Friday, January 27, 2023
Homeदेश-समाजगवर्नमेंट कॉलेज का प्रोफेसर कामरान आलम चला रहा था सेक्स रैकेट, नशीली दवा देकर...

गवर्नमेंट कॉलेज का प्रोफेसर कामरान आलम चला रहा था सेक्स रैकेट, नशीली दवा देकर छात्राओं का करता यौन शोषण

कामरान आलम के विरुद्ध ये भी आरोप है कि वो लड़कियों को निजी आवास में बुलाकर अश्लील हरकत तो करता ही था लेकिन जब कोई उसका विरोध करे तो उसने मारने की धमकी भी दी जाती थी।

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत शहर के जाने-माने राजकीय महिला महाविद्यालय का प्रोफेसर कामरान आलम खान छात्राओं को फँसाकर सेक्स रैकेट चला रहा था। रविवार को एक छात्रा ने शिकायत करके शिक्षक का भंडाफोड़ किया। 

अब पुलिस इस मामले को दर्ज करके अपनी जाँच कर रही है। वहीं प्रोफेसर एक दिन के अवकाश की एप्लीकेशन कॉलेज में छोड़कर फरार है। जानकारी के मुताबिक, प्रोफेसर कामरान अपने कमरे पर ले जाता था और उन्हें नशीली दवा खिलाकर उनसे अश्लील हरकतें करता था। उनके साथ अवैध संबंध बनाता था। इसके बाद वह छात्राओं को दूसरे के पास भी भेजता था।

अब प्रोफेसर के ख़िलाफ़ पीलीभीत कोतवाली क्षेत्र की रहने वाली एक लड़की ने पुलिस को बताया कि उसके कॉलेज में एक मैथ्य के प्रोफेसर हैं कामरान आलम, जो सेक्स रैकेट चलाते हैं। वह कॉलेज की छात्राओं को बरगलाकर नशीले पदार्थ का सेवन करवाते हैं फिर उन्हें अश्लील बुक, सेक्स टॉयज देकर अश्लीलता करते हैं।

कामरान के विरुद्ध ये भी आरोप है कि वो लड़कियों को निजी आवास में बुलाकर अश्लील हरकत तो करता ही था लेकिन जब कोई उसका विरोध करे तो उसने मारने की धमकी भी दी जाती थी।

अब बता दें कि कोतवाली पुलिस ने प्रोफेसर के विरुद्ध नामजद मामला दर्ज किया है। सीओ सिटी और कोतवाली पुलिस ने कॉलेज पहुँचकर जाँच पड़ताल भी की। सीओ सिटी ने कहा कि छात्रा की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है टीमों को लगाया गया है आरोपित अभी फरार है, गंभीरता के साथ मामले की जाँच कराई जा रही है, सेक्स रैकेट का मामला अभी नहीं आया है। 

जानकारी के मुताबिक, कामरान का स्थानांतरण महिला महाविद्यालय में साल 2016 में हुआ था। उसके ख़िलाफ़ 20 नवंबर को शिकायत की गई थी। ऐसे में कार्यवाहक डॉ दिनेश चंद्रा ने बताया कि मामले की जानकारी उन्हें नहीं दी गई है। पुलिस को इस बाबत बताया गया है। दोषी को सजा मिले इसे लेकर पुलिस को जाँच में पूरा सहयोग दिया जाएगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सुरक्षा में सेंधमारी का दावा कर राहुल गाँधी ने यात्रा रोकी, J&K पुलिस ने बताया- पूरी थी तैयारी, 1 किमी चलकर बिना बताए बंद...

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा है कि यात्रा रोकने से पहले पुलिस से बातचीत नहीं की गई। राहुल गाँधी की सुरक्षा में किसी प्रकार की चूक नहीं हुई।

कोरोना वायरस को और खतरनाक बना रही Pfizer, ताकि बेच सके ज्यादा से ज्यादा वैक्सीन: स्टिंग से खुलासा, संक्रमण को दुधारू गाय मान रही...

फाइजर के निदेशक जॉर्डन वॉकर ने कहा कि जो सरकारी कर्मचारी आज दवाओं की जाँच और समीक्षा कर रहे हैं, वे कल कंपनी ज्वॉइन कर लेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
242,689FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe