Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजठग ईसा खान ने पुलिस को कहा- 'नौकरी करने से ज्यादा ठगी में आता...

ठग ईसा खान ने पुलिस को कहा- ‘नौकरी करने से ज्यादा ठगी में आता है मजा, इसलिए करता हूँ’

ईसा ने बताया कि उसे नौकरी या कोई और काम करने की बजाए ठगी से कमाई करने में मजा आता है, इसलिए वो इसे करता है। ईसा खान पिछले साल भी गिरफ्तार हो चुका है।

कभी सुना है आपने कि कोई ठग पकड़े जाने पर पुलिस के सामने कहे कि उसे नौकरी करने से ज्यादा ठगी में मजा आता है। अगर नहीं, तो पलवल निवासी (28) ईसा खान की बात सुनिए, जिसने गिरफ्तारी के बाद पुलिस को अपने अपराधों का कारण उससे मिलने वाले मजे को बताया है।

नवभारत टाइम्स की खबर के अनुसार पलवल निवासी ईसा खान को ओखला इंडस्ट्रियल पुलिस ने 7 जुलाई को ओखला इलाके से गिरफ्तार किया। जहाँ जाँच में उसके पास से 30 हजार रुपए, ठगी के पैसों से खरीदे गए दो महंगे फोन और 20 एटीएम बरामद हुए। जब पुलिस ने उससे पूछताछ की तो उसने किसी प्रकार की सफाई देने की बजाए बोला कि उसे नौकरी या कोई और काम करने की बजाए ठगी से कमाई करने में मजा आता है, इसलिए वो इसे करता है। जानकारी के मुताबिक ईसा खान पिछले साल भी गिरफ्तार हो चुका है।

नवभारत टाइम्स में प्रकाशित खबर का स्क्रीनशॉट

खबर के मुताबिक पुलिस ने बताया कि पिछली 4 जुलाई को तेहखंड निवासी एक महिला ने ठगी की शिकायत दर्ज करवाई थी। महिला ने अपनी शिकायत में बताया था कि एटीएम से पैसे निकालते वक्त उसका एटीएम काम नहीं कर रहा था तो पीछे खड़े युवक ने उसे मदद ऑफर की, लेकिन फिर भी एटीएम से कैश नहीं निकला। इसलिए वो घर वापस आ गई। लेकिन घर पहुँचते ही उसके पास कार्ड से 30 हजार के ट्रांजैक्शन का मैसेज आया और थोड़ी देर बाद 42 हजार से अधिक की शॉपिंग का मैसेज आ गया।

महिला ने जब बैंक ग्राहक सेवा केंद्र से बात की तो मालूम चला कि पैसे उनके एटीएम कार्ड से ही निकाले गए हैं, जब महिला ने अपना एटीएम कार्ड चेक किया थो पता चला आरोपित युवक ने उसका कार्ड ही बदल दिया था।

ठगी के इस मामले की खबर मिलते ही ओखला पुलिस ने मामले की जाँच शुरू कर दी। सीसीटीवी फुटेज खँगाली गई और आरोपित की पहचान ईसा खान के रूप में हुई। 7 जुलाई को वह पकड़ा गया, जिसके बाद पता चला कि ठगी के लिए वो मदद के बहाने ट्रांजैक्शन के दौरान पिन नंबर देख लेता था, और फिर कार्ड चुराकर उसे इस्तेमाल करता था। बता दें ईसा खान ठगी करने के लिए पलवल से 80 किलोमीटर की दूरी तय करके दिल्ली आता था और काम पूरा करके दोबारा ईएमयू से वापस लौट जाता था। लेकिन इस बार ऐसा नहीं हो पाया और ईसा खान पकड़ा गया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान हारे भी न और टीम इंडिया गँवा दे 2 अंक: खुद को ‘देशभक्त’ साबित करने में लगे नेता, भूले यह विश्व कप है-द्विपक्षीय...

सृजिकल स्ट्राइक का सबूत माँगने वाले और मंच से 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद' का नारा लगवाने वाले भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच रद्द कराने की माँग कर 'देशभक्त' बन जाएँगे?

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,980FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe