौर तरीके भी सिखाए जा रहे थे।

मंगलवार (27 सितम्बर 2022 ) को स्पेशल टॉस्क फ़ोर्स (STF) ने छापेमारी के बाद लखनऊ के बख्शी का तालाब के पास मौजूद अचरामऊ से मोहम्मद फैज़ान, मोहम्मद सूफियान और रेहान को गिरफ्तार किया था। संघ के खिलाफ साजिश के सबूत इन आरोपितों के वाट्सएप और लैपटाप की जाँच के बाद मिले हैं।

आरोपितों के पास से पुलिस ने संघ से जुडी कुछ किताबें भी बरामद की हैं। इन सभी का मकसद संघ की शाखाओं में जा कर वहाँ होने वाली बातों को इस्लामी मुल्कों और अपने आकाओं को भेजना माना जा रहा है।

बताया ये भी जा रहा है कि ये सभी आरोपित अपने इलाके अचरामऊ और आस-पास PFI से ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ना चाहते थे। इन सभी का सरगना प्रधान अरशद बताया जा रहा है जो फिलहाल फरार चल रहा है। पुलिस की टीमें अरशद की तलाश में लगातार छापेमारी कर रहीं हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले लखनऊ से गिरफ्तार इन्हीं आरोपितों ने पुलिस के आगे कबूला था कि उनकी साजिश देश भर में बम ब्लास्ट की थी। इसके लिए दीपवाली का दिन चुना गया था जिसमें मंदिर और हिन्दू बहुल इलाके निशाने पर थे। इसी के साथ आरोपितों के निशाने पर कई हिन्दूवादी नेता भी बताए गए थे। इस साजिश को अंजाम देने के लिए आरोपितों को बारूद बनाने और उसे ब्लास्ट करने की ट्रेनिंग भी दी जा रही थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -